राष्ट्रीय

सपा नेता आजम खान की तबियत फिर बिगड़ी, लखनऊ के मेदांता में किए गए हैं भर्ती

Janjwar Desk
20 July 2021 2:29 AM GMT
सपा नेता आजम खान की तबियत फिर बिगड़ी, लखनऊ के मेदांता में किए गए हैं भर्ती
x

सपा के वरिष्ठ नेता आजम खान की तबीयत बहुत नासाज, डॉक्टरों ने भी जतायी चिंता

जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने आजम खान की जांच की तो उनका 'ऑक्सीजन' का स्तर कम पाया गया, इसके बाद चिकित्सकों ने बेहतर इलाज के लिए उन्हें लखनऊ के अस्पताल ले जाने की सलाह दी...

जनज्वार। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान की तबीयत एक बार फिर खराब होने के बाद सोमवार को उन्हें लखनऊ के मेदांता अस्पताल ले जाया गया। सीतापुर जिला कारागार के जेलर आरएस यादव ने बताया कि आजम खान को सांस लेने में तकलीफ हुई। जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने उनकी जांच की, तो उनका 'ऑक्सीजन' का स्तर कम पाया गया। इसके बाद चिकित्सकों ने बेहतर इलाज के लिए उन्हें लखनऊ के अस्पताल ले जाने की सलाह दी।

जेल में उनकी जांच करने पहुंची डॉक्टर्स की टीम ने बताया कि उन्हें सीने में दर्द और सांस फूलने की शिकायत है। आजम खान पिछले साल फरवरी से सीतापुर जेल में बंद हैं। उन्हें कोरोना की शिकायत के बाद तबीयत ज़्यादा बिगड़ने पर 9 मई को भी लखनऊ के मेदांता में भर्ती किया गया था। उन्हें किडनी में भी ज़्यादा तकलीफ थी।

उन्होंने बताया कि पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खान को लखनऊ के मेदांता अस्पताल भेजा गया है, जहां कुछ दिन पहले भी उनका इलाज चला था। आजम को पुलिस सुरक्षा के साथ एक एम्बुलेंस में लखनऊ के लिए रवाना किया गया।

गौरतलब है कि कई मामलों में एफआईआर दर्ज होने के बाद सीतापुर जेल में बंद आजम खान और उनके बेटे अब्दुल्ला इस साल मई में कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे। 9 मई को आजम खान और उनके बेटे को कोरोना संक्रमण के बाद लखनऊ के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 24 मई को आजम खान की स्कैनिंग कराई गई थी और उसमें कैविटी के साथ साथ फ्राइब्रोसिस की शिकायत मिली थी।

सीतापुर जिला कारागार के डिप्‍टी जेलर के मुताबिक आजम खान और उनके पुत्र अब्दुल्ला में 30 अप्रैल को आरटी पीसीआर जांच में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई थी। दो मई को प्रशासन ने बेहतर इलाज के लिए आजम खान को लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज ले जाने की सलाह दी लेकिन उन्होंने सीतापुर जेल से बाहर जाने से इनकार कर दिया था। उल्लेखनीय है कि कई मामलों में आजम खान अपने बेटे के साथ फरवरी 2020 से ही जिला कारागार सीतापुर में बंद हैं जबकि उनकी विधायक पत्नी को दिसंबर 2020 में अदालत ने जमानत दे दी थी।

Next Story

विविध

Share it