Top
उत्तर प्रदेश

यूपी के कानपुर में फसल काटने गए किसान के घर लगी आग, 3 बच्चों की जलकर मौत

Prema Negi
19 April 2020 9:50 AM GMT
यूपी के कानपुर में फसल काटने गए किसान के घर लगी आग, 3 बच्चों की जलकर मौत
x

एक ही झटके में अपने 3 बच्चों को खोने वाला किसान दंपत्ति सदमे में है, घटनास्थल पर पहुंचे इंस्पेक्टर सच्चिदानंद का कहना है कि आग कैसे लगी इस बात की जांच जारी है....

जनज्वार, कानपुर। कानपुर के घाटमपुर में संदिग्ध परिस्थितियों में छप्परनुमा घर में आग लग गई। आग की चपेट में आने से किसान के 3 बच्चों की दर्दनाक मौत हो गयी और एक बच गया बच्चा भी गंभीर रूप से झुलस गया है।

ज 19 अप्रैल को यह घटना उस समय घटी, जब पति—पत्नी दोनों खेत में फसल काटने गए हुए थे। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया, जिसकी चपेट में किसान के चार मासूम बच्चे आ गए। चार में तीन की मौत हो गयी। मृतक बच्चों में गीता 4 वर्ष, सीता 4 वर्ष तथा गोपाल 3 वर्ष हैं।

यह भी पढ़ें : मेरठ के प्राइवेट अस्पताल ने अखबार में छपवाया मुस्लिमों का इलाज न करने वाला ​विज्ञापन, फिर मांगी माफी

जानकारी के अनुसार घाटमपुर कोतवाली क्षेत्र के गोपालपुर गांव में उस वक्त हाहाकार मच गया, जब गांव के बाहर बने एक कच्चे मकान में आग लग गई। झोपड़ी में आग लग जाने से उसमे फंसे 4 मासूमों में से तीन की मौत हो गई।

गौरतलब है कि घाटमपुर के गोपालपुर गांव में गांव के बाहर एक किसान परिवार कच्चा घर बनाकर रह रहा था। दोनों पति—पत्नी अपनी खड़ी फसल को काटने के लिए खेत पर गए हुए थे। सुबह लगभग दस बजे उन्हें गांव से कुछ शोर और उनके घर मे आग लगने की सूचने मिली। दोनों अपने घर भागकर आए। किसान दंपती जब घर पहुंचा तो अंदर झोपड़ी में सो रहे उनके बच्चे घर के पूरे समान सहित आग की चपेट में आ चुके थे। 3 वर्षीय गोपाल की बुरी तरह जलने से मौके पर ही मौत हो गई। दो 4 वर्षीय जुड़वां बेटियों और एक बेटे को अस्पताल ले जाया गया, वहां दो बच्चों को डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया।

यह भी पढ़ें- खुद को मुस्लिम बता थूककर कोरोना फैलाने की धमकी देने वाले तीनों युवक निकले हिंदू

स घटना की ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। किसान के एक पुत्र की मौके पर ही मौत हो गई, बच गये बच्चों को सीएचसी घाटमपुर प्राथमिक इलाज के लिए भेजा गया, जहां से उन्हें कानपुर रेफर कर दिया गया।

ग्रामीणों के मुताबिक आग की सूचना मिलते ही उन्होंने ट्यूबवेल से पानी डालकर किसी तरह आग पर काबू पाया। वहीं सूचना पर पहुंची घाटमपुर पुलिस ने तत्काल फायर ब्रिगेड को फोन कर बुलवाया। जब तक फायर की गाड़ी मौके पर पहुंचती तब तक बच्चों सहित घर का सारा सामान जलकर खाक हो चुका था।

यह भी पढ़ें- कोरोना की महामारी के बीच पिछले 2 हफ्तों में पंजाब के 1800 NRI गए विदेश

मामले की जांच कर रही पुलिस के मुताबिक, 3 वर्षीय गोपाल की आग में जलने से मौके पर ही मौत हो गई और 4 वर्षीय गीता ने इलाज के लिए ले जाते हुए रास्ते में ही दम तोड़ दिया, वहीं सीता की इलाज के दौरान मौत हो गई। सूचना मिलते ही खेतों में गेहूं काट रहे परिजनों ने आनन-फानन में मौके पर पहुंचे, जब तक पूरी घटना हो चुकी थी।

यह भी पढ़ें : UP में दबंग दलित मजदूर की हत्या कर परिवार को दे आए लाश, कहा थाने गए तो कर देंगे सबको साफ

भी तक पता नहीं चल पाया है कि आग किस कारण से लगी थी। एक ही झटके में अपने तीन बच्चों को खोने वाला किसान दंपत्ति सदमे में है। घटनास्थल पर पहुंचे इंस्पेक्टर सच्चिदानंद का कहना है कि आग कैसे लगी इस बात की जांच जारी है।

Next Story

विविध

Share it