दुनिया

Pakistan Political Crisis : शहबाज शरीफ चुने गए पीएम पद के लिए विपक्ष के संयुक्त उम्मीदवार, बिलावल भुट्टो जरदारी बन सकते हैं विदेश मंत्री

Janjwar Desk
11 April 2022 2:15 AM GMT
Pakistan Political Crisis : पाकिस्तान मुस्लिम ​लीग नवाज के नेता और भावी पीएम शहबाज शरीफ
x

Pakistan Political Crisis : पाकिस्तान मुस्लिम ​लीग नवाज के नेता और भावी पीएम शहबाज शरीफ।

Pakistan Political Crisis : पाकिस्तान नेशनल असेंबली में शहबाज शरीफ को सोमवार को अगला प्रधानमंत्री (Prime Minister) चुना जाएगा...

Pakistan Political Crisis : पाकिस्तान (Pakistan) में विपक्ष के नेता और संभावित प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ (Shahbaz Sharif) को विपक्ष ने नेशनल असेंबली में अपना संयुक्त नेता चुन लिया है। इसके बाद शहबाज शरीफ ने ट्वीट कर मीडिया, नागरिक समाज, वकीलों, अपने बड़े भाई नवाज शरीफ, आसिफ अली जरदारी, मौलाना फजल-उर-रहमान, बिलावल भुट्टो, खालिद मकबूल, खालिद मगसी, मोसिन डावर, अली वजीर, अमीर हैदर होती और सभी राजनीतिक नेताओं और कार्यकर्ताओं को विशेष धन्यवाद दिया है. उधर, इमरान खान की पार्टी पीटीआई (PTI) की ओर से शाह महमूद कुरैशी को अपना उम्मीदवार घोषित किया है.

खबरें आ रही है कि पाकिस्तान नेशनल असेंबली में शहबाज शरीफ को सोमवार को अगला प्रधानमंत्री (Prime Minister) चुना जाएगा. इस बीच नेशनल असेंबली (National Assembly) के इस अहम सत्र की अध्यक्षता कर रहे पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) के अयाज सादिक ने प्रधानमंत्री के चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की समय सीमा बढ़ाकर शाम 4 बजे तक कर दी थी. नए प्रधानमंत्री के चुनाव के लिए पाकिस्तान की संसद में अगली बैठक सोमवार को दोपहर दो बजे शुरू होगी।

वहीं दूसरी तरफ अविश्वास प्रस्ताव में हार के बाद प्रधानमंत्री पद की कुर्सी गंवा चुके इमरान खान के देश छोड़ने पर रोक लग गयी है. इस्लामाबाद हाईकोर्ट में इमरान खान के खिलाफ याचिका भी दायर की गई है. इमरान के अलावा फवाद चौधरी और शाह महमूद के खिलाफ भी याचिका दायर की गई है. तीनों का नाम एग्जिट कंट्रोल लिस्ट (ECL) लिस्ट में डाले जाने की मांग की गई है. इस याचिका पर भी 11 अप्रैल को हाईकोर्ट में सुनवाई होगी.

वहीं इमरान खान के करीबी रहे नेताओं पर भी शिकंजा कसता जा रहा है। पार्टी प्रवक्ता डॉ. अर्सलान खालिद के घर पर छापेमारी की गई है. इस दौरान उनके घरवालों के फोन छीन लिए गए थे. इमरान खान की पार्टी पीटीआई की ओरे से ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी गयी है।

आपको बता दें कि पाकिस्तान में इमरान खान देश के इतिहास में ऐसे पहले प्रधानमंत्री बन गए, जिन्हें अविश्वास प्रस्ताव में हार के बाद अपना पद गंवाना पड़ा है. अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग के समय 69 साल के इमरान खान नियाजी खुद सदन में मौजूद नहीं थे और उनकी पार्टी के सांसदों ने भी वोटिंग के दौरान सदन से वॉकआॅउट कर दिया था।

आपको बता दें कि शनिवार को शह और मात के लंबे खेल के बाद देर रात अविश्वास प्रस्ताव पर 342 सदस्यों की पाकिस्तान नेशनल असेंबली में वोट डाले गए थे। 174 सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया, इमरान खान को पद से हटाने के लिए सिर्फ 172 वोटों की जरूरत थी. गौरतलब है कि पाकिस्तान में देश की आजादी से लेकर आज तक किसी भी प्रधानमंत्री ने अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा नहीं किया है. इमरान खान नियाजी इस लिस्ट में सबसे ताजा नाम बन गए हैं। खबरें यह भी आ रही है कि बिलावल भुट्टो जरदारी पाकिस्तान पाकिस्तान की नई सरकार में विदेश मंत्री बनाए जा सकते हैं।

Next Story

विविध