उत्तर प्रदेश

Lucknow News : लखनऊ में रिटायर्ड IFS अफसर ने खुद को गोली से उड़ाया, सामने आई ये वजह

Janjwar Desk
26 Feb 2022 4:54 AM GMT
lucknow news
x

UP Police (File Photo)

अतिबल सिंह बाथरूम में गए और फायरिंग की आवाज सुनाई दी और रामू भागकर बाथरूम की तरफ भागा। वहां अतिबल खून से लथपथ पड़े थे। रामू ने फोन कर चालक शव मंगल को सूचना दी...

Lucknow News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर (Gomti Nagar) में सेवानिवृत्त मुख्य वन संरक्षक अतिबल सिंह (Atibal Singh) ने शुक्रवार को अपने आवास पर लाइसेंसी रिवॉल्वर से खुद को गोली मार ली। बाथरूम में उसका खून से लथपथ शव मिला।

वहीं पुलिस को कमरे से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस का कहना है कि शुरुआती जांच में ये सामने आया है कि वह बीमारी से परेशान थे और इसके कारण उन्होंने ये कदम उठाया। जिस वक्त अतिबल सिंह ने आत्महत्या की, उस वक्त उनकी पत्नी घर से बाहर गई थी और उनका नौकर घर पर मौजूद था।

जानकारी के मुताबिक मूलरूप से सुल्तानपुर के बिलहरी निवासी अतिबल सिंह पत्नी आशा के साथ विशाल खंड में रहते थे। उनकी बड़ी बेटी आकांक्षा की शादी हो चुकी है और बेटा अभिषेक सिंह नोएडा में काम करता है। जबकि छोटी बेटी अनामिका वन विभाग में ही कार्यरत है। अतिबल सिंह की पत्नी आशा के मुताबिक शुक्रवार को 11 बजे वह चालक से परिचित से मिलने विपुलखंड गई थी और घर पर नौकर रामू मौजूद था।

दोपहर लगभग 11.30 बजे अतिबल सिंह बाथरूम में गए और फायरिंग की आवाज सुनाई दी और रामू भागकर बाथरूम की तरफ भागा। वहां अतिबल खून से लथपथ पड़े थे। रामू ने फोन कर चालक शव मंगल को सूचना दी। इसके बाद आशा घर लौट आई।

डॉक्टरों ने किया मृत घोषित

अतिबल सिंह को ड्राइवर और नौकर की मदद से सहारा अस्पताल में ले जाया गया और जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव के मुताबिक विशालखंड स्थित घर पहुंचने पर पुलिस को बाथरूम में लाइसेंसी रिवॉल्वर पड़ी मिली है। उनका कहना है कि रिटायर्ड ऑफिसर ने कनपटी के दाईं ओर गोली चलाई थी और मौके से रिवॉल्वर, उसकी धागा और उनका चश्मा बरामद किया गया है।

हड्डी की बीमारी से अवसाद में थे

अतिबल सिंह के नौकर रामू के मुताबिक वह रीढ़ की हड्डी की बीमारी से परेशान थे और उनके घुटने भी ठीक से काम नहीं कर रहे थे। रीढ़ की हड्डी की बीमारी के चलते अतिबल सिंह को बेल्ट को दिनभर पहनना पड़ता था और इसके कारण वह परेशान रहते थे।

Next Story