उत्तर प्रदेश

मुरादाबाद की घटना पर कांग्रेस का ट्वीट 'शर्म करिए ​अखि​लेश यादव', सपा ने कहा कांग्रेस ही भाजपा है !

Janjwar Desk
12 March 2021 11:44 AM GMT
मुरादाबाद की घटना पर कांग्रेस का ट्वीट शर्म करिए ​अखि​लेश यादव, सपा ने कहा कांग्रेस ही भाजपा है !
x
यूपी कांग्रेस ने अपने एक दूसरे ट्वीट में लिखा, 'भाजपा मुकदमे लगवाती है और समाजवादी पार्टी उठवा कर फिकवाती है। एक वो भी राज था जब पत्रकारों को भरपूर सम्मान मिलता था और उनको कोई हाथ लगाने की सोच भी नहीं सकता था।'

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्ट के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान हुए बवाल के दौरान एक टीवी पत्रकार की पिटाई कर दी गई। सोशल मीडिया पर कई वीडियो तैर रहे हैं, जिनमें अधिकांश में यही बताया जा रहा है कि अखिलेश यादव ने अपनी पार्टी से समर्थकों से पत्रकार को पिटवाया। जबकि अन्य वीडियो फुटेज में साफ दिखता है कि टीवी पत्रकार ने सुरक्षा का घेरा तोड़ अखिलेश यादव के पास पहुंचा बल्कि उसने सुरक्षाकर्मियों से भी बदसलूकी की।

इस घटना को लेकर जिस भाषा में कांग्रेस और यूपी कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट किया है, उससे साफ है कि 2022 में सपा-कांग्रेस की एकता की उम्मीद बेईमानी है। कांग्रेस ने अपने ट्वीट में लिखा है- 'सवालों से अखिलेश यादव को डर लगने लगा है। अखिलेश के सामने सपा के गुंडों द्वारा पत्रकार को पीटा जा रहा है। पिछले दिनों भी अखिलेश से एक पत्रकार ने सवाल किया तो तिलमिला गए थे और आज पत्रकार पर हमला करवा रहे हैं। अखिलेश यादव शर्म करिये।'

यूपी कांग्रेस ने अपने एक दूसरे ट्वीट में लिखा, 'भाजपा मुकदमे लगवाती है और समाजवादी पार्टी उठवा कर फिकवाती है। एक वो भी राज था जब पत्रकारों को भरपूर सम्मान मिलता था और उनको कोई हाथ लगाने की सोच भी नहीं सकता था।'

जो लोग इस उम्मीद में बैठे थे कि 2022 में सपा और कांग्रेस मिलकर यूपी के चुनावी समर में उतरेंगी, उन्हें यह समझ लेना चाहिए कि योगी को दोबारा सत्ता देने की तैयारी चाहे अनचाहे कांग्रेस कर चुकी है। यह बात इसलिए कि अगर दोनों को मिलकर लड़ना होता तो कम से कम कांग्रेस की यह भाषा अखिलेश यादव के लिए 'शर्म करिए अखिलेश यादव' जैसी नहीं होती। इतना ही नहीं यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने भी इसी के आसपास की अशोभनीय भाषा रखी है। वह भी तब जबकि यह बहुत साफ नहीं है​ कि पत्रकार पर हमला हुआ है या फिर क्रिया की प्रतिक्रिया हुई है।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमिटी के मीडिया कंवेनर ललन कुमार ने अपने ट्वीट में लिखा, 'सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव न जाने किस अहम् में चूर हैं। उनकी सिक्योरिटी में लगे लोगों और कुछ सपाइयों ने मिलकर पत्रकारों को पीटा। जब ये पत्रकारों को ही नहीं छोड़ रहे तो आम जनता का क्या करते होंगे। जैसी भाजपा, वैसी सपा।'

समाजवादी पार्टी के पूर्व प्रवक्ता व पूर्व राज्यमंत्री मनोज राय धूपचांडी ने ट्वीट कर कहा, 'कॉंग्रेस ही भाजपा है" इस झूठे ट्वीट से साबित हो रहा है। कृपया ध्यान से देख लें कि नीली शर्ट वाला पत्रकार रूपी व्यक्ति किस तरह जानबूझ कर सुरक्षाकर्मियों से झगड़ा कर धक्का दे कर अपने और साथियों को उकसा कर बुला रहा है।'


Next Story

विविध

Share it