समाज

शादी के एक दिन पहले पिता ने बेटी की इसलिए की बेरहमी से हत्या क्योंकि दलित लड़के से करती थी प्रेम

Janjwar Team
23 March 2018 1:45 PM GMT
शादी के एक दिन पहले पिता ने बेटी की इसलिए की बेरहमी से हत्या क्योंकि दलित लड़के से करती थी प्रेम
x

उच्च जाति के पिता को लैब टैक्नीशियन बेटी द्वारा पढ़े—लिखे दलित लड़के से प्रेम करने के बाद शादी करने का निर्णय लेना इतना अखरा कि उसने बेटी को मौत के घाट उतार दिया। बदनामी का डर पिता पर इतना हावी हो गया कि उसे बेटी कहीं नजर आई ही नहीं...

जनज्वार। हमारे समाज के तथाकथित ठेकेदार दावा करते नहीं थकते कि लड़कियां लड़कों से किसी मामले में कम नहीं हैं, अपने जिंदगी के सारे निर्णय खुद ले सकती है, पढ़—लिखकर आगे बढ़ लड़कों के कदमों से कदम मिला सकती हैं।

मगर जहां लड़की अपनी जिंदगी के फैसले खुद लेने लगती है, वहां ये बातें खोखली साबित होने लगती हैं। एक उच्च जाति के पिता को बेटी द्वारा पढ़े—लिखे दलित लड़के से प्रेम करने के बाद शादी करने का निर्णय लेना इतना अखरा कि उसने बेटी को मौत के घाट उतार दिया। बदनामी का डर पिता पर इतना हावी हो गया कि उसे बेटी कहीं नजर आई ही नहीं।

यह मामला है केरल के मलप्पपुरम का, जहां दुल्हन बनने से पहले ही पिता ने बेटी आर अथिरा का गला खुद ही घोंट दिया। मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक कल्प्पपुरम की 22 वर्षीय आर अथिरा एक दलित लड़के रंजन से शादी करने वाली थी, हालांकि काफी मुश्किलों से हत्यारा बाप भी इस शादी के लिए राजी हो गया था, मगर शादी के एक दिन पहले ही उन पर इज्जत का भूत इस कदर सवार हो गया कि उसने अपनी बेटी को चाकू से गोंद डाला।

पुलिस ने इस मामले में आरोपी पिता को गिरफ्तार कर छानबीन शुरू कर दी है। पड़ोसियों ने शुरुआती छानबीन में बताया कि लड़की का पिता उसके दलित लड़के रंजन से प्यार करने और उसके बाद जीवनसाथी बनाने के निर्णय से खासा नाराज था, इसीलिए उसने शादी से ठीक पहले अपनी बेटी की हत्या कर दी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लड़की की शादी आज शुक्रवार 23 मार्च को उसके दलित प्रेमी से होने वाली थी। दलित जाति से ताल्लुक रखने वाला रंजन सेना में नौकरी करना था, जिससे उसका लगभग एक साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। मंजेरी मेडिकल सेंटर में लैब टैक्निीशियन अथिरा की शादी के लिए पहले तो उसके पिता ने काफी मान—मनौव्वल के बाद गुस्से में हामी भर दी थी, मगर कल 22 मार्च को जब इसी बात पर पिता फिर से अथिरा के साथ उलझ पड़े तो मामला इतना आगे बढ़ गया कि एक दिन बाद विदा होने वाली बेटी के साथ हाथापाई करने लगा। पिता से बचने के लिए अथिरा पड़ोसियों के घर में जाकर छिप गई।

बाप ने अपने हाथ में घर से चाकू के साथ अथिरा का पीछा किया। जब पड़ोसियों ने रोका कि तुम एक दिन बाद शादी होकर विदा होने वाली बेटी के साथ क्या कर रहे हो, क्यों मारपीट कर रहे हो और चाकू लेकर उसका पीछा क्यों कर रहे हो तो पगलाया बाप पड़ोसियों से भी भिड़ गया। उसने जबरन पड़ोसी के घर से अथिरा को बाहर निकलवाया और सबके सामने चाकू घोंपकर उसकी हत्या कर दी।

अस्पताल पहुंचने से पहले ही अथिरा ने दम तोड़ दिया था। पड़ोसियों के मुताबिक हत्यारे पिता को बेटी की शादी से इसलिए आपत्ति थी क्योंकि होने वाला दामाद एक दलित समुदाय से आता था। पुलिस अभी इसे ऑनर किलिंग कहने से बच रही है, मगर पड़ोसियों ने जिस तरह से इस दिल दहलाने वाले हत्याकांड का खुलासा किया है उससे स्पष्ट हो गया है कि मामला सिर्फ आॅनर किलिंग का ही है। पुलिस का कहना है कि घटना के वक्त अथिरा के पिता ने शराब पी हुई थी।

लैब टैक्निीशियन 22 वर्षीय आर अथिरा और दलित सेना के जवान रंजन की जान—पहचान तब हुई थी, जब रंजन की मां इलाज के लिए मंजेरी मेडिकल सेंटर में भर्ती हुई थी। इसी दौरान हुई जान—पहचान के बाद उनके बीच प्रेम पनपा और उन्होंने शादी करने का निर्णय लिया था।

Next Story
Share it