Top
दुनिया

जानिए कौन हैं अमेरिका नए राष्ट्रपति जो बाइडेन, पढ़ें उनका पूरा राजनीतिक सफर

Janjwar Desk
7 Nov 2020 9:39 AM GMT
जानिए कौन हैं अमेरिका नए राष्ट्रपति जो बाइडेन, पढ़ें उनका पूरा राजनीतिक सफर
x
जो बाइडेन इस समय अगर अमेरिका के राष्ट्रपति बनते हैं तो वह अमेरिका के अबतक के सबसे उम्रदराज (78 वर्षीय) राष्ट्रपति होंगे लेकिन 1972 में जब बाइडेन सीनेट के लिए चुने गए थे तब वह सबसे कम उम्र में सीनेट चुने जाने वाले लोगों में से एक थे.....

जनज्वार। अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव 2020 में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन जीत के काफी करीब हैं, उन्हें अमेरिका का नया राष्ट्रपति बनने के 270 का जादुई आंकड़ा पार करना है। अगर वह यह कर पाते हैं तो वह संयुक्त राज्य अमेरिका के सबसे बड़े दफ्तर तक पहुंचने वाले 46वें राष्ट्रपति होंगे। माना जा रहा है कि जो बाइडेन के राष्ट्रपति बनने के बाद से एशिया पैसिफिक को लेकर उनकी नीतियों में बदलाव देखने को मिलेगा। आज हम जानेंगे जो बाइडेन का ये राष्ट्रपति उम्मीदवार बनने तक का सफर कैसा रहा, यहां तक पहुंचने के लिए उन्हें कितनी मेहनत करनी पड़ी।

जो बाइडेन का शुरूआती समय

जोसेफ रॉबिनेट बाइडेन जूनियर का जन्म 20 नवंबर 1942 को पेन्सिलवेनिया के स्क्रैंटन के एक सेंट मैरी अस्पताल में हुआ था। स्क्रैंटन पेन्सिलवेनिया का छठा सबसे बड़ा शहर माना जाता है। जो बाइडेन कैथोलिक परिवार से ताल्लुक रखते हैं, उनके दो भाई और एक बहन हैं। जो बाइडेन के पिता शुरू में धनी थे लेकिन जब बाइडेन का जन्म हुआ तब तक उन्हें कई कठिन आर्थिक परिस्थितियों का सामना करना पड़ा था। फिर बाइडेन का परिवार कई वर्षों तक बाइडेन के नाना के साथ रहा। 1950 के दशक में आर्थिक मंदी आ गयी और बाइडेन के पिता को काम नहीं मिल रहा था। 1953 की शुरूआत में परिवार डेलावेयर चला गया था। इसके बाद जोसेफ बाइडेन सीनियर यानि जो बाइडेन के पिता मध्यवर्गीय जीवन शैली को बनाए रखते हुए एक सफल प्रयुक्त कार विक्रेता बन गए।

सड़क हादसे में पत्नी और बेटी की मौत

जो बाइडेन इस समय अगर अमेरिका के राष्ट्रपति बनते हैं तो वह अमेरिका के अबतक के सबसे उम्रदराज (78 वर्षीय) राष्ट्रपति होंगे लेकिन 1972 में जब बाइडेन सीनेट के लिए चुने गए थे तब वह सबसे कम उम्र में सीनेट चुने जाने वाले लोगों में से एक थे। इसके बाद कुछ ही दिनों के बाद उनके परिवार के साथ एक दुखद हादसा हुआ जब एक कार दुर्घटना में उनकी पत्नी नीलिया और बेटी नाओमी की मौत हो गई। इस हादसे में उनका बेटा हंटर और ब्यू गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

बाइडेन ने अपने बेटों को देखने के लिए विलमिंगटन और वॉशिंगटन डीसी के बीच रोजाना एमट्रैक ट्रेन से सफर किया करते थे इसके चलते वह 'एमट्रैक जो' के नाम से भी काफी लोकप्रिय हुए। जो बाइडेन ने 5 साल तक अपनी बहन वैलेरी और उनके परिवार की मदद से ब्यू और हंटर को इकलौते पिता के तौर पर पालन-पोषण किया था।

बाइडेन के परिवार में हादसे यहीं नहीं रूके, साल 2015 में जब वह 46 साल के थे तब उनके बेटे ब्यू की ब्रेन कैंसर से मौत हो गई। वहीं उनके छोटे बेटे हंटर का एक वकील और लॉबिस्टर के रूप में करियर विवादों में रहा है। पहली पत्नी की मौत के पांच साल बाद बाइडेन ने फिर शादी का फैसला किया। उनकी दूसरी शादी जिल से हुई। उनकी एक बेटी एश्ली भी है जिसने साल 1981 में जन्म लिया था।

तीसरी बार राष्ट्रपति पद के मैदान में उतरे

बाइडेन अबतक डेलवेयर से 6 बार सीनेटर चुने जा चुके थे। 1988 में उन्होंने पहली बार खुद को डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में घोषित किया। 9 जून 1987 को उन्होंने राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में नामांकन भरा था। हालांकि तब उनपर साहित्यिक चोरी के आरोप लगे थे जिसके चलते उन्हें पीछे हटना पड़ा था। इसके बाद उन्होंने साल 2008 में दूसरी कोशिश की थी। 2020 के चुनाव में यह राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में यह उनकी तीसरी कोशिश है।

बाइडेन अमेरिका के 47वें उपराष्ट्रपति रह चुके हैं। उन्हें पूर्व राष्ट्रपति ओबामा के साथ काम करने का भी अनुभव है और दोनों नेता काफी करीबी माने जाते हैं। खुद ओबामा ने इन चुनावों उन्हें अगला राष्ट्रपति बनाए जाने का समर्थन किया है।


Next Story

विविध

Share it