दुनिया

Afghan Mosque Blast: अफगानिस्तान में जुमे की नमाज के दौरान मस्जिद में ब्लास्ट, 33 की मौत, 43 घायल

Janjwar Desk
22 April 2022 5:46 PM GMT
Afghan Mosque Blast: अफगानिस्तान में जुमे की नमाज के दौरान मस्जिद में ब्लास्ट, 33 की मौत, 43 घायल
x

Afghan Mosque Blast: अफगानिस्तान में जुमे की नमाज के दौरान मस्जिद में ब्लास्ट, 33 की मौत, 43 घायल

Afghan Mosque Blast: अफगानिस्तान एक बार फिर बम धमाकों (Bomb Blasts) से दहल उठा है. खबर है कि अफगानिस्तान के कुंदुज प्रांत में मस्जिद में बड़ा बम धमाका हुआ है.

Afghan Mosque Blast: अफगानिस्तान एक बार फिर बम धमाकों (Bomb Blasts) से दहल उठा है. खबर है कि अफगानिस्तान के कुंदुज प्रांत में मस्जिद में बड़ा बम धमाका हुआ है. इस घटना में कम से कम 30 लोगों के मारे जाने की खबर है जबकि कई लोगों के घायल होने की सूचना है. प्रांतीय पुलिस प्रवक्ता ओबैदुल्लाह अबेदी ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया कि विस्फोट मावलवी सिकंदर मस्जिद में हुआ.विस्फोट के कारणों का खुलासा नहीं

प्रांतीय पुलिस प्रवक्ता ओबैदुल्लाह अबेदी ने कहा कि फिलहाल हमारे पास विस्फोट के प्रकार या हताहतों के बारे में कोई विवरण नहीं है. पास के जिला अस्पताल की एक नर्स ने कहा कि 30 से 40 पीड़ितों को भर्ती कराया गया है. इधर, इस्लामिक स्टेट (IS) से संबद्ध एक संगठन ने अफगानिस्तान में शिया अल्पसंख्यक मुसलमानों को निशाना बनाकर किये गये बम विस्फोटों की शुक्रवार को जिम्मेदारी ली.

गुरुवार को भी हुए थे बम धमाके

इससे पहले, अफगानिस्तान में बृहस्पतिवार को तीन घातक बम विस्फोट किये गये, जिनमें से एक विस्फोट उत्तरी मजार-ए-शरीफ स्थित शियाओं की मस्जिद में हुआ. अस्पताल के अधिकारियों का कहना है कि कम से कम 12 लोग मारे गए हैं और 40 से ज्यादा घायल हुए हैं. दूसरा बम काबुल में एक बाल विद्यालय के निकट सड़क किनारे फटा, जिसके कारण शिया बहुल क्षेत्र दश्त-ए-बारची के दो बच्चे घायल हो गये. तीसरा बम विस्फोट उत्तरी कुंदुज में हुआ, जिसमें 11 मैकेनिक की मौत हो गयी. ये मैकेनिक देश के तालिबानी शासन के लिए काम कर रहे थे.

SI-K की ओर से जारी किया गया बयान

बताया जा रहा है कि पिछले अगस्त में सत्ता पर काबिज होने के बाद से तालिबान शासन के समक्ष इस्लामिक स्टेट अर्थात आईएस-के संगठन एक चुनौती बनकर उभरा है. आईएस-के की ओर से शुक्रवार को जारी एक बयान में कहा गया है कि मजार-ए-शरीफ की साई दोकेन मस्जिद में तबाही मचाने वाला विस्फोटक उपकरण नमाज अता करने वाले श्रद्धालुओं के बीच रखे गए एक बैग में छुपाया गया था. जैसे ही नमाजियों ने घुटने के बल बैठकर नमाज पढ़ना शुरू किया, बम विस्फोट हो गया. आईएस-के बयान में कहा गया है कि जब मस्जिद नमाजियों से भरी थी, तभी दूर बैठकर विस्फोट किया गया.

Next Story