दुनिया

Kim Jong Un News: नॉर्थ कोरिया में लोगों के हंसने पर लगा बैन, जानिए इस तालिबानी फरमान के पीछे की वजह

Janjwar Desk
17 Dec 2021 8:15 AM GMT
उत्तर कोरिया में लोगों के हंसने या खुश होने पर लगा बैन
x

(उत्तर कोरिया में लोगों के हंसने या खुश होने पर लगा बैन)

Kim Jong Un News: उत्तर कोरिया सरकार ने एक अजीबोगरीब फरमान अपने लोगों को सुनाया है। यहां के लोगों को 11 दिनों तक हंसने और शराब पीने पर बैन लगा दिया गया है...

New Delhi: खुश होना, रोना या गुस्सा करना, किसी भी इंसान की अपनी निजी प्रतिक्रिया है। मगर, आप कैसा महसूस करेंगे जब आपके हंसने, रोने या दुखी होने पर सरकार का कंट्रोल हो जाए। सरकार इजाजत देगी तो जनता हंसेगी या दुखी रहेगी। जी हां, ऐसा ही एक अजीबोगरीब फरमान उत्तर कोरिया सरकार ने अपने लोगों को सुनाया है। उत्तर कोरिया (North Korea) में लोगों के 11 दिनों तक हंसने और शराब पीने पर बैन (Laughing ban in North Korea) लगा दिया गया है, क्योंकि इस साल पूर्व नेता किम जोंग इल (Kim Jong Il) की मृत्यु की दसवीं वर्षगांठ है। सरकारी अधिकारियों ने जनता को आदेश दिया है कि जब तक उत्तर कोरिया उनकी मृत्यु का शोक मना रहा है, तब तक वे खुशी वाले कामों को न करें। किम जोंग इल ने साल 1994 से 2011 में अपनी मृत्यु तक उत्तर कोरिया पर शासन किया। इसके बाद उनके तीसरे और सबसे छोटे बेटे और वर्तमान नेता किम जोंग उन (Kim Jong Un) ने नॉर्थ कोरिया ने सत्ता संभाली।

जन्मदिन मनाने पर भी लगी पांबदी

उत्तर कोरिया (North Korea) अपने पूर्व राजा किम जोंग इल (Kim Jong Il) की बरसी पर 11 दिनों का शोक मना रहा है। पूर्व शासक के निधन के 10 साल पूरे होने पर उत्तर कोरिया की जनता पर 11 दिनों का हंसने का बैन लगाया गया है। इस दौरान देश के लोग न हंस सकते हैं और न ही शराब पी सकते हैं। सरकारी अधिकारियों ने किम जोंग इल के निधन की याद में लोगों को किसी भी तरह की खुशी न जाहिर करने का सख्त आदेश दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इस दौरान यहां के लोग अपना जन्मदिन तक नहीं मना सकते। पुलिस अधिकारियों को लोगों पर लगातार नजर रखने के लिए कहा गया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि वे पर्याप्त दुखी हैं।

मृत्यु के बाद भी रोने पर पहरा

किम जोंग इल (Kim Jong Il Death) की मृत्यु 17 दिसंबर को हुई थी इसलिए इस दिन कोई भी सामान खरीदने के लिए बाजार नहीं सकेगा। सूत्रों के मुताबिक इतिहास में जो लोग शोक के दौरान शराब का सेवन करते या खुशी मनाते पाए गए उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया और वैचारिक अपराधी के रूप में सजा दी गई। अधिकारी उन्हें पकड़कर ले गए और फिर वे दोबारा कभी नजर नहीं आए। रिपोर्ट के मुताबिक शोक के दौरान अगर किसी के परिवार में कोई निधन हो जाता है या कोई दुखकी खबर है, तब भी उसे जोर रोने की अनुमति नहीं होगी और वे शव को शोक खत्म होने के बाद ही बाहर ले जाने की अनुमति होगी।

गौरतलब है कि उत्तर कोरिया के क्रूर तानाशाह किम जोंग इल की मौत 17 दिसंबर 2011 को 69 साल की उम्र में हार्ट अटैक के कारण हुई थी। उन्होंने 17 साल तक उत्तरी कोरिया पर शासन किया। तानाशाह की मौत पर उत्तर कोरिया में हर साल शोक मनाया जाता है जो 10 दिनों का चलता है। इस साल मौत के 10 साल पूरे होने पर 11 दिनों के शोक का ऐलान किया गया होगा।


Next Story

विविध