राजनीति

UP Elections 2022 : रायबरेली से बागी कांग्रेस विधायक अदिति सिंह भाजपा में शामिल, गांधी परिवार को बड़ा झटका

Janjwar Desk
24 Nov 2021 12:20 PM GMT
UP Elections 2022 :  रायबरेली से बागी कांग्रेस विधायक अदिति सिंह भाजपा में शामिल, गांधी परिवार को बड़ा झटका
x
UP Elections 2022 : अदिति सिंह के इस रुख को कांग्रेस के लिए बहुत बड़ा झटका माना जा रहा है। ऐसा इसलिए कि रायबरेली गांधी परिवार की परंपरागत सीट और सियासी गढ़ है।

UP Elections 2022 : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस की बागी विधायक अदिति सिंह ( Congress MLA Aditi Singh ) भाजपा में शामिल हो गईं। भाजपा में शामिल होने के बाद उन्होंने कहा कि अब बड़े स्तर पर काम करने का अवसर मिलेगा। भाजपा ( BJP ) के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने अदिति सिंह को पार्टी की सदस्यता दिलाई। अदिति सिंह के इस रुख को कांग्रेस ( Congress ) के लिए बहुत बड़ा झटका माना जा रहा है। ऐसा इसलिए कि रायबरेली गांधी परिवार की परंपरागत सीट और सियासी गढ़ है।

इसके अलावा बीएसपी विधायक वंदना सिंह ने भी भाजपा में शामिल होने की घोषणा की है। सगड़ी आजमगढ़ से बसपा विधायक वंदना सिंह सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को टक्कर देंगी।



चुनाव से ठीक पहले भाजपा में शामिल होकर अदिति सिंह ने कांग्रेस ( Congress ) की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। एक तरफ प्रियंका गांधी पार्टी को जमीनी स्तर पर मजबूत करने के दावे कर रही हैं वहीं दूसरी तरफ पार्टी के बड़े नेता कांग्रेस छोड़ते जा रहे हैं। रायबरेली सदर से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ( Aditi Singh ) ने पिछले कई महीनों से योगी सरकार की तारीफ और कांग्रेस नेतृत्व की आलोचना करती रही हैं। इसके लिए उन्हें कांग्रेस की तरफ से नोटिस भी दिया जा चुका है।

40% सीटें महिला को देने के फैसले को बताया था स्टंट

हाल ही में उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा करते हुए उन्हें यूपी का सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री बताया था और उनकी टीम में शामिल होने की इच्छा जताई थी। उन्होंने कहा था कि वह टीम योगी का हिस्सा बनकर अपने विधानसभा के लोगों के लिए और बेहतर कर सकती हैं। इससे पहले अदिति सिंह ने कांग्रेस द्वारा यूपी चुनाव में 40 फीसदी टिकट महिलाओं को देने की घोषणा करने पर कहा था कि वह स्टंट कर रही हैं।

महिला की चिंता है तो संदीप सिंह के खिलाफ करें कार्रवाई

अगर प्रियंका वाकई महिलाओं के लिए काम करना चाहती हैं तो उन्हें अपने निजी सचिव संदीप सिंह के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए जिन पर महिलाओं से छेड़छाड़ के मामले दर्ज हैं।

Next Story

विविध

Share it