Top
समाज

कानपुर के नौबस्ता में लड़की से छेड़खानी, विरोध करने पर परिजनों को पीटकर उन्नाव और हैदराबाद कांड दोहराने की दी धमकी

Nirmal kant
9 Dec 2019 8:43 AM GMT
कानपुर के नौबस्ता में लड़की से छेड़खानी, विरोध करने पर परिजनों को पीटकर उन्नाव और हैदराबाद कांड दोहराने की दी धमकी
x

कानपुर के नौबस्ता में नाबालिग लड़की को छेड़छाड़ के बाद पीटा, दबंगों ने पुलिस स्टेशन जा रहे पिता को भी पीटा, पीड़िता को उन्नाव और हैदराबाद कांड दोहराने की दी धमकी....

कानपुर से मनीष दुबे की रिपोर्ट

जनज्वार कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर के नौबस्ता में एक लड़की के साथ छेड़खानी का मामला सामने आया है। लड़की ने इसके बारे में जब अपने परिजनों को इसकी जानकारी दी। इसके बाद जब परिजन लड़की के साथ थाने जा ही रहे थे कि रास्ते में उसके साथ कुछ लोगों ने मारपीट कर दी। यही नहीं उन्हें धमकी भी दी गई कि तेरा भी वहीं अंजाम होगा जो हैदराबाद और उन्नाव में हुआ था।

ता दें किहाल ही में हैदराबाद में कुछ दरिंदों ने एक महिला पशु चिकित्सक का पहले तो गैंगरेप किया और फिर उसे जिंदा जलाकर मार दिया था। इसके अलावा उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में एक रेप पीड़िता को उस समय आग के हवाले कर दिया गया जब वह रेप केस के सिलसिले में कोर्ट में पेश होने के लिए जा रही थी। वहीं कानपुर में रेप के बाद एक दलित लड़की ने आत्महत्या कर ली थी। इन तमाम मामलों पर देशभर में जहां आक्रोश देखने को मिल रहा है वहीं नौबस्ता में कुछ लोग इसी तरह की घटनाओं को दोहराने की धमकी दे रहे हैं।

संबंधित खबर : उन्नाव के बाद कानपुर में दलित स्कूली छात्रा के सामूहिक दुष्कर्म से सुलग रहा उत्तर प्रदेश

थानाक्षेत्र की रहने वाली पीड़िता अपने घर से कुछ ही दूर रहने वाली अपनी मौसी के घर जा रही थी। रास्ते में उसे राजनीतिक पार्टियों से ताल्लुक रखने वाले दीपक जादौन और उसके तीन साथियों शमशेर सिंह, सुनील पांडेय और धर्मेन्द्र सिंह जादौन ने बदनियती के चलते रास्ता रोक लिया। रोकने के साथ ही उस पर भद्दे व अश्लील कमेंट करने लगे। पीड़िता के विरोध करने पर हाथ पकड़कर प्लॉट में घसीटने की कोशिश भी की गई।

बाद एक आरोपी दीपक जादौन ने उसके शरीर के प्राइवेट पार्ट से छेड़छाड़ की। पीड़िता के शोर मचाने पर घटनास्थल पर लोग जमा हो गए। लोगो को इकट्ठा होता देख सभी आरोपी घटनास्थल से फरार हो गए। इस घटनाक्रम में अति तो तब हुई जब परिजनों के साथ थाने गई पीड़िता के हाथों तथा पैरों में आये खरोच के निशानों का पुलिस ने मेडिकल कराने की जहमत तक नहीं उठाई।

संबंधित खबर : जनज्वार एक्सक्लूसिव - योगी सरकार के अफसरों की बाजीगरी, जिंदा महिला का ही बना दिया मृत्यु प्रमाण पत्र

रास्ते मे हुई इस वहशियाना हरकत के बाद पीड़िता ने घर जाकर जब अपनी आपबीती अपने परिजनों से बताई तो परिजनों ने नौबस्ता थाने में लिखित शिकायती पत्र दिया। लेकिन मजाल थी जो पुलिस अपनी कार्यशैली से बाज आ जाए। हुआ भी वही जो अब तक पिछली घटनाओं में होता आया है। पीड़िता को थाने से टरका दिया गया। इतना ही नही परिजनों के साथ थाने जाते वक्त पीड़िता व उसके परिजनों की दबंगों ने पिटाई भी की और धमकी देते हुए कहा कि अगर इस बात की किसी से शिकायत की तो तेरा भी वही हश्र होगा जो उन्नाव और हैदराबाद में हुआ था।

पीड़िता ने जनज्वार को बताया कि कल मैं जब अपने मौसी के यहां जा रही थी तो रास्ते में सुनील पांडे और संतोष यादव ने मेरे साथ बदतमीजी की। जब मैने विरोध किया तो उन्होंने मेरे प्राइवेट पार्ट में हाथ डाला और फिर मुझे घसीटने लगे। फिर जब मैने चिल्लाना शुरू किया। मेरी चाची और मम्मी जब बचाने आए तो उनको भी पीटा। फिर जब मेरे पापा और भाई आए तो उनको भी इन लोगों ने मारा। उसके बाद जब हम लोग थाने गए तो मुझे धमकी दी गई कि अगर तुमने केस किया तो मैं तुम्हें उठवा लूंगा, तेरे साथ में यह सब करूंगा। हम सुबह से शाम तक पुलिस स्टेशन में बैठे रहे लेकिन किसी ने कोई कार्रवाईऊ नहीं की। पुलिस ने मेरी कोई मदद नहीं की। उन्होंने मेरी एफआईआर तक नहीं लिखी।

पीड़िता ने आगे बताया कि फिर मैने सोशल मीडिया पर डाला ताकि आम जनता देखे और मेरी थोड़ी मदद करें। मेरे भाई के ऊपर भी उन्होंने मुकदमा लिखवाया, पुलिसवाले सब उन्हीं के साथ थे। उन्होंने धमकी दी है कि अगर तुमने मुकदमा करवाया तो जो उन्नाव में कांड हुआ है वो तुम्हारे साथ भी होगा। किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है, उल्टे मेरे भाई के खिलाफ केस दर्ज करवा दिया गया है।

संबंधित खबर : नाबालिग लड़की के गायब होने की शिकायत लेकर थाने पहुंचे परिजन तो पुलिस ने कहा पहले जमा करो 20,000 रुपये

नौबस्ता थाना की एसपी अपर्णा गुप्ता ने कहा, 'एक मामला आया है जिसमें दो पक्षों के बीच विवाद का मामला हुआ है। इसमें लड़की के पक्ष की ओर से शिकायत है वहीं दूसरे विरोधी पक्ष की ओर से भी शिकायत आई है। ये मामला पुलिस के संज्ञान में हैं, इस पर कार्रवाई हो रही है।

सपी अपर्णा गुप्ता ने आगे कहा, 'सोशल मीडिया पर जो वीडियो वायरल हो रहा है उसके सत्यता के बारे में जांच कर ली जाएगी। बाकि इसमें जो पीड़िता है उसकी एफआईआर संबंधित धाराओं में दर्ज कराई गई है, इसके ऊपर कार्रवाई करवाई जा रही है।'

Next Story

विविध

Share it