Top
उत्तर प्रदेश

देवर की शादी में महिला ने मांगा था मंगलसूत्र, नहीं मिलने पर 3 बच्चों समेत खाया जहर, दो की हुई मौत

Janjwar Desk
5 March 2021 1:28 PM GMT
देवर की शादी में महिला ने मांगा था मंगलसूत्र, नहीं मिलने पर 3 बच्चों समेत खाया जहर, दो की हुई मौत
x
रंगीता के इस कदम ने लोग सोचने को मजबूर हैं कि मंगलसूत्र की तकरार से मासूमों का कुछ लेना देना नहीं था, लेकिन मां के फैसले के सामने मासूम बच्चों को क्या पता था कि जो मां उन्हें अपने से एक पल के लिए दूर नहीं कर सकती थी, वह हमेशा के लिए दूर कर देगी।

जनज्वार, देवरिया। उत्तर प्रदेश के जनपद देवरिया से झकझोरने वाली घटना सामने आई है। यहां एक लड़के की शादी होने वाली थी। लड़के की भाभी ने जेवर खरीदारी के दौरान खुद के लिए मंगलसूत्र खरीदने की मांग की। परिजनों ने बाद में मंगलसूत्र दिलाने की बात कही तो उसने नाराज होकर खुद के साथ तीन मासूम बच्चों को भी जहर पिला दिया। इस घटना में एक बेटे सहित महिला की मौत हो गई।

देवरिया की इस घटना ने न सिर्फ परिवार बल्कि रिश्तेदार व पूरे गांव के लोगों को झकझोर कर रख दिया है। पूरा माला कटइलवा गांव का है। यहां रमाशंकर निषाद के पुत्र आनंद की पत्नी 32 वर्षीय रंगीता बुधवार 3 मार्च रात में भोजन के बाद बच्चों के साथ कमरे में सोने चली गई। देर रात घर में चीख-पुकार मची तो आस-पास के लोगों की भीड़ जुट गई। रंगीता और उसके 10 वर्षीय पुत्र जयराम, 6 वर्षीय शिवराज और 4 वर्षीय रामराज के मुंह से झाग निकल रहा था।

महिला के पुत्र शिवराज ने बताया कि मां ने तीखी चीज पिला दी थी। हालत नाजुक देख परिजन चारों को सीएचसी ले गए। चिकित्सक ने रंगीता को मृत घोषित कर दिया और तीनों बच्चों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया। इलाज के दौरान शिवराज की भी मौत हो गई। मां और बेटे की मौत के बाद घर में कोहराम मच गया।

रंगीता के इस कदम ने लोग सोचने को मजबूर हैं कि मंगलसूत्र की तकरार से मासूमों का कुछ लेना देना नहीं था, लेकिन मां के फैसले के सामने मासूम बच्चों को क्या पता था कि जो मां उन्हें अपने से एक पल के लिए दूर नहीं कर सकती थी, वह हमेशा के लिए दूर कर देगी। पति को जब इस घटना की जानकारी हुई तो मोबाइल पर ही रो पड़ा। वह बोल पड़ा, अरे रंगीता। तूने तो खुद की बगियां को उजाड़ दिया।

रंगीता ने गिलास में कीटनाशक उड़ेला। पहले बच्चों को पिलाया। उसके बाद खुद पी गई। बच्चों के चिल्लाने की आवाज पर परिवार के सदस्य और आसपास के लोग रंगीता के कमरे में पहुंचे तो वहां का दृश्य देख सकते में आ गए। बिस्तर पर पड़े सभी के मुंह से झाग निकल रहा था। रंगीता के बेटे जयराम, शिवराज और रामराज तड़प रहे थे। मरने के पहले शिवराज ने घर वालों से बताया कि हम सभी को बारी-बारी से कुछ तीखी चीज पिलाने के बाद मां ने खुद पी लिया। अस्पताल में भर्ती सबसे बड़े बेटे जयराम को दोपहर तक यह पता नहीं था कि उसकी मां अब दुनिया में नहीं है। उसने भी बताया कि मां ने कुछ पिला दिया है।

रमाशंकर के तीन पुत्रों में सबसे छोटे पुत्र अंबुज यानी रंगीता के देवर की शादी नौ मई को होनी है। बताया जा रहा है कि रविवार को परिजनों ने शादी के सामान की खरीदारी की थी। रंगीता अपने लिए मंगलसूत्र खरीदने के लिए कही थी। मंगलसूत्र नहीं खरीदा गया तो नाराज चल रही थी। परिजन शादी करीब आने पर मंगलसूत्र खरीदने की बात कह रहे थे, लेकिन वह मानने को तैयार नहीं हो रही थी। घटना के बाद हंसी-खुशी का माहौल गम में बदल चुका है।

Next Story

विविध

Share it