जनज्वार विशेष

गिरफ्तार हुए यासीन मलिक और आईटी सेल नफरत फैलाने लगा अरुंधति राय के खिलाफ

Prema Negi
23 Feb 2019 9:38 AM GMT
गिरफ्तार हुए यासीन मलिक और आईटी सेल नफरत फैलाने लगा अरुंधति राय के खिलाफ
x

सैकड़ों बार गिरफ्तार हो चुके जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के यासिन मलिक की अबकी हुई गिरफ्तारी को आईटी सेल ऐसे प्रचारित कर रहा है जैसे दाउद इब्राहिम और मसूद अजहर को सरकार पकड़ लाई, जबकि इस बार भी मलिक की गिरफ्तारी पुलिस ने 35ए के सुनवाई से पहले एहतियातन की है

जनज्वार। यासिन मलिक के बहाने भक्तों ने प्रख्यात लेखिका और कार्यकर्ता अरुंधति राय को टारगेट किया है। अरुंधति राय के साथ यासिन ​मलिक और ​हुर्रियत नेता ​​सैय्यद अलीशाह गिलानी का फोटो लगाकर जनता को भरमाने की भरपूर कोशिश की जा रही है।

पुलवामा हमले के बाद जम्मू कश्मीर में अलगाववादियों पर हो रही कार्रवाई के तहत पुलिस ने कल 22 फरवरी की रात जेकेएलएफ प्रमुख यासीन मलिक को एहतियातन हिरासत में लिया गया है। उन्हें अनुच्छेद 35-ए को लेकर होने वाली 26 से 28 फरवरी के बीच होने वाली सुनवाई से पहले गिरफ्तार किया गया है, जिससे राज्य में कोई 35 ए के खिलाफ व्यापक उबाल न हो। आशंका जताई जा रही है कि अनुच्छेद 35-ए की सुनवाई के बाद घाटी में तनाव बढ़ सकता है।

मोटे तौर पर अनुच्छेद 35-ए में व्यवस्था है कि जम्मू एवं कश्मीर के बाहर का व्यक्ति राज्य में अचल संपत्ति नहीं खरीद सकता और दूसरे राज्य का कोई भी व्यक्ति यहां का नागरिक नहीं बन सकता। वहीं राज्य की लड़की का किसी बाहरी लड़के से शादी करने पर उसके सभी अधिकार समाप्त हो जाते हैं।

पर यासीन की गिरफ्तारी को आईटी सेल अरुंधति के खिलाफ दुष्प्रचार के रूप में इस्तेमाल कर रही है। अरुंधति राय अपने लेखन के लिए लंबे समय तक कश्मीर में रहीं और इस बीच उन्होंने कश्मीर का प्रतिनिधित्व करने वाले तमाम प्रतिनिधियों से मुलाकात की और जनता का पक्ष सुना और लिखा भी, पर इस बात को आईटी सेल ऐसे लिखा है जैसे यह देश के साथ कोई गद्दारी है।

2009 में प्रतिरोध और कश्मीर की आजादी को लेकर दिल्ली के एक कार्यक्रम में सैयद अलीशाह गिलानी के साथ अरुं​धति राय ने मंच साझा किया था। कमानी आडोटोरियम में हुए इस कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में जाने माने पत्रकार, लेखक, वकील और मानवाधिकार कार्यकर्ता मौजूद थे। इस कार्यक्रम में सैयद अलीशाह को विरोध भी झेलना पड़ा था।

चर्चित अंग्रेजी पत्रकार राजदीप सरदेसाई और सांसद ओवेसी को भी लपेटे में लिया गया है। दोनों के साथ बैठने को साजिश की तरह दिखाया गया है और इस पोस्ट में कहा गया है कि ओवेसी कहते हैं कि वह 15 मिनट में हिंदुओं को खत्म कर देंगे।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का भी कार्टून लगातार सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है। भाजपा आईटी सेल द्वारा प्रचारित एक कार्टून लगाया गया है और लिखा है कि कांग्रेस हमे​शा मुसलमानों और आतंकियों की सगी रही है।

ट्वीटर पर यासिन मलिन ट्रेंड कर रहा है, जिसमें भाजपा आईटी सेल द्वारा प्रचारित—प्रसारित ये सारी सामग्री राष्ट्रवाद के नाम पर परोसी जा रही है और अरुंधति राय, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, कांग्रेस पार्टी, राजदीप सरदेसाई सैय्यद अलीशाह गिलानी समेत अन्य कई को देशद्रोही ठहराया जा रहा है।

Next Story

विविध

Share it