समाज

गुजरात में दलित आर्मी जवान के घोड़ी चढ़ने पर हुआ विवाद, ऊंची जाति के लोगों ने शादी में किया पथराव

Vikash Rana
17 Feb 2020 12:42 PM GMT
गुजरात में दलित आर्मी जवान के घोड़ी चढ़ने पर हुआ विवाद, ऊंची जाति के लोगों ने शादी में किया पथराव
x

आकाश की शादी की पूरी तैयारी हो चुकी थी। बारात निकलते समय दूल्हा आकाश घोड़ी पर बैठना चाहता था। लेकिन ऊंची जाति के लोगों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया। विरोध के बावजूद जब दूल्हा घोड़ी चढ़ने लगा तो उन्होंने पथराव करना शुरू कर दिया...

जनज्वार। गुजरात के बनासकांठा से दलित युवक की शादी के दौरान दूल्हे को घोड़ी पर चढ़ने से रोकने और ऊंची जाति के लोगों के द्वारा शादी पर पथराव करने का मामला सामने आया है। घटना के बाद पुलिस की सुरक्षा के बीच दलित युवक की बारात को निकाल कर शादी करवाई गई है।

माचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक बनासकांठा के सांदीपाडा गांव में आकाश कोटडिया नाम के दलित युवक की शादी थी। आकाश आर्मी के जवान है। और जम्मू कश्मीर में तैनात है। वह कुछ दिन पहले छुट्टी लेकर शादी के लिए गांव आए थे। रविवार को उनकी शादी थी। जिलरे बाद गांव के ही कुछ ऊंची जाति के लोगों ने आकाश को शादी के दौरान घोड़ी पर चढ़ने से मना किया गया था।

संबंधित खबर: दलित दंपति की शादी को रोकने के लिए हिंदुओं ने मंदिर में लगाया ताला

नासकांठा दलित समाज के अध्यक्ष दलपत भाई भाटिया ने मामले पर बताया कि आकाश की शादी की पूरी तैयारी हो चुकी थी। बारात निकलते समय दूल्हा आकाश घोड़ी पर बैठना चाहता था। लेकिन ऊंची जाति के लोगों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया। विरोध के बावजूद जब दूल्हा घोड़ी चढ़ने लगा तो उन्होंने पथराव करना शुरू कर दिया। इस पथराव में एक 60 साल के बुजुर्ग और कुछ महिलाएं घायल हो गई। शादी में यह महिलाएं गरबा डांस कर रही थी। साथ ही डीजे साउंड सिस्टम को भी पथराव के दौरान नुकसान पहुंचा है।

मामले पर दलपत भाई आगे बताते है कि जिस घोड़ी में आकाश को ले जा रहे थे। वह एक ऊंची जाति के ठाकोर समाज की थी। जिसके कारण लोगों ने हमें जातिसूचक शब्द बोलना शुरू कर दिए। जिसके तुरंत बाद हम लोगों ने पुलिस को घटना की सूचना दी गई। पुलिस की सुरक्षा के बाद ही शादी संपन्न हो पाई है।

संबंधित खबर: जनज्वार खास : उत्तराखंड में दूसरी जाति-धर्म में शादी करने पर बेटियों को नाबालिग बता पति को जेल भेज रहे मां-बाप

मामले पर पालनपुर थाने का कहना है कि सांदीपाडा में सवर्ण जाति के लोगों के द्वारा दलित दूल्हे की बारात को रोकने का मामला हमारे सामने आया था। जिसके बाद मौके पर पहुंच कर पुलिस ने स्थिति को सामान्य करते हुए दूल्हे की बारात को निकाला। मामले पर दोषियों के खिलाफ एफआईआर की ली गई है। लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है।

Next Story

विविध

Share it