विमर्श

Who is Munawar Faruqui? कभी बर्तन की दुकान पर काम किया, ग्राफिक्स डिजाइनर से ऐसे आया कॉमेडी की दुनिया में, अब कहा अलविदा

Janjwar Desk
1 Dec 2021 4:21 AM GMT
Who is Munawar Faruqui? कभी बर्तन की दुकान पर काम किया, ग्राफिक्स डिजाइनर से ऐसे आया कॉमेडी की दुनिया में, अब कहा अलविदा
x
Who is Munawar Faruqui? स्टैंडअप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी साल 2021 की शुरुआत से ही विवादों में गिरते रहे हैं। हिंदू देवी देवताओं और राजनेताओं पर अपमानजनक टिप्पणियों और बेंगलुरु के गुड शेफर्ड ऑडिटोरियम में होने वाले उनके शो को बेंगलुरु पुलिस द्वारा कैंसिल करवाने के बाद 28 नवंबर को सोशल मीडिया पर मुनव्वर फारूकी के कॉमेडी छोड़ने के पोस्ट के बाद भी वे लगातार सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहे हैं।

मोना सिंह की रिपोर्ट

Who is Munawar Faruqui? स्टैंडअप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी साल 2021 की शुरुआत से ही विवादों में गिरते रहे हैं। हिंदू देवी देवताओं और राजनेताओं पर अपमानजनक टिप्पणियों और बेंगलुरु के गुड शेफर्ड ऑडिटोरियम में होने वाले उनके शो को बेंगलुरु पुलिस द्वारा कैंसिल करवाने के बाद 28 नवंबर को सोशल मीडिया पर मुनव्वर फारूकी के कॉमेडी छोड़ने के पोस्ट के बाद भी वे लगातार सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहे हैं। वे लगातार सुर्खियों में बने हुए हैं। आइए जानते हैं कौन हैं मुनव्वर फारूकी और क्या है पूरा मामला?

जेल की हवा भी खा चुके हैं मुनव्वर फारूकी

मुनव्वर फारूकी मूलतः गुजरात के रहने वाले हैं। पिछले विवाद का मामला 1 जनवरी 2021 का है। दरअसल, मध्य प्रदेश के इंदौर में एक कैफे शॉप एरिया में शो हो रहा था। इस शो में हिंदू देवी-देवताओं खासकर श्रीराम और माता सीता पर उनके अपमानजनक टिप्पणी और केंद्रीय मंत्री अमित शाह को गोधरा नरसंहार का संचालक बताते हुए मजाक उड़ाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

यह शिकायत स्थानीय विधायक मालिनी सिंह के बेटे एकलव्य सिंह और जो हिंदुत्व समूह हिंद रक्षक संगठन के प्रमुख ने की थी। उन्हें गिरफ्तार इंदौर के तुकगंज पुलिस स्टेशन ले जाया गया था। करीब 1 महीने बाद सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर उन्हें रिहा कर दिया गया था।

फारूकी की गिरफ्तारी के बाद उनका इंदौर में हुए इस शो का वीडियो सामने आया था। जिसमें वह कह रहे थे, मेरा पिया घर आया ओ राम जी राम जी डोंट गिव अप...... अबाउट पिया सुन, राम जी कहते हैं कि मैं खुद 14 साल से घर नहीं गया, अगर सीता ने सुन लिया तो वह शक करेगी। सीता को तो माधुरी पर पहले से ही शक है वह गाना है न, तेरा करूं गिन गिन इंतजार... उसे लग रहा है कि माधुरी बनवास गिन रही है और 14 पर आकर रुक गई है।


भगवान को अपमानित करने के लिए मांगनी पड़ी माफी

मुनव्वर का एक और विवादित मामला है। ये मामला 2020 में यूट्यूब पर भी एक वीडियो अपलोड करने को लेकर था। ये वीडियो सोशल मीडिया पर जबरदस्त रूप से वायरल हुआ था। वीडियो में हिंदू देवी देवताओं भगवान राम और सीता का मजाक उड़ाते नजर आ रहे हैं। इस शादी में गोधरा कांड 2002 की बात करते हुए कॉमेडियन ने नरसंहार को एक काल्पनिक फिल्म बताया था। जिसे अमित शाह द्वारा निर्देशित किया गया और आरएसएस द्वारा निर्मित किया गया था। उनके इस वीडियो को 23 मिलियन (230 लाख) से अधिक बार देखा जा चुका है।

शिवसेना के पूर्व सदस्य और हिंदुत्व कार्यकर्ता रमेश सोलंकी द्वारा मुंबई पुलिस ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई थी। उन्हें अरेस्ट करने की मांग की गई थी। इसके बाद ट्विटर पर काफी ट्रोल हुए थे। बाद में उन्होंने लोगों की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के लिए माफी मांगी थी।

ये मुन्नवर फारूकी है कौन ?

