अंधविश्वास

'मैं काली मां का रूप हूँ, श्राप देकर अंधा कर दूंगी'..बिजली का बिल वसूलने आए कर्मचारी महिला से डरकर भागे

Janjwar Desk
28 Feb 2022 10:50 AM GMT
rajasthan crime
x

(मैं काली मां का रूप हूँ श्राप देकर अंधा कर दूंगी)

Bharatpur News: 'मैं काली मां का रूप हूं, बिजली कर्मचारी अगर कोई कार्रवाई करेंगे तो श्राप देकर सभी को अंधा कर दूंगी।' महिला की बात सुनकर बिजली विभाग के कर्मचारी भी सहम गए...

Bharatpur News: राजस्थान (Rajasthan) के जिला भरतपुर (Bharatpur) में किसानों से वसूली का एक और मामला सामने आया है। इस बार ये वसूली बैंक (Bank) की नहीं है। क्योंकि बैंक की तरफ से वसूली की किसी भी कार्रवाई पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने रोक लगा दी है। अब किसानों पर डिस्कॉम विभाग की वसूली का संकट आया है।

इस बीच भरतपुर में डिस्कॉम विभाग किसानों के बिजली कनेक्शन (Electricity Connection) काटने गांव में पहुंचा तो विभाग के कर्मचारियों को उल्टे पांव लौटना पड़ा। गांव की महिला ने कहा कि, 'मैं काली मां का रूप हूं, बिजली कर्मचारी अगर कोई कार्रवाई करेंगे तो श्राप देकर सभी को अंधा कर दूंगी।' महिला की ये बात सुनते ही विद्युत विभाग के कर्मचारी सकपका गये और उल्टे पांव लौट गए।

महिला बोली 'काली मां' हूँ मैं

दरअसल, गांव में बिजली बिलों की बकाया राशि वसूलने गए बिजली कर्मियों को एक महिला ने खुद को 'काली मां' बताकर डरा दिया। बिजली कर्मी डर भी गए और वसूली किए बिना ही लौट गए। हुआ यूं कि गांव में 40 लोगों पर बिजली बिल के 5 लाख रुपए बकाया हैं। डिस्कॉम के कर्मचारी रविवार सुबह गांव में इसकी वसूली करने के लिए पहुंचे तो किसानों ने आर्थिक तंगी का हवाला देकर मोहलत मांगी।

बात सुनकर सकपका गये कर्मचारी

डिस्कॉम की टीम मोहलत देने को राजी नहीं हुई और कनेक्शन काटने लगी। इस दौरान मौके पर भीड़ जमा हो गई। भीड़ में से अचानक गुड्डी नाम की महिला सिर हिलाती हुई बीच में आई और जमीन पर बैठ गई। सिर हिलाकर तरह-तरह के आसन करने लगी। बोली 'मैं काली मां का रूप हूं, बिजली कर्मचारी अगर कोई कार्रवाई करेंगे तो श्राप देकर सभी को अंधा कर दूंगी।' महिला की बात सुनकर बिजली विभाग के कर्मचारी भी सहम गए।

कितना बकाया है बिल?

गांव में बिजली का बिल जिन लोगों का बकाया है, उसमें गुड्डी का परिवार भी शामिल है। उसके परिवार पर एक साल के लगभग 40 हजार रुपए बकाया हैं। डिस्कॉम की टीम जैसे ही मौके से लौटी, महिला बिल्कुल सामान्य हो गई। हालांकि, पूर्व सरपंच इंद्रभान सिंह ने मौके पर पहुंचकर डिस्कॉम की टीम को विश्वास दिलाया कि ग्रामीण 10 दिन के भीतर बकाया राशि जमा करा देंगे।

Next Story

विविध