Top stories

Rakesh Jhunjhunwala : एंकर ने पूछा सवाल, आपकी PM से क्या बात हुई? जवाब में शेयर दलाल ने पत्नी से कर दी मोदी की तुलना

Janjwar Desk
8 Oct 2021 3:10 PM GMT
dilli news
x

(राकेश झुनझुनवाला के साथ खड़ी मुलाकात में फोटो खिंचवाते पीएम मोदी)

Rakesh Jhunjhunwala : दरअसल राकेश झुनझुनवाला इनवेस्टर होने के साथ ही लॉबिंग की दुनिया के बड़े खिलाड़ी है ओर दुनिया के चंद देशो मे से एक अमेरिका है जहाँ लॉबिंग को कानूनी मान्यता है...

Rakesh Jhunjhunwala (जनज्वार) : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की कल पर्सों में एक तस्वीर वायरल हुई थी। इस तस्वीर में पीएम के साथ एक महिला थी तो सामने एक तगड़ा सा सख्श कुर्सी डालकर बैठा है। यह सख्श कोई और नहीं बल्कि शेयर मार्केट के सबसे बड़े दलाल राकेश झुनझुनवाला हैं। झुनझुनवाला के सामने देश के पीएम का हाथ बांधकर खड़े होना हम नीचे बताएंगे।

उससे पहले यह सुनिए की आज शुक्रवार 8 अक्टूबर को दलाल राकेश झुनझुनवाला का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एंकर झुनझुनवाला से सवाल करता है कि आप पीएम मोदी से मिले तो आपकी क्या बातचीत हुई? एंकर को तुरत जवाब मिला की सुहागरात में पत्नी से क्या बात होती है, बताता है कोई। भले ही मजाक हो लेकिन देश के पीएम पर यह टिप्पणी जरूर बड़ी है।

अब यह भी समझ लीजिए की मोदी झुनझुनवाला के आगे हांथ बांधकर क्यों खड़े हैं। वरिष्ठ पत्रकार गिरीश मालवीय लिखते हैं, '75 सालो के स्वतंत्र भारत के इतिहास में पहली बार किसी प्रधानमंत्री ने स्टॉक मार्केट इन्वेस्टर से आधिकारिक रूप से मुलाकात की है। दरअसल राकेश झुनझुनवाला इनवेस्टर होने के साथ ही लॉबिंग की दुनिया के बड़े खिलाड़ी है ओर दुनिया के चंद देशो मे से एक अमेरिका है जहाँ लॉबिंग को कानूनी मान्यता है।

आपको याद होगा कि पिछले महीने में मोदी ने अमेरिका यात्रा की है, अमेरिका दौरा राजनीतिक रूप से तो असफल रहा है लेकिन वहाँ उन्होंने 5 प्रमुख कम्पनियो के CEO से मुलाकात की थी, इन कंपनियों में सबसे कम चर्चा ब्लैकस्टोन की हुई थी लेकिन हमारी नजर में ब्लैकस्टोन भारत मे बड़ा दांव खेलने की तैयारी में है

मोदी ने वहाँ ब्लैकस्टोन के सीईओ,स्टीफन ए श्वार्जमैन से मुलाकात की थी इस मुलाकात के बारे में जरा सी खबर थी कि भारत में चल रही नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन परियोजनाओं में निवेश के अवसरों पर चर्चा की है, यह बहुत बड़ा संकेत है कि आने वाले समय मे क्या होने जा रहा है।

ब्लैकस्टोन कोई छोटी मोटी कम्पनी नही है वह दुनिया की सबसे बड़ी प्राइवेट इक्विटी फर्म है ओर वह दुनिया के सबसे बड़े संपत्ति मालिकों में से भी एक है। कुछ सालों से ब्लैकस्टोन भारत मे रियल एस्टेट, वेयरहाउसिंग और लॉजिस्टिक्स सेगमेंट में भारी निवेश कर रहा है।

पिछले कुछ महीनों में ब्लैकस्टोन ने भारत में कई डील किए हैं. उसमें पीरामल एंटरप्राइजेज लिमिटेड की ग्लास यूनिट को एक्वायर किया है और डेवलपर प्रेस्टिज एस्टेट्स प्रोजेक्ट्स लिमिटेड से रीयल एस्टेट एसेट्स को भी एक्वायर किया है. इसके अलावा देश की सबसे बड़ी हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों में शुमार Aadhaar Housing Finance Ltd. को भी ब्लैकस्टोन ने एक्वायर (मेजॉरिटी शेयरहोल्डिंग) कर लिया है

आधार हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड में ब्लैक स्टोन ने 97.7% हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया है, जिसमें मौजूदा नियंत्रित शेयरधारकों, वधावन ग्लोबल कैपिटल लिमिटेड (WGC) और दीवान हाउसिंग लिमिटेड (DHFL) द्वारा पूरी हिस्सेदारी शामिल है।

यह वही वधावन है जिन्होंने PMC बैंक घोटाला किया है DHFL को डुबाने में भी इन्ही का हाथ रहा था साफ है कि जब ऐसे सौदे ब्लैक स्टोन कर रहा है तो उसे किसी न किसी भारतीय सरपरस्त की जरूरत होगी, ओर राकेश झुनझुनवाला इस रोल में पूरे फिट बैठ रहे अगले महीने में आधार हाउसिंग फाइनेंस का रू.7,500 करोड़ का IPO आने वाला है इसके अलावा पॉलिसी बाज़ार (रू.4,000 करोड़), एपटस हाउसिंग फाइनेंस (रू.3,000 करोड़), स्टार हेल्थ इंश्योरेंस (रू.2,000 करोड़), आदित्य बिड़ला सन लाइफ एएमसी (रू.1,500-2,000 करोड़) आरोहण फाइनेंशियल सर्विसेज (रू.1,800 करोड़), फ्यूजन माइक्रोफाइनेंस (रू.1,700 करोड़), फिनकेयर स्मॉल फाइनेंस बैंक (रू.1,330 करोड़), तमिलनाडु मर्केंटाइल बैंक (रू.1,000-1,300 करोड़), मेडी असिस्ट (रू.840 करोड़) और जन स्मॉल फाइनेंस बैंक (रू.700 करोड़), के भी IPO आ रहे हैं, इसलिए मोदी शेयर बाजार की एक बुलिश पर्सनालिटी को प्रमोट कर रहे हैं ताकि विकास का बुलबुला बनता हुआ दिखे।

ब्लैकस्टोन ग्रुप इंक ने एक भारतीय डेवलपर की दो इकाइयों का अधिग्रहण करने के लिए एक सौदा किया है जिसमे सिंगापुर सॉवरेन वेल्थ फंड जीआईसी पीटीई लिमिटेड और राकेश झुनझुनवाला का भी इन्वेस्टमेंट है यानी अंदर ही अंदर खिचड़ी पक रही है। राकेश झुनझुनवाला के साथ फोटो खिंचवा कर मोदी अमेरिकी इन्वेस्टमेंट कम्पनियो को ग्रीन सिग्नल देना चाहते हैं।'

Next Story

विविध