Top
राष्ट्रीय

किसानों को 'आतंकवादी' कहने को लेकर कंगना का यूटर्न, बोलीं-साबित हो गया तो छोड़ देंगी ट्विटर

Janjwar Desk
21 Sep 2020 1:58 PM GMT
किसानों को आतंकवादी कहने को लेकर कंगना का यूटर्न, बोलीं-साबित हो गया तो छोड़ देंगी ट्विटर
x

किसानों को 'आतंकवादी' कहने को लेकर कंगना रनौत का यूटर्न (File photo)

ट्विटर पर उन्हें ट्रोल किया जाने लगा था और सोशल मीडिया पर उनका विरोध हो रहा था, इसके बाद अब कंगना ने एक और ट्वीट कर यूटर्न लेते हुए कहा है कि उन्होंने कभी किसानों को आतंकवादी नहीं कहा और अगर कोई इसे साबित कर दे तो वे ट्विटर छोड़ देंगी....

जनज्वार। बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना राणावत अपने एक ट्वीट को लेकर फिर विवादों के घेरे में आ गईं हैं। आरोप है कि कृषि बिल के पास होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक ट्वीट को रीट्वीट करते हुए कंगना ने इस बिल के विरोध में प्रदर्शन करने वाले किसानों की तुलना सीएए प्रदर्शन से करते हुए उन्हें 'आतंकवादी' कह दिया था।

उसके बाद ट्विटर पर उन्हें ट्रोल किया जाने लगा था और सोशल मीडिया पर उनका विरोध हो रहा था। इसके बाद अब कंगना ने एक और ट्वीट कर यूटर्न लेते हुए कहा है कि उन्होंने कभी किसानों को आतंकवादी नहीं कहा और अगर कोई इसे साबित कर दे तो वे ट्विटर छोड़ देंगी।

जनज्वार ने भी कंगना के उस ट्वीट को लेकर प्रमुखता से खबर प्रकाशित की थी। कंगना ने लिखा 'जैसे श्री कृष्ण की नारायणी सेना थी, वैसे ही पप्पु की भी अपनी एक चंपू सेना है जो की सिर्फ़ अफ़वाहों के दम पे लड़ना जानती है, यह है मेरा अरिजिनल ट्वीट अगर कोई यह सिद्ध करदे की मैंने किसानों को आतंकी कहा, मैं माफ़ी माँगकर हमेशा केलिए ट्वीटर छोड़ दूँगी 🙏'


उल्लेखनीय है कि बिल पास होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस बिल को किसानों के लिए हितकारक बताया था। इसे लेकर उन्होंने कुछ ट्वीट भी किए थे। एक ट्वीट में पीएम मोदी ने लिखा था 'मैं पहले भी कह चुका हूं, एक बार फिर कहता हूं: MSP की व्यवस्था जारी रहेगी। सरकारी खरीद जारी रहेगी।..

उनके इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए कंगना रानौत ने लिखा था 'प्रधानमंत्री जी कोई सो रहा हो उसे जगाया जा सकता है, जिसे ग़लतफ़हमी हो उसे समझाया जा सकता है मगर जो सोने की ऐक्टिंग करे, नासमझने की ऐक्टिंग करे उसे आपके समझाने से क्या फ़र्क़ पड़ेगा? ये वही आतंकी हैं CAA से एक भी इंसान की सिटिज़ेन्शिप नहीं गयी मगर इन्होंने ख़ून की नदियाँ बहा दी।'





Next Story
Share it