विमर्श

Korean War Veterans Memorial : देर से ही सही पर अपने इतिहास को याद कर रहा अमेरिका, कोरियाई वार मेमोरियल का हो रहा कायाकल्प

Janjwar Desk
25 Dec 2021 11:45 AM GMT
Korean War Veterans Memorial : देर से ही सही पर अपने इतिहास को याद कर रहा अमेरिका, कोरियाई वार मेमोरियल का हो रहा कायाकल्प
x
Korean War Veterans Memorial : वर्ष 1950 से 1953 तक चले कोरियाई युद्ध (Korean War) को दुनिया के इतिहास के सबसे भयंकर युद्ध के तौर पर जाना जाता है.....

वरिष्ठ पत्रकार महेंद पाण्डेय का विश्लेषण

Korean War Veterans Memorial : अमेरिका के वाशिंगटन स्थित मेमोरियल एरीना में स्थित कोरियाई वार मेमोरियल (Korean War Veterans Memorial) का कायाकल्प किया जा रहा है। अब इसे विएतनाम वार मेमोरियल (Vietnam War Memorial) जैसा स्वरूप दिया जा रहा है। इसी क्रम में अब वहां कोरियाई युद्ध में शहीद हुए लगभग 43000 अमेरिकी सेना और सेना का साथ देने वाले कोरियाई नागरिकों के नाम अंकित किये जा रहे हैं। इसमें से 450 नामों वाले पहले ग्रेनाईट ब्लाक को स्थापित किया जा चुका है।

वर्ष 1950 से 1953 तक चले कोरियाई युद्ध (Korean War) को दुनिया के इतिहास के सबसे भयंकर युद्ध के तौर पर जाना जाता है। जून 1950 से जुलाई 1953 तक चले युद्ध में उत्तर कोरिया (North Korea) और चीन (China) की सेनाओं के विरुद्ध दक्षिण कोरिया (South Korea) और अमेरिका (USA) की सेनाओं ने युद्ध किया था, और लगभग 25 लाख लोगों की जान गयी थी। उत्तर कोरिया की मदद सोवियत संघ भी कर रहा था। इस युद्ध में अमेरिका और दक्षिण कोरिया के लगभग 10 लाख लोगों और सैनिकों की जान गयी थी। इस युद्ध की विभीषिका इस तथ्य से समझी जा सकती है – वियतनाम युद्ध के 10 वर्षों में जितने अमेरिकी सैनिकों की जानें गईं थीं, उससे आधे से अधिक कोरिया युद्ध के तीन वर्षों में ही मार दिए गए थे।

वाशिंगटन के कनफ्लिक्ट मेमोरियल क्षेत्र (Conflict Memorial Arena) का रखरखाव नेशनल पार्क सर्विसेज एंड मेमोरियल फाउंडेशन (National Park Services & Memorial Foundation) के अधीन है। कोरियाई वार वेटरन्स मेमोरियल की स्थापना लगभग 26 वर्ष पहले की गयी थी, और इसे वियतनाम वार मेमोरियल और बहु चर्चित लिंकन मेमोरियल (Lincoln Memorial) के पास ही स्थापित किया गया था। और नेशनल पार्क सर्विसेज एंड मेमोरियल फाउंडेशन ने मार्च 2020 में इसके पुनरुद्धार की योजना बनाई गयी।

इस पुनरुद्धार योजना में कुल 2.2 करोड़ डॉलर खर्च होने का अनुमान है और इस राशि को अमेरिका और दक्षिण कोरिया में चंदे द्वारा एकत्रित किया जाएगा। पुनरुद्धार योजना के अंतर्गत इसकी प्रकाश व्यवस्था को दुरुस्त किया जाना है और युद्ध में मारे गए सैनिकों के नाम वाली दीवार खडी करनी है। विएतनाम वार मेमोरियल में 58000 अमेरिकी सैनिकों और अमेरिकी सेना को सहायता देने वाले विएतनामी सहायकों के नाम है। कोरियाई वार मेमोरियल में कुल 43000 नाम लगाए जाने वाले हैं, जिसमें से 36574 नाम अमेरिकी सैनिकों के हैं और शेष 6426 नाम कोरियाई सहायकों के हैं।

वर्तमान में कोरियाई वार मेमोरियल में स्टेनलेस स्टील से बनी 19 मूर्तियों के माध्यम से युद्ध के दौरान अमेरिका की पेट्रोलिंग पार्टी को दिखाया गया है। देर से ही सही, पर अब अमेरिका अपने इतिहास को याद कर रहा है और इस युद्ध में मारे गए लोगों को याद कर रहा है। हमारे देश के लिए यह आश्चर्य का विषय जरूर हो सकता है क्योंकि हमारे यहाँ सरकारें इतिहास को ही पलटने में लगी हैं और याद करने के नाम पर ऊंची मूर्तियाँ और मदिरों को भव्य करने का काम किया जाता है।

Next Story

विविध