सिक्योरिटी

देहरादून में लोन दिलाने के नाम पर BJP नेता अंतरिक्ष सैनी से 60 लाख की ठगी, गुजरात के गैंग ने बनाया शिकार

Janjwar Desk
29 Nov 2022 11:26 AM GMT
Job Fraud : थाइलैंड और दुबई में मोटी सैलेरी का लालच, बंधक बनाकर करवा रहे मजदूरी, IT युवाओं के लिए एडवाइजरी जारी
x

Job Fraud : थाइलैंड और दुबई में मोटी सैलेरी का लालच, बंधक बनाकर करवा रहे मजदूरी, IT युवाओं के लिए एडवाइजरी जारी

पानी सिर के ऊपर से गुजरता देख अंतरिक्ष सैनी ने मामले की शिकायत पुलिस को की, लेकिन पुलिस ने उनकी कोई सुनवाई ही नहीं की....

देहरादून। गुजरात और दिल्ली के ठगों ने मिलकर होटल निर्माण के लिए लोन दिलाने के नाम पर भाजपा नेता डॉ. अंतरिक्ष सैनी को 60 लाख रुपये का चूना लगा दिया। डॉ. सैनी को दिल्ली और गुजरात के गैंग ने जिस घटना में अलग-अलग शिकार बनाकर यह ठगी की, उस मामले में उत्तराखण्ड में अपनी ही सरकार होने के बाद भी वह पुलिस में मुकदमा दर्ज नहीं करा पाए।

थक हारकर भाजपा नेता ने जब कोर्ट में गुहार लगाई तो उसके बाद न्यायालय के आदेश पर डालनवाला पुलिस ने मामले में यह दो मुकदमे दर्ज किए हैं। इंस्पेक्टर डालनवाला नंद किशोर भट्ट ने बताया है कि दोनों मुकदमों में जांच की जा रही है। डॉ. सैनी से ट्रांजेक्शन संबंधी दस्तावेज मांगे गए हैं।

जानकारी के अनुसार डॉ. अंतरिक्ष सैनी देहरादून के खाबड़वाला में संतला देवी रिजॉर्ट बनवा रहे हैं। इसके लिए उन्हें लोन की जरूरत थी। डॉ. सैनी के सीए मोहित जैन ने उन्हें बताया कि बडोदरा, गुजरात निवासी सुदामा राम और महेश शर्मा उनके मित्र हैं। यह लोग प्राइवेट फंडिंग करते हैं। पैसों की जरूरत को देखते हुए भाजपा नेता ने जब इनसे संपर्क किया तो इन दोनों ने भाजपा नेता सैनी को अक्तूबर 2019 में बडोदरा बुला लिया। यहां इन्होंने शर्मा के घर पर सैनी के निर्माणाधीन रिजॉर्ट के दस्तावेज देखकर फंड देने की मंजूरी देते हुए उन्हें दिल्ली पहुंचने के लिए कहा।

इसके बाद की कहानी में रणबीर शर्मा नाम के एक व्यक्ति की एंट्री होती है, जो फंड दिलाने की पूरी कार्रवाई करवाता है। इस कार्यवाही के बाद ठगी के यह खिलाड़ी सैनी को अपनी मनमाफिक पिच पर लाकर दिए जाने वाले लोन की सिक्योरिटी के रूप में 40 लाख रुपये मांगने लगे। डॉ. सैनी ने भरोसा करते हुए इन्हें 39.85 लाख का भुगतान कर दिया। यह रकम महेश शर्मा, रणबीर शर्मा और दिनेश पटेल ने ली। इसके बाद इन्होंने अपने मोबाइल बंद कर लिए। भाजपा नेता की कई कोशिशों के बाद भी उनका इनसे संपर्क नहीं हो पाया।

पता नहीं ठगों को भाजपा नेता की जरूरतों की सूंघ लगी या कुछ और मामला बना। एक तरफ जहां भाजपा नेता चालीस लाख गंवाकर इन लोगों की तलाश में लगे थे तो इसी समय ठगों की एक अन्य टीम इन्हें दुबारा चूना लगाने के मकसद से अपनी योजना को अंतिम रूप दे रही थी। इस बार ठगी का सबब बना जैंतनवाला में बन रहा भाजपा नेता का होटल।

इस होटल के लोन के लिए भी वर्ष 2020 में डॉ. सैनी की श्वेता शर्मा नाम की महिला से मुलाकात हुई। उसने खुद को महाराष्ट्र के एक बैंक का कर्मचारी बताया। इस श्वेता शर्मा ने अनुभव मित्तल, पंकज जैन और अफसर अली से अपनी जान-पहचान बताते हुए कहा कि यह सभी प्राइवेट फंडिंग करते हैं। इन लोगों की ओर से भाजपा नेता को होटल के लिए इस बार 80 करोड़ रुपये लोन दिलाने का झांसा दिया गया। 12 दिसंबर 2020 को सभी लोग साइट विजिट के लिए दून आए और डॉ. सैनी के खर्च पर ही होटल में ठहरे। सिक्योरिटी के रूप में 30 लाख रुपये मांगे। डॉ. सैनी ने 20 लाख रुपये आरोपियों को फिर दे दिए। पैसे मिलते ही यह लोग गधे के सिर के सींग की तरह लापता हो गए।

दो बार ठगी का शिकार होने के बाद कुछ समय तो भाजपा नेता अंतरिक्ष सैनी पैसे वापसी की उम्मीद में चुप रहे। पानी सिर के ऊपर से गुजरता देख उन्होंने मामले की शिकायत पुलिस को की, लेकिन पुलिस ने उनकी कोई सुनवाई ही नहीं की। इसके बाद लुटे-पिटे भाजपा नेता ने कोर्ट की राह पकड़ी, जिसके बाद कोर्ट के आदेश पर देहरादून के थाना डालनवाला में मुकदमा दर्ज अब इसकी जांच शुरू की जा रही है।

Next Story

विविध