Up Election 2022

Varanasi News UP Election 2022 : चुनाव प्रचार का अनोखा तरीका, टैटू गुदवाकर नंगे बदन प्रचार कर रहे समर्थक

Janjwar Desk
17 Feb 2022 2:46 PM GMT
Varansi News UP Election 2022 : चुनाव प्रचार का अनोखा तरीका, टैटू गुदवाकर नंगे बदन प्रचार कर रहे समर्थक
x

(सपा समर्थक विनोद जायसवाल की फाइल फोटो)

Varanasi News UP Election 2022 : जायसवाल बड़ेही उत्साह और साफगोई के साथ कहते हैं कि 'वह समाजवादी पार्टी के समर्थक ही नहीं, बल्कि उनके स्टार प्रचारक भी है....

वाराणसी से संतोष देव गिरि की रिपोर्ट

Varanasi News UP Election 2022 : चुनाव आयोग की चाबुक से बचने और लोगों को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों ने प्रचार के भी अनोखे तरीके अपनाने शुरू कर दिए हैं। प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varansi) में सत्ताधारी भाजपा (BJP) अपने गढ़ को बचाने के लिए जी तोड़ मेहनत कर रही है तो वहीं दूसरी ओर समाजवादी नेतृत्व (Samajwadi Party) भाजपा के इस गढ़ में अपने पैर जमाने के प्रयासों में जुटा हुआ है।

गुरुवार को नामांकन के आखिरी दिन वाराणसी के सर्किट हाउस के समीप एक व्यक्ति जो नंगे बदन दिखाई दिया। उसने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav), उनकी पत्नी डिंपल यादव व पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के नामों के साथ-साथ उनके फोटो को पूरे बदन पर गुदवाया हुआ था। वह व्यक्ति बदन के आगे और पीछे गुदवा कर चुनाव प्रचार के लिए घूमता हुआ नजर आया, जो ना केवल लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बना रहा, बल्कि समाजवादी पार्टी का अनूठे ढंग से प्रचार करता हुआ भी नजर आया।

यह व्यक्ति कोई और नहीं बल्कि वाराणसी जिले के अजगरा विधानसभा क्षेत्र के चोलापुर थाना अंतर्गत आयर बाजार के विनोद जायसवाल हैं। जो व्यापारी और समाजवादी पार्टी के धुर समर्थक भी हैंं। समाजवादी पार्टी के प्रति उनके समर्पण और निष्ठा का आंंकलन इसी से किया जा सकता है कि उन्होंने अपने पूरे बदन पर मसलन, हाथ, पैर, पीठ से लेकर शरीर के अन्य भागों पर भी समाजवादी पार्टी के नारों के अलावा सपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे मुलायम सिंह यादव, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव तथा उनकी पत्नी डिंपल यादव के नामों के साथ-साथ फोटो को भी बाकायदा गोदने से गुदवाया हुआ है।

'जनज्वार' से बातचीत के दौरान विनोद जायसवाल बड़ेही उत्साह और साफगोई के साथ कहते हैं कि 'वह समाजवादी पार्टी के समर्थक ही नहीं, बल्कि उन के स्टार प्रचारक भी है।' यह अलग बात है कि समाजवादी पार्टी नेतृत्व ने उन्हें अपने स्टार प्रचारकों की सूची में नहीं शामिल किया है फिर भी वह पूरे उत्साह के साथ अपने आप को समाजवादी पार्टी का स्टार प्रचारक बताते हैं।

क्या आपको इसके एवज में कुछ पारश्रमिक पार्टी द्वारा दिया जाता है इस सवाल पर वह बड़े ही बेबाकी से कहते हैं कि यह मेरी अपनी बाइक है और तेल भी मैं अपने पॉकेट से लगाता हूं। मुझे कोई पारश्रमिक नहीं मिलता, ना मुझे चाहिए।

Next Story

विविध