राजनीति

Amrinder Singh: तो क्या कैप्टन का अगला पड़ाव BJP होगी, दिल्ली में अमित शाह-नड्डा से होने जा रही मुलाकात

Janjwar Desk
28 Sep 2021 8:35 AM GMT
Amrinder Singh: तो क्या कैप्टन का अगला पड़ाव BJP होगी, दिल्ली में अमित शाह-नड्डा से होने जा रही मुलाकात
x

(पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह आज अमित शाह और जेपी नड्डा से मिलने वाले हैं) file pic.

Amarinder Singh: उनका दिल्ली दौरा तय है और कैप्टन अमरिंदर सिंह मंगलवार को दिल्ली पहुंच रहे हैं, यहां अमित शाह और जेपी नड्डा के साथ उनकी मीटिंग तय हो चुकी है..

Amarinder Singh: (जनज्वार)। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीजेपी में जाने की अटकलें फिर से तेज हो गई हैं। मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद अमरिंदर ने अपने रास्ते खुले होने की बात कही थी, उस वक्त से ही ऐसे कयास लगाए जाने लगे थे। उन्होंने उस दौरान कांग्रेस आलाकमान से खुले तौर पर नाराजगी जाहिर भी जाहिर की थी।

इसके बाद से ही ऐसी अटकलें लगाई जा रही थीं कि कैप्टन का अगला पड़ाव बीजेपी हो सकता है। इन अटकलों को इस खबर से और हवा मिल रही है कि मंगलवार को अमरिंदर सिंह दिल्ली आ रहे हैं। दिल्ली में वह गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिलेंगे।

सूत्रों के हवाले से कुछ मीडिया रिपोर्टस में कहा गया है कि उनका दिल्ली दौरा तय है और कैप्टन अमरिंदर सिंह मंगलवार को दिल्ली के लिए रवाना हो रहे हैं। यहां अमित शाह और जेपी नड्डा के साथ उनकी मीटिंग तय हो चुकी है।

पंजाब में जारी राजनीतिक उठापटक के बीच पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) आज (28 सितंबर) दिल्ली पहुंच रहे हैं। अमरिंदर सिंह से पहले उनके वफादार पूर्व मंत्री और कांग्रेसी नेता (Congress Leaders) दिल्ली में इकट्ठा हो चुके हैं। इससे उम्मीद लगाई जा रही है कि पंजाब के राजनीतिक (Punjab Politics) घटनाक्रम में कुछ बड़ा हो सकता है।

सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने कहा था कि वे अपमानित महसूस कर रहे हैं, जिसके बाद यह फैसला लिया। इसके साथ ही उन्होंने नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) का खुलकर विरोध किया था और कहा था कि वह सिद्धू को सीएम नहीं बनने देंगे। अमरिंदर सिंह ने कहा था कि वह सिद्धू के खिलाफ मजबूत उम्मीदवार उतारेंगे।

मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद अमरिंदर सिंह ने दर्द बयां करते हुए यह तक कहा था कि उन्होंने अपमानित महसूस किया था, जिसके बाद सीएम पद छोड़ने का फैसला लिया। अमरिंदर सिंह ने यह तक कहा था कि पंजाब चुनाव 2022 में अगर कांग्रेस जीतती भी है तो वह नवजोत सिंह सिद्धू को सीएम नहीं बनने देंगे। उन्होंने कहा था कि वह सिद्धू के खिलाफ मजबूत उम्मीदवार उतारेंगे। इससे कयास लगाए जा रहे थे कि वह पंजाब में अपनी अलग पार्टी भी बना सकते हैं।

मुख्यमंत्री पद छोड़ने के बाद बीजेपी नेता और हरियाणा के मंत्री अनिल विज ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को राष्ट्रवादी बताया था। साथ ही साथ बीजेपी में आने का न्योता भी दिया था. तब अनिल विज ने लिखा था, 'राष्ट्रवादी कैप्टन अमरिंदर सिंह उनके रास्ते में बाधा थे, इसलिए उन्हें राजनीतिक रूप से मार दिया गया। पंजाब में सभी राष्ट्रवादी ताकतों को कांग्रेस के गलत मंसूबों को नाकाम करने के लिए हाथ मिलाना चाहिए।'

Next Story

विविध

Share it