अंधविश्वास

अंधविश्वास : MP में डायन होने के शक में भतीजे ने रेत दिया चाची का गला, लड़की ​की बीमारी के लिए बताया जा रहा था दोषी

Janjwar Desk
23 Oct 2021 4:23 AM GMT
अंधविश्वास : MP में डायन होने के शक में भतीजे ने रेत दिया चाची का गला, लड़की ​की बीमारी के लिए बताया जा रहा था दोषी
x

डायन ठहराकर महिलाओं के उत्पीड़न की घटनायें हमारे समाज में हो चुकी हैं आम (प्रतीकात्मक फोटो)

परिवार के बीच एक लड़की की बीमारी को लेकर तनाव था, परिजनों को शक था कि पीड़ित की चाची डायन है जिसके कारण लड़की बीमार रहती है और ठीक नहीं हो रही...

Blind Faith: मध्यप्रदेश के मंदसौर में अंधविश्वास (Superstition) के चलते भतीजे ने चाची की गला रेत कर हत्या कर दी। भतीजे विष्णु को 40 वर्षीय चाची बालाबाई के डायन होने का शक था। बताया जा रहा है कि मामला जमीनी विवाद से भी जुड़ा है। महिला के हत्या के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। पुलिस आरोपी भतीजे की तलाश में जुट गई है।

घटना मंध्य प्रदेश (Madhya Pradesh)के मंदसौर स्थित शामगढ़ थाने की है। प्राप्त जानकारी के अनुसार परिवार के बीच एक लड़की की बीमारी को लेकर तनाव था। परिजनों को शक था कि पीड़ित की चाची डायन है जिसके कारण लड़की बीमार रहती है और ठीक नहीं हो रही। इसी के चलते विवाद शुरू हुआ और 22 वर्षीय भतीजे ने अपनी 40 वर्षीय चाची की चाकू से हत्या कर दी। वहीं, मृत महिला के बेटे गोविंद ने बताया कि विष्णु और उसका परिवार पुश्तैनी संपत्ति को लेकर भी अक्सर उनसे झगड़ा करते थे।

मामले के बारे में बताया जा रहा है कि मृतक महिला बाला बाई की हत्या उसके परिवार के लोगों के सामने ही की गई। इस दौरान उसका 17 वर्षीय बेटा भी घटनास्थल पर मौजूद था। महिला नया खुर्द स्थित अपने गांव में घर में थी। तभी उसका भतीजा विष्णु वहां पहुंचा और बाला बाई से झगड़ने लगा। थोड़ी देर में झगड़े ने गंभीर रूप धारण कर लिया। तभी विष्णु के मां, बाप और पत्नी भी वहां पहुंच गई। उन लोगों ने बीच बचाव कर रहे महिला के बेटे गोविंद को पकड़ लिया। इसी बीच विष्णु घर के अंदर से धारदार चाकू लेकर आ गया और बाला बाई का गला रेत दिया। विष्णु ने इसके बाद महिला के बेटे गोविंद को भी मारने की कोशिश की, लेकिन गांव वालों ने उसे बचा लिया।

हत्या करने के बादल आरोपी ने महिला के शव को घर से 200 मीटर दूर ले जाकर झाड़ियों में फेंक दिया और फरार हो गया। शामगढ़ थाना के प्रभारी गोपाल सूर्यवंशी ने बताया कि बाला बाई को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन ज्यादा खून बहने की वजह से उसकी मौत हो चुकी थी। थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी विष्णु की संध्या के साथ कुछ दिन पहले ही शादी हुई थी। आरोपी की पत्नी संध्या को बाला बाई के डायन होने के शक था। संध्या को लगता था कि बाला बाई तंत्र-मंत्र करती है जिसका असर उसके घर पर पड़ता है। पुलिस ने प्रत्यक्षदर्शियों और ग्रामीणों के बयान दर्ज कर लिए हैं और मामले की जांच कर रही है।

महिला के शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद पुलिस ने उसे घरवालों को सौंप दिया, लेकिन वे आरोपी की गिरफ्तारी पर अड़ गए। उन्होंने शव के साथ मुख्य सड़क पर जाम कर दिया। पुलिस ने उन्हें बताया कि बाकी तभी आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं। विष्णु फरार है और पुलिस की टीमें उसकी तलाश कर रही हैं।


Next Story
Share it