Top
उत्तर प्रदेश

निजामुद्दीन में कोरोना को लेकर यूपी के 18 जिलों में अलर्ट, योगी ने दिए सख्त आदेश

Janjwar Team
1 April 2020 9:55 AM GMT
निजामुद्दीन में कोरोना को लेकर यूपी के 18 जिलों में अलर्ट, योगी ने दिए सख्त आदेश
x

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली के निजामुद्दीन तब्लीगी मरकज से राज्य में आये हर व्यक्ति की जांच कराकर जरूरत पड़ने पर पृथक करने की कार्रवाई के निर्देश दिए हैं....

जनज्वार। उत्तर प्रदेश पुलिस ने दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में हुए एक जमात में इकट्ठा हुए छह लोगों की तेलंगाना में मौत के बाद प्रदेश सरकार ने खासकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अलर्ट जारी कर दिया है। पश्चिमी यूपी के सम्बंध में सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों से कहा गया है कि निजामुद्दीन में हुई जमात कार्यक्रम में शामिल अपने इलाके के लोगों की पहचान कर उनकी मेडिकल जांच सुनिश्चित कराएं।

सपी कानून-व्यवस्था अभय शंकर की ओर से दिए निर्देश पत्र में गाजियाबाद, मेरठ, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, हापुुड़, बिजनौर, बागपत, वाराणसी, भदोही, मथुरा, आगरा, सीतापुर, बाराबंकी, प्रयागराज, बहराइच, गोण्डा सहित बलरामपुुर के पुलिस अधीक्षकों को अलर्ट किया गया है।

खबर : तबलीगी जमात का ‘तालिबानी जुर्म’, ये लापरवाही नहीं गंभीर आपराधिक हरकत है- मुख्तार अब्बास नकवी

त्र में कहा गया है कि दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन इलाके में फारेन टीम्स आफ तब्लीगी जमात में उत्तर प्रदेश में आने वालों की सूूची संलग्न कर भेजी जा रही है। कृपया सूची के मुताबिक सभी व्यक्तियों की कोरोना वायरस के मद्देनज़र जांच की जाए। सूची में दिए गए लोगों के नामों के मुताबिक अगर वे संक्रमित पाए जाएं तो उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया जाए। इस संबंध में डीजीपी मुख्यालय ने सभी पुलिस अधीक्षकों से मंगलवार दोपहर 3 बजे तक रिपोर्ट भी मांगी है।

ता दें कि दक्षिणी दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में करीब दो हजार लोग शामिल हुए थे, जहां से अब देशभर में कोरोना के संक्रमण फैलने का मामला सामने आया है। मरकज में आए लोगों में से अब तक सिर्फ राजधानी दिल्ली में ही 24 में कोरोना पॉजिटिव केस सामने आया है। इनमें कोरोना पॉजिटिव के छह मामले रविवार को सामने आए थे जबकि सोमवार को 18 मामले सामने आ चुके हैं। मरकज में शामिल होने आए लोगों में करीब 100 से ज्यादा विदेशी थे जिसमें बांग्लादेश, श्रीलंका, अफगानिस्तान, मलेशिया, सऊदी अरब, इंग्लैंड और चीन के भी लोग मौजूद थे।

पूरे उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मरीजों की संख्या 101 पहुंच चुकी है। जिसमे सबसे ज़्यादा नोएडा में 38, मेरठ में 19, आगरा में 11, लखनऊ में 10, गाजियाबाद में 7, बरेली में 5 जबकि पीलीभीत में 2 और वाराणसी में 2, लखीमपुर में 1 और कानपुर में 1 ,मुरादाबाद, शामली, जौनपुर, बागपत और बुलन्दशहर में 1-1 मरीज़ भर्ती है।

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली के निजामुद्दीन तब्लीगी मरकज से राज्य में आये हर व्यक्ति की जांच कराकर जरूरत पड़ने पर पृथक करने की कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मंगलवार को निर्देश देते हुए कहा कि राज्य में कहीं पर लोग बिना बताए समूह में रह रहे हैं, तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। सरकार ने मरकज से लौटे लोगों से आह्वान किया है कि वे स्वहित और समाज के हित में खुद सामने आकर अपने बारे में सूचना दें। गृह विभाग के प्रमुख सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने यहां संवाददाताओं को बताया कि मुख्यमंत्री ने दिल्ली के तब्लीगी मरकज में हुई घटना के मद्देनजर अधिकारियों के साथ बैठक की।

संबंधित खबर : सरकार है अपराधी? तबलीगी जमात ने मांगा था 17 गाड़ियों का कर्फ्यू पास, फिर भी सोती रही सरकार

कौल मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी 'बैठक में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मरकज में शिरकत करके उत्तर प्रदेश में आये हर व्यक्ति की जांच कराई जाए। अगर जरूरत पड़े तो उन्हें पृथक करने की कार्रवाई की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा है कि मरकज से लौटे लोग जहां कहीं भी हैं, उनकी जांच की जाए और जरूरत पड़ने पर कार्रवाई की जाए। मरकज से लौटकर जो 157 लोग प्रदेश में आये थे उनमें से 95 प्रतिशत का पता लगाया जा चुका है। बाकी का आज शाम तक पता लगा लिया जाएगा। हर हालत में उनका ब्लड टेस्ट कराया जाएगा। कोरोना वायरस के लक्षण नहीं पाये जाने के बाद भी उनकी निगरानी की जाएगी।

Next Story

विविध

Share it