समाज

बिना जांच के थाना प्रभारी ने पत्रकार के खिलाफ किया मुकदमा दर्ज

Janjwar Team
27 Jun 2017 7:41 PM GMT
बिना जांच के थाना प्रभारी ने पत्रकार के खिलाफ किया मुकदमा दर्ज
x

लखीमपुर खीरी। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जनपद के मैगलगंज में एक दैनिक समाचार पत्र के संवाददाता अखिलेश शुक्ला के विरूद्ध मैगलगंज पुलिस द्वारा बगैर जांच किए एक महिला ग्रामप्रधान की शिकायत पर धारा 151 के तहत शांति भंग करने का फर्जी मामला दर्ज किया गया है। इस मामले में पुलिस ने बगैर किसी छानबीन के पत्रकार के विरूद्ध न सिर्फ शिकायत दर्ज की, बल्कि उसके साथ गाली—गलौज भी की गई।

पत्रकार अखिलेश शुक्ला उर्फ सोनू के मुताबिक पिछले 19 जून को ग्राम प्रधान रामदुलारी पत्नी बलराम प्रसाद त्रिवेदी की तहरीर पर मेरे खिलाफ बगैर किसी छानबीन के पुलिस द्वारा फर्जी अभियोग पंजीकृत किया गया है। इससे मुझे मानसिक प्रताड़ना मिली है। मामले के बाबत अखिलेश कहते हैं कि हमारे गांव में मनरेगा के तहत कच्ची सड़क बन रही थी, जिसका ग्रामीण विरोध कर रहे थे। इसी मामले में महिला ग्राम प्रधान ने मेरे खिलाफ शांति भंग करने का मामला दर्ज किया है। मैगलगंज पुलिस द्वारा बगैर जांच किए हुए अभियोग पंजीकृत किया जाना न्यायिक प्रक्रिया से परे है।

अखिलेश शुक्ला के मुताबिक जिस स्थान पर घटना घटित हुई, वह तब वहां मौजूद ही नहीं था। पत्रकार के मुताबिक उसकी बहन प्रधानी का चुनाव लड़ रही थी, इसी द्वेष भावना को लेकर वर्तमान प्रधान ने यह अभियोग पंजीकृत कराया है, जो कि अत्यंत निंदनीय है।

इस मामले में स्थानीय पत्रकारों के संगठन पत्रकार एकता ग्रुप ने पुलिस उपाधीक्षक मितौली निष्ठा उपाध्याय को एक ज्ञापन सौंपा है, जिसमें अखिलेख शुक्ला के साथ घटित इस मामले का पूरा ब्यौरा दर्ज है। पुलिस की इस लापरवाहीपूर्ण कार्रवाई के विरूद्ध पत्रकार एकता ग्रुप ने क्षेत्राधिकारी से मिलकर इस मामले में निष्पक्ष और न्यायिक कार्रवाई की मांग की है।

पुलिस उपाधीक्षक ने पत्रकारों को आश्वासन दिया है कि घटना की निष्पक्ष जांच कराई जाएगी। इस प्रकरण को पुलिस अधीक्षक के समक्ष जल्दी ले जाया जायेगा और पुलिस प्रमुख द्वारा जांच अधिकारी नियुक्त कर जांच कराकर ग्रामप्रधान व मामले में संलिप्त पुलिसकर्मियों के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी।

पत्रकार एकता ग्रुप ने जब पुलिस उपाधीक्षक को पत्रकार पर फर्जी तरीके से दर्ज किए गए मामले के बाबत ज्ञापन सौंपा तब काफी बड़ी संख्या में स्थानीय पत्रकार मौजूद थे, जो इस मामले में न्यायपूर्ण कार्रवाई किए जाने की मांग कर रहे थे।

Next Story

विविध