समाज

दिल्ली में फिर दोहराई गयी श्रद्धा जैसी कहानी, इस बार मां-बेटे ने बाप के टुकड़े-टुकड़े कर पहुंचाया फ्रिज में, दिन में लाश का एक टुकड़ा फेंक आते थे जंगल में

Janjwar Desk
28 Nov 2022 9:33 AM GMT
दिल्ली में फिर दोहराई गयी श्रद्धा जैसी कहानी, इस बार मां-बेटे ने बाप के टुकड़े-टुकड़े कर पहुंचाया फ्रिज में, दिन में लाश का एक टुकड़ा फेंक आते थे जंगल में
x
Crime in Delhi I अंजन दास की हत्या के बाद हत्यारोपियों का धर्म मनमुताबिक न होने के कारण साइबर टोली ने आश्चर्यजनक ढंग से चुप्पी साध ली है, जो बताती है कि इनकी किसी भी मृतक के प्रति न तो कोई संवेदना है और न ही महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध के कोई लेना देना...

Crime in Delhi : जिस दिल्ली में अभी गुजरे दिनों श्रद्धा हत्याकांड की बर्बरता सामने आने पर हत्यारे के धर्म को लेकर दक्षिणपंथियों के साइबर योद्धाओं ने जो कोहराम मचा रखा था, ठीक वैसा ही एक और केस सामने आने पर उन्होंने चुप्पी साध ली है। इसकी वजह यही है कि इस व्यक्ति की टुकड़े-टुकड़े कर की गई हत्या में दूर-दूर तक अपराधियों का धर्म वह नहीं निकला, जिसकी इन्हें तलाश रहती है। अंजन दास नाम के व्यक्ति के साथ हुई यह बर्बरता उसकी अपनी पत्नी और बेटे ने मिलकर की थी, जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

इस हत्याकांड को दिल्ली पुलिस उस समय से सुलझाने में लगी थी, जब उसे कुछ महीने पहले पूर्वी दिल्ली के इलाके के पांडव नगर क्षेत्र से एक इंसान के कुछ टुकड़े मिलने शुरू हुए थे। पुलिस एक दिन आदमी की लाश का एक टुकड़ा बरामद करती तो दूसरे दिन फिर उसे इसी इलाके में लाश का एक और टुकड़ा मिलता। लाश के टुकड़े मिलने का सिलसिला गंभीर देखते हुए दिल्ली पुलिस ने इस इलाके के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगालने शुरू किए तो कई फुटेज में एक महिला और युवक संदिग्ध अवस्था में मैदान के पास दिखाई दिए।

फुटेज में दिखाई देने वाले इन दोनों की शिनाख्त के बाद पुलिस ने इनकी गुपचुप रेकी कर इनके बारे में लोगों से पूरी जानकारी हासिल की। इस कोशिश में पुलिस को पता चला कि इनके घर का एक व्यक्ति जो इस घर का मुखिया था, पिछले कुछ दिनों से दिखाई नहीं दे रहा है। जिस पर पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज में दिखने वाली महिला और युवक जो की आपस में मां बेटे थे को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो इनकी कहानी सुनकर पुलिस के भी होश उड़ गए।

पुलिस के मुताबिक पूनम नाम की इस महिला ने अपने बेटे दीपक की मदद से अपने पति अंजन दास की हत्या कर लाश को छोटे-छोटे टुकड़ों में कर उसे रेफ्रिजरेटर में रख लिया था। इन्हीं में से एक टुकड़े को ठिकाने लगाने के लिए दोनो मां बेटे दिन में एक फेरा उस मैदान का लगाने जाते थे। हत्या अंजन दास के कई महिलाओं के साथ अवैध संबंध की वजह से की गई थी। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि अवैध संबंधों की वजह से इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया था। अंजन दास के कई महिलाओं से अवैध संबंध थे, इससे उसके घर में झगड़ा होता रहता था। इसी बीच एक दिन पत्नी और बेटे ने मिलकर अंजन दास को मौत के घाट उतार दिया।

दिल्ली पुलिस ने बताया कि कत्ल की इस ख़ौफ़नाक वारदात को पूनम और उसके बेटे दीपक ने अंजाम दिया था। महिला ने अपने पति अंजन दास को नशे की गोलियां खिलाईं और फिर बेटे दीपक की मदद से उसकी हत्या कर दी। दोनों आरोपियों ने हत्या के बाद अपने घर में अंजन दास के शव के टुकड़े करके फ्रीज में छिपाकर रख लिए थे और फिर उन टुकड़ों को मौका पाकर अक्षरधाम समेत पांडव नगर इलाके में फेंक दिया करते थे। मामले में इस महिला और उसके बेटे को गिरफ्तार करने के अलावा लाश रखने वाला फ्रीज भी बरामद कर लिया गया है।

यहां इस बात को बता दें कि मुंबई की श्रद्धा वॉल्कर की लाश के टुकड़े भी अभी पिछले हफ्ते दिल्ली पुलिस ने बरामद किए थे। श्रद्धा की इस हत्या का इल्जाम दिल्ली के महरौली में एक फ्लैट में लिव इन में रह रही श्रद्धा के दोस्त आफताब पूनावाला पर लगा था, जिसके अनुसार आफताब ने 18 मई को श्रद्धा के साथ हुए विवाद के बाद उसकी हत्या कर श्रद्धा के शव के 35 टुकड़े कर फ्रिज में रखकर रोज अलग अलग इलाकों में एक टुकडा फेंककर लाश को ठिकाने लगाया था।

आफताब की 12 नवंबर को हुई गिरफ्तारी के बाद से ही दक्षिणपंथियों की साइबर टोली ने आफताब पूनावाला को मुसलमान (जबकि आफताब धर्म से पारसी था) बताते हुए इस जघन्य हत्याकांड के लिए उसके धर्म को ट्रोल करना शुरू कर दिया था, लेकिन उसी तरह से अंजन दास की हत्या के बाद हत्यारोपियों का धर्म अपनी मनपसंद का न होने के कारण इस साइबर टोली ने आश्चर्यजनक ढंग से चुप्पी साध ली है। जो बताती है कि इनकी किसी भी मृतक के प्रति न तो कोई संवेदना है और न ही महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध के कोई लेना देना।

Next Story

विविध