समाज

उन्नाव के बाद अब फतेहपुर में रेप पीड़िता को जिंदा जलाया, 90 फीसदी झुलसी पीड़िता

Nirmal kant
15 Dec 2019 6:15 AM GMT
उन्नाव के बाद अब फतेहपुर में रेप पीड़िता को जिंदा जलाया, 90 फीसदी झुलसी पीड़िता
x

फतेहपुर में रेप पीड़िता को जिंदा जलाया, पीड़िता के पड़ोस में रहने वाले चाचा पर है रेप का आरोप, पीड़िता कानपुर के हैलट अस्पताल में भर्ती...

जेपी सिंह की रिपोर्ट

जनज्वार। तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद और उन्नाव में दरिंदगी के बाद पीड़िता को जिंदा जलाने की सुर्खियां अभी सुखी भी नहीं थी कि प्रयागराज मंडल के जिला फतेहपुर में एक और ऐसी ही वारदात ने लोगों के रोंगटे खड़े कर दिए। फतेहपुर के हुसेनगंज इलाके के एक गांव में शुक्रवार 13 दिसंबर की रात पड़ोस में रहने वाले चाचा ने किशोरी के साथ दरिंदगी की। शनिवार सुबह परिजन उसे लेकर थाने जाने लगे तो आरोपी ने मिट्टी का तेल डालकर पीड़िता को जिंदा जलाने की कोशिश की। 90 फीसद झुलसी किशोरी को आनन-फानन में फतेहपुर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यहां से उसे गंभीर हालत में कानपुर के हैलट अस्पताल रेफर किया गया है।

संबंधित खबर : कानपुर के नौबस्ता में लड़की से छेड़खानी, विरोध करने पर परिजनों को पीटकर उन्नाव और हैदराबाद कांड दोहराने की दी धमकी

ताते हैं कि युवती शनिवार 14 दिसंबर सुबह घर पर अकेली थी। परिवार के लोग खेत में काम करने गए थे। तभी पड़ोसी चाचा उसके घर पहुंचा और दरिंदगी की। पीड़िता के बयान के अनुसार दुष्कर्म के बाद उसने परिजनों को बताने की बात कही। इस पर आरोपित उसे खींचता हुआ कमरे में ले गया और वहां रखे मिट्टी के तेल का गैलन उस उड़ेलकर आग लगा दी।

जान बचाने के लिए चीखती-चिल्लाती रही। शोरगुल सुनकर पड़ोसियों ने उस पर जूट का बोरा डालकर किसी तरह आग बुझाई और परिजनों को सूचना दी। आनन-फानन में उसे जिला अस्पताल पहुंचाया गया। यहां नाजुक हालत देखते हुए उसे कानपुर रेफर कर दिया गया। पीड़िता 90 फीसद जल गई है। पैर के निचले हिस्से ही शेष बचे हैं बाकि शरीर बुरी तरह झुलस गया है।

संबंधित खबर : उन्नाव में युवक की मौत के बाद प्रदर्शन कर रहे गांववालों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज, मृतक की पत्नी को भी लाठियों से पीटा

जिला अस्पताल पहुंची पीड़िता चीखती रही थी। महिला इंस्पेक्टर के साथ बयान लेने पहुंचे नायब तहसीलदार के सामने पीड़िता बचाने के लिए चिल्ला पड़ी। मजिस्ट्रेट द्वारा घटना के बारे में पूछने पर वह बार-बार चिल्लाती रही...साहब मुझे बचा लो, मै मरना नहीं चाहती। बेटी की हालत देखकर उसके परिजन भी बिलख रहे थे। पीड़िता के भाई ने पुलिस को तहरीर दी है। आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

स बीच दरिंदगी को अंजाम देने वाला आरोपित फरार हो गया। दहशत में उसके परिजन भी ताला बंदकर गांव से निकलकर बाहर चले गए। अफसरों के पहुंचने पर आरोपित के परिजनों की तलाश करवाई गई लेकिन किसी का पता नहीं चला।

जैसी घटना की पुनरावृत्ति होने की खबर से पूरी अफसरशाही में हड़कंप मच गया है। डीएम संजीव सिंह और एसपी प्रशांत वर्मा पीड़िता को रेफर किए जाने के बाद उसके गांव पहुंचे। उन्होंने गांव के लोगों से घटना के बावत जानकारी ली और परिजनों को भरोसा दिया कि आरोपित को सख्त सजा दिलाने का भरोसा दिया।

हालांकि बाद फतेहपुर पुलिस की ओर से एक ट्वीट में बताया गया, 'प्रारंभिक जाँच से यह घटना आत्महत्या के प्रयास की है, जिसकी पुष्टि गाँव के तमाम लोगों और प्रत्यक्षदर्शियों ने की है। इस सम्बन्ध में डीएम, एसपी फतेहपुर एवं प्रयागराज जोन के एडीजे द्वारा मीडिया को ब्रीफ किया जा चुका है, आरोपी को गिरफ्तार कर आवश्यक कार्यवाही की जा रही है।'

संबंधित खबर : बागपत रेप पीड़िता को मिली धमकी, कोर्ट में दी गवाही तो उन्नाव कांड की तरह जला देंगे

कानपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम के बीच फतेहपुर में दुष्कर्म के बाद युवती को जिंदा जलाने की मिली सूचना पर शहर के अफसरों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन प्रशासनिक अमला हैलट अस्पताल की ओर दौड़ पड़ा। यहां झुलसी रेप पीड़िता के आने से पूर्व ही व्यवस्थाएं चाक-चौबंद और डॉक्टरों की टीम को अलर्ट कर दिया गया था और जैसे ही पीड़िता पहुंची डाक्टरों की टीम ने उसका इलाज शुरु कर दिया है।

इनपुट : मनीष दुबे

Next Story

विविध