Top
समाज

पत्नी 3 से साल से नहीं लौट रही थी मायके से, दुखी पति ने उसी की साड़ी के फंदे से लटककर दे दी जान

Janjwar Desk
2 Feb 2021 5:25 PM GMT
पत्नी 3 से साल से नहीं लौट रही थी मायके से, दुखी पति ने उसी की साड़ी के फंदे से लटककर दे दी जान
x
प्रभाकर की शादी वर्ष 2015 में हुई थी और शादी के बाद से ही पति-पत्नी के बीच जब लड़ाई-झगड़ा होने लगा, बीवी उसे छोड़कर अपने मायके चली गयी, पिछले तीन साल से प्रभाकर अपनी पत्नी को वापस लाने के लिए कई बार अपने ससुराल गया, मगर वह हर बात साथ आने से कर देती थी इंकार...

जनज्वार, भोपाल। हर दिन ऐसी अनेक खबरें सामने आती रहती हैं जो आश्चर्यचकित करने के साथ—साथ बहुत दुखी भी करती हैं। ऐसा ही एक मामला मध्य प्रदेश से सामने आया है, जहां एक युवक प्रभाकर ने इसलिए आत्महत्या कर ली क्योंकि उसकी पत्नी तीन साल से मायके में थी और वापस नहीं लौट रही थी। दुखी युवक ने पत्नी की साड़ी के फंदे को ही अपने मौत का फंदा बनाकर जान दे दी।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की इस घटना में शुरुआती जानकारी के मुताबिक मरने वाले युवक प्रभाकर की शादी करीब चार साल पहले हुई थी। शादी के एक साल बाद ही उसकी पत्नी अपने मायके चली गई थी, जिस कारण पति-पत्नी के बीच विवाद चल रहा था। पत्नी की साड़ी को मौ मौत का फंदा बनाने से पहले युवक ने मौके पर एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें उसने लिखा है कि उसकी मौत के लिए कोई भी जिम्मेदार नहीं है, अपनी खुदकुशी के लिए उसने खुद को ही कारण माना है।

शुरुआती छानबीन के बाद पुलिस ने मीडिया को बताया, भोपाल के ओल्ड मिनाल में रहने वाला 33 साल का प्रभाकर एक ऐड एजेंसी में नौकरी करता था। उसकी शादी वर्ष 2015 में हुई थी और शादी के बाद से ही पति-पत्नी के बीच जब लड़ाई-झगड़ा होने लगा तो उसकी बीवी उसे छोड़कर अपने मायके चली गयी। पिछले तीन साल से प्रभाकर अपनी पत्नी को वापस लाने के लिए कई बार अपने ससुराल गया। उसने उसे समझाकर मायके से वापस लाने का काफी प्रयास किया, मगर उसकी बीवी हर बार आने से साफ मना कर देती थी।

प्रभाकर के परिजनों ने पुलिस को दिये बयान में कहा, बीवी के न आने के कारण प्रभाकर तनाव में रहने लगा था। रविवार 31 जनवरी की रात को खाना खाने के बाद प्रभाकर अपने कमरे में सोने चला गया था। दूसरे दिन उसे ड्यूटी जाना था, मगर दिन निकलने के बाद भी जब वह कमरे से बाहर नहीं आया, तो उसकी मां उसे बुलाने कमरे में गईं। वहां जाकर देखा तो प्रभाकर का शव फंदे पर झूल रहा था। उसने अपनी पत्नी की साड़ी को फांसी का फंदा बनाया था। परिजनों ने जब तक उसे फंदे से नीचे उतारा, तब तक उसकी मौत हो चुकी थी।

इस घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची, जहां उसने एक सुसाइड नोट बरामद किया। सुसाइड नोट में प्रभाकर ने खुद को ही अपनी खुदकुशी के लिए जिम्मेदार माना था। उसने लिखा कि उसकी मौत के बाद पुलिस उसके परिजनों को किसी तरह से परेशान नहीं करे, क्योंकि उसकी मौत का किसी से कोई लेना देना नहीं है।

Next Story

विविध

Share it