Top
समाज

उरई में बीमार मां को अस्पताल देखने जा रही छात्रा से गैंगरेप, UP में नहीं थम रहा हैवानियत का सिलसिला

Janjwar Desk
16 Oct 2020 4:40 AM GMT
उरई में बीमार मां को अस्पताल देखने जा रही छात्रा से गैंगरेप, UP में नहीं थम रहा हैवानियत का सिलसिला
x
UP के उरई में अपनी बीमार मां को देखने जा रही 11वीं में पढ़ने वाली छात्रा को भी दरिंदों ने बख्शा, उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है...

जनज्वार। उत्तर प्रदेश में महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों की जैसे बाढ़ आई हुई है। गैंगरेप के बाद किसी को मौत के घाट उतार दिया जाता है तो कई मामलों में पुलिस अपराधियों को बचाने के लिए शिकायत ही दर्ज नहीं करती और मजबूरन पीड़िता आत्महत्या कर लेती है। महीनेभर की बच्ची से लेकर 90 साल की बुजुर्ग महिला तक यहां सुरक्षित नहीं है। उरई में अपनी मां को देखने अस्पताल जा रही 11वीं की छात्रा के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है।

हाथरस, बलरामपुर जैसी तमाम घटनायें हररोज प्रदेश में होती हैं, यह बात अलग है कि हाइलाइट कम ही घटनायें हो पाती हैं। अब उरई में भी हैवानियत की एक ऐसी तस्वीर सामने आई है, जो दिल को दहला देती है। उत्तर प्रदेश के उरई में अपनी बीमार मां को देखने जा रही 11वीं में पढ़ने वाली छात्रा को भी दरिंदों ने बख्शा, उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है।

जानकारी के मुताबिक अपनी बीमार मां को अस्पताल देखने जा रही नाबालिग छात्रा के साथ बुधवार 14 अक्टूबर को देर रात दो युवकों ने वन विभाग के पीछे ले जाकर गैंगरेप किया। पीड़िता के परिवार ने गुरुवार 15 अक्टूबर की देर रात कोतवाली जाकर इस बारे में पुलिस को बताया।

पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए पीड़िता को मेडिकल के लिए भेजा और मामले की रिपोर्ट दर्ज की। रिपोर्ट दर्ज करने के बाद एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। पीड़िता ने पकड़े गये आरोपी को पहचान लिया है। पुलिस का कहना है कि वह दूसरे आरोपी को जल्द ही पकड़ लेगी, उसकी तलाश जारी है।

घटनाक्रम के मुताबिक उरई शहर में रहने वाली 11वीं की छात्रा की मां की बुधवार देर रात तबीयत खराब हो गयी थी तो उसके पिता मां को लेकर जिला अस्पताल चले गये। घर में अकेली नाबालिग अस्पताल गए मां-बाप को देखने के लिए रात लगभग 12 बजे पैदल ही घर से निकल पड़ी। बाद में देरी का अहसास होने पर जब वह शहीद भगत सिंह चौराहे से वापस घर लौटने लगी तो टाउनहॉल के पास उसे रात में अकेला देखकर दो युवकों ने उसका पीछा करना शुरू कर दिया। कुछ दूर जाकर लड़की को दबोच लिया और उसे खींचकर वन विभाग के पीछे ले गये, जहां उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

मीडिया में आई जानकारी के मुता​बिक किसी तरह पीड़िता अपने घर पहुंची, मगर उसने किसी को कुछ नहीं बताया। गुरुवार 15 अक्टूबर की रात में लड़की को परेशान देखकर जब मां ने उससे पूछताछ की तो उसने रोते-रोते घटना के बारे में बताया। इस पर परिजन उसे लेकर कोतवाली पहुंचे। पुलिस ने पीड़ित नाबालिक को महिला अस्पताल मेडिकल के लिए भेजकर रिपोर्ट दर्ज की।

Next Story
Share it