मुनव्वर फारूकी का जन्म 28 जनवरी 1992 में गुजरात के जूनागढ़ में हुआ था। फारूकी एक भारतीय स्टैंड अप कॉमेडियन है और एक मुस्लिम परिवार से ताल्लुक रखते हैं। वह एक यूट्यूब इंस्टाग्राम स्टार गायक और कवि भी है। उनका पूरा नाम मुनव्वर इकबाल फारूकी है। फारूकी की एक बहन भी है, जिनका नाम शबाना फारूकी है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस कॉमेडियन का परिवार साल 2002 में हुए गुजरात दंगों का शिकार हुआ था। दंगों के दौरान उनका घर जला दिया गया था। बाद में मुनव्वर का परिवार 2007 में मुंबई के डोंगरी में आकर बस गया। लगभग 17 वर्ष की उम्र में उनके पिता की तबीयत खराब रहने लगी और मुनव्वर पर ही परिवार चलाने की जिम्मेदारी आ गई।

परिवार का पेट भरने के लिए वह बर्तन की दुकान पर काम करने लगे थे। इस मुश्किल दौर में भी मुनव्वर फारूकी ने अपनी पढ़ाई नहीं छोड़ी। उन्होंने ग्राफिक डिजाइनिंग का कोर्स किया और ग्राफिक की दुनिया में कार्यरत हो गए। यहीं पर काम करते हुए उन्हें कॉमेडी के अपने टैलेंट के बारे में पता चला और कॉमेडी को अपना मुख्य कैरियर बनाने का निर्णय लिया।

साल 2018 से उन्होंने कॉमेडी पर फोकस किया। कॉमेडी शो करने लगे और जनता के बीच अपनी खास पहचान और पकड़ बनाने लगे। मुनव्वर को खासी लोकप्रियता उनके नागपाड़ा राइडर जैसे स्टैंडअप कॉमेडी शो से मिली थी। फैंस के बीच में बहुत लोकप्रिय हैं।

उन्होंने 2018 से स्टैंडअप कॉमेडी शुरू की और 2020 में अपना यूट्यूब चैनल शुरू किया। मुनव्वर फारूकी के नाम से यूट्यूब चैनल है। यह अपने कॉमेडी शो यूट्यूब से अपलोड करते हैं और एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस चैनल के माध्यम से वह लगभग 1.5 लाख रुपये हर महीने कमा लेते हैं। इंस्टाग्राम मुनव्वर फारूकी के लगभग एक लाख 54 हजार फॉलोवर्स है। ट्विटर पर 7492 फॉलोवर्स हैं। उनके यूट्यूब वीडियो ज्यादातर हिंदू भगवान और राजनीतिक नेता जैसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार के अन्य राजनेताओं से संबंधित हैं। धर्म और राजनीति पर विवादित टिप्पणी के मामले अक्सर इस कॉमेडियन को विवादों में डालती आई है।

एक और वीडियो में वो एनआरसी यानी नेशनल रजिस्टर आफ सिटीजंस और दिल्ली दंगों के बारे में बात कर रहे हैं। दरअसल, 2020 में सीएए का विरोध हुआ था। उसी को लेकर भी एक विवादित वीडियो बनाया था। इसके अलावा, मुनव्वर फारूकी ने 2019 में अपने एक कार्यक्रम के तहत डोंगरी टू नो व्हेयर के साथ पूरे भारत का दौरा किया था। वह कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान अपना पहला गीत 'जवाब' जारी किया था।

सोशल मीडिया पर कॉमेडी छोड़ने का दिया संकेत

28 नवंबर को बेंगलुरु में होने वाले शो के कैंसिल होने के बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया। इस पोस्ट में लिखा है कि नफरत जीत गई आर्टिस्ट हार गया। इसके बाद कई लोगों और फिल्म सेलिब्रिटी ने उनके समर्थन में पोस्ट किया कि उनके मुस्लिम होने की वजह से ही उनके साथ ऐसा हो रहा है, जबकि कुछ लोगों ने पलटवार करते हुए जवाब दिया कि कादर खान, महमूद और जाकिर खान जैसे कलाकार भी मुस्लिम ही थे। जबकि उन्होंने विवाद रहित कॉमेडी की थी और उनकी कॉमेडी पर कभी किसी ने सवाल नहीं उठाया था।

मुनव्वर फारूकी के अनुसार पिछले 2 महीनों में धमकियों और पुलिस की मिलीभगत की वजह से उनके लगभग 12 कॉमेडी शो कैंसिल हो चुके हैं। इसलिए अब उन्होंने कॉमेडी छोड़ने का फैसला किया। उन्होंने अपनी पोस्ट में यह भी कहा कि मेरा काम हो गया, अलविदा।

Next Story

विविध

Share it