राष्ट्रीय

शिवसेना MP ने की अभद्र टिप्पणी: कंगना को क्या-क्या चाटने से मिला पद्मश्री, ये दिल्ली के सभी MP-MLA जानते हैं

Janjwar Desk
18 Nov 2021 10:18 AM GMT
शिवसेना MP ने की अभद्र टिप्पणी: कंगना को क्या-क्या चाटने से मिला पद्मश्री, ये दिल्ली के सभी MP-MLA जानते हैं
x
एक्ट्रेस कंगना रनौत (kangana ranaut) के बयानों को लेकर विवाद गहराता जा रहा है। एक दिन पहले कंगना ने महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) को सत्ता का लालची बताया था।

मुंबई। एक्ट्रेस कंगना रनौत (kangana ranaut) के आजादी और महात्मा गांधी को लेकर विवादित बयानों से तल्ख टिप्पणियां सामने आने लगी हैं। शिवसेना (Shivsena) ने एक बार फिर कंगना को लेकर तीखी टिप्पणी की है। शिवसेना सांसद कृपाल तुमाने (Krupal tumane) ने कहा है कि महात्मा गांधी जी (Mahatma Gandhi) अगर सत्ता के लालची होते तो उस समय प्रधानमंत्री-राष्ट्रपति सब कुछ बन सकते थे। कंगना रनौत को क्या करके पद्मश्री (Padma Shri) मिला, किसके पांव चाटने से, क्या-क्या चाटने से ये पद मिला है, ये दिल्ली (Delhi) के सभी सांसद (MP), विधायक (MLA) बहुत अच्छे से जानते हैं। अब कृपाल तुमाने के बयान से भी विवाद और गहरा सकता है।

बता दें कि अपने बयानों की वजह से अक्सर चर्चा में रहने वालीं बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को लेकर विवादित टिप्पणी की थी। उन्होंने इंस्टाग्राम स्टोरी पर एक आर्टिकल शेयर किया। इसकी हेडलाइन में लिखा था कि या तो आप गांधी के फैन हो सकते हैं या फिर नेताजी के समर्थक...आप दोनों के समर्थक नहीं हो सकते। इसका फैसला खुद करें। उन्होंने आगे लिखा था- 'दूसरा गाल देने से भीख मिलती है, आजादी नहीं।' कंगना ने आगे लिखा था- स्वतंत्रता सेनानियों को उन लोगों ने अंग्रेजों के हवाले कर दिया, जिनमें लड़ने की हिम्मत नहीं थी, लेकिन वे सत्ता के भूखे थे। ये वही हैं जिन्होंने हमें सिखाया है कि अगर कोई एक थप्पड़ मारे तो एक और थप्पड़ के लिए दूसरा गाल दे दो और इस तरह आपको आजादी मिलेगी। इस तरह से किसी को आजादी नहीं मिलती। ऐसे भीख ही मिल सकती है। अपने नायकों को बुद्धिमानी से चुनें।'

'गांधीजी चाहते थे भगत सिंह को फांसी हो': कंगना

कंगना ने ये भी लिखा था कि महात्मा गांधी चाहते थे कि भगत सिंह को फांसी हो। उन्होंने कहा- 'गांधी ने कभी भी भगत सिंह या सुभाष चंद्र बोस का समर्थन नहीं किया...सबूत है कि गांधीजी चाहते थे कि भगत सिंह को फांसी हो...तो आपको यह चुनने की जरूरत है कि आप किसका समर्थन करते हैं।'

कंगना ने पहले आजादी को लेकर विवादित बयान दिया था

महात्मा गांधी पर विवादित टिप्पणी से पहले कंगना ने देश की आजादी को लेकर भी विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि 1947 में हमें आजादी नहीं भीख मिली थी। असली आजादी 2014 में मिली है। कंगना के इन्हीं बयानों के बाद से उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग हो रही है।

Next Story

विविध

Share it