उत्तर प्रदेश

Kanpur News: मानव तस्करी का मामला, दार्जिलिंग और नेपाल से लाई गई दो किशोरी और एक युवती को कानपुर में बेचा

Janjwar Desk
6 Aug 2022 1:30 PM GMT
Kanpur News: मानव तस्करी का मामला, दार्जिलिंग और नेपाल से लाई गई दो किशोरी और एक युवती को कानपुर में बेचा
x
Kanpur News: यूपी में कानपुर शहर के कारोबारियों ने दार्जिलिंग और नेपाल से मानव तस्करी करके लाई गईं दो किशोरियों और एक युवती को घरेलू काम करने के लिए खरीद लिया गया। जिन्हें शुक्रवार को एसीएम,श्रम विभाग और पुलिस की संयुक्त टीम ने ग्वालटोली और गोविंद नगर सिथत घरों से मुक्त कराया है।

Kanpur News: यूपी में कानपुर शहर के कारोबारियों ने दार्जिलिंग और नेपाल से मानव तस्करी करके लाई गईं दो किशोरियों और एक युवती को घरेलू काम करने के लिए खरीद लिया गया। जिन्हें शुक्रवार को एसीएम,श्रम विभाग और पुलिस की संयुक्त टीम ने ग्वालटोली और गोविंद नगर सिथत घरों से मुक्त कराया है।

लखनऊ की संस्था सोशल लीगल इन्फार्मेशन सेंटर की कानूनी सलाहकार नंदनी वर्मा ने बताया कि एक गिरोह किशोरियों और युवतियों को दार्जिलिंग से रुपयों का प्रलोभन और बेहतर भविष्य का झांसा देकर अलग-अलग जिलों में घरेलू कार्य कराने के लिए बेच रहा है।

जुलाई में दार्जिलिंग की एक किशोरी को उन्होंने लखनऊ के सिकंदराबाद चौक निवासी महिला के घर से बंधनमुक्त कराया था। उसके बाद तीन दिन पहले लखनऊ से बचाई गई युवती के जानने वालों से पता चला कि दार्जिलिंग की ही 15 और 16 वर्षीय दो किशोरियां और नेपाल की 24 वर्षीय युवती कानपुर के ग्वालटोली और गोविंद नगर में कारोबारियों के घरों में काम कर रही हैं। बताया वह संस्था के कन्वीनर निर्मल गोराना के साथ कानपुर जिलाधिकारी विशाख जी से मिलीं और मामले की जानकारी दी। जिलाधिकारी ने एसीएम और श्रम विभाग के साथ पुलिस की एक संयुक्त टीम गठित की। टीम ने पिछले दिन दोनों स्थानों से किशोरियों और युवती को बंधनमुक्त करा लिया। बताया इस पर विरोध का सामना करना पड़ा। अधिकारी ने तीनों युवतियां के बयान दर्ज किए।

सिलिगुड़ी के दंपती दार्जलिंग से लाते हैं किशोरी

नंदनी वर्मा ने बताया कि लोगों के घरों में काम करने वाली किशोरियां व युवतियां सबसे ज्यादा दार्जिलिंग से लाई जा रही हैं। इसके लिए सिलिगुड़ी के दंपती कंसलटेंसी चलाकर लोगों को अच्छी नौकरी व बेहतर भविष्य का झांसा देते हैं। उसके बाद उन्हें राज्य के अलग-अलग जिलों में कारोबारियों और उद्यमियों को बेच देते हैं। किशोरियां उनके घरों में काम करती हैं।

जिलाधिकारी कानपुर विशाखा जी ने बताया शिकायत पर अधिकारियों की संयुक्त टीम भेजकर तीनों को युवतियों को वहां से निकालकर आशा ज्योति केंद्र में भेजा गया है। कहाकि युवतियों के स्वजन को सूचना दी गई है। उनके आने पर सौंप दिया जाएगा।

वहीं सहायक श्रमायुक्त डा. नीकी नैंसी ने बताया तीनों पीड़िताओं को मुक्त करा दिया गया है। उनके बयान दर्ज किए गए हैं। अब आगे की कार्रवाई की जाएगी। बताया तीनों के स्वजन भी आ रहे हैं। सभी को आशा ज्योति केंद्र भेजा गया है।

Next Story

विविध