Top
उत्तर प्रदेश

जमीन विवाद में दैनिक जागरण के पूर्व संवाददाता एनडी तिवारी की गोली मारकर हत्या

Janjwar Desk
6 April 2021 1:18 PM GMT
जमीन विवाद में दैनिक जागरण के पूर्व संवाददाता एनडी तिवारी की गोली मारकर हत्या
x
रियल एस्टेट कारोबारी एनडी तिवारी की हत्या के बाद स्थानीय पत्रकारों में इस बात की चर्चा है कि उनका एक पत्रकार साथी गोली का शिकार हो गया है.....

जनज्वार/वाराणसी। उत्तर प्रदेश के वाराणसी में रियल स्टेट कारोबारी और दैनिक जागरण के पूर्व संवाददाता एनडी तिवारी की जमीन विवाद में गोली मारकर हत्या कर दी गई। बताया जा रहा है कि पूर्व पत्रकार तिवारी के पास भी असलहा था लेकिन हत्यारों ने उन्हें जवाबी फायरिंग तक का मौका नहीं दिया। अस्पताल में इलाज के दौरान पूर्व पत्रकार ने दम तोड़ दिया।

वाराणसी के रोहनिया थाना अंतर्गत ग्राम अखरी में दैनिक जागरण के पूर्व पत्रकार व रियल स्टेट कारोबारी को उसके विरोधियों ने एक विवादित जमीन की पंचायत के दौरान रात लगभग साढ़े 10 बजे गोली मारकर मौत की नींद सुला दिया। बता दें कि रियल स्टेट कारोबारी भी असलहे से लैस था लेकिन विरोधियों ने उससे बचाव के लिए गोली चलाने का मौका ही नहीं दिया और उसके सीने में गोली उतार दी। आनन-फानन में उसे बीएचयू के ट्रामा सेंटर में भर्ती किया गया, जहां इलाज के दौरान मौत हो गई।

बताते चलें कि रियल स्टेट कारोबारी एनडी तिवारी विगत कई वर्षों तक दैनिक जागरण वाराणसी में रोहनिया क्षेत्र के पत्रकार रहे थे। इस दौरान उनकी क्षेत्र में पत्रकारों के बीच में अपनी अलग हनक थी।

तिवारी जी पत्रकारिता के नाम पर जहां अपना रुतबा बनाए थे वही धन कमाने की लालच में लंबे अरसे से विवादित जमीनों की खरीद-फरोख्त का भी कारोबार करते रहे। इधर काफी समय से उनका दैनिक जागरण से संपर्क टूट गया था।

रियल एस्टेट कारोबारी एनडी तिवारी की हत्या के बाद स्थानीय पत्रकारों में इस बात की चर्चा है कि उनका एक पत्रकार साथी गोली का शिकार हो गया है। थाना प्रभारी रोहनिया प्रवीण कुमार ने भी फोन पर इस बात की पुष्टि की है कि हैप्पी मॉडल स्कूल कोरौवां में किसी जमीन के विवाद में पूर्व पत्रकार एनडी तिवारी को गोली मारी गई।

मजे की बात है कि अभी हाल ही में सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस को पुलिस कमिश्नरेट का दर्जा देकर पुलिस के आला अधिकारियों को फरमान भेजा है कि वह अब अपराध पर पूरी तरह अंकुश लगाएं। वही दूसरी ओर आईजी रेंज एसके भगत के कुशल नेतृत्व में ग्रामीण पुलिस व्यवस्था को चाक-चौबंद बनाया गया है, बावजूद इसके सरेआम एक रियल इस्टेट कारोबारी और पूर्व पत्रकार की हत्या के बाद इस बात की चर्चा जोरों कि अपराध करने वाला बचने नहीं पाएगा।

पूर्व पत्रकार एनडी तिवारी को बदमाशों ने 5 गोली मारी हैं। दो गोली गर्दन में तो तीन गोली कमर के ऊपर धँसनी बताई जा रही हैं। घटना की सूचना पर आईजी एस के भगत ट्रामा सेंटर पहुंचे। कहा जा रहा है कि शूल टंकेश्वर मंदिर से दर्शन कर घर आते समय बदमाशो ने कारोबारी को तबातोड़ 5 गोलियां मारी थीं। ट्रामा सेंटर ले जाते समय मौत हो गई। एनडी तिवारी पेशे से पूर्व पत्रकार थे।

Next Story

विविध

Share it