बिहार चुनाव 2020

बिहार में गड़बड़ाया BJP का गणित, निर्मला के 19 लाख नौकरी के वादे को सुशील मोदी बता चुके सबसे बड़ा चुनावी झूठ

Janjwar Desk
22 Oct 2020 11:06 AM GMT
बिहार में गड़बड़ाया BJP का गणित, निर्मला के 19 लाख नौकरी के वादे को सुशील मोदी बता चुके सबसे बड़ा चुनावी झूठ
x
संकल्प पत्र में भाजपा ने जो वादे किए हैं उनमें कोरोना के लिए टीका, 19 लाख लोगों को रोजगार, डेयरी विकसित करने समेत कई मुद्दे शामिल हैं......

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की मौजूदगी में बुधवार को भाजपा ने बिहार विधानसभा चुनाव के लिए अपना संकल्प पत्र जारी कर दिया है। संकल्प पत्र में भाजपा ने जनता को रिझाने और 'आत्मनिर्भर भारत' के लक्ष्य को पूरा करने के लिए 11 संकल्प लिए हैं।

संकल्प पत्र में भाजपा ने जो वादे किए हैं उनमें कोरोना के लिए टीका, 19 लाख लोगों को रोजगार, डेयरी विकसित करने समेत कई मुद्दे शामिल किए गए हैं। भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में ये वादे किए हैं-

1- बिहार को नेक्सट जेनरेशन आईटी हब के रूप में विकसित करेंगे, अगले 5 वर्षों में 5 लाख से ज़्यादा रोज़गार के अवसर उपलब्ध कराएंगे। स्वास्थ्य, आईटी समेत विभिन्न क्षेत्रों में 19 लाख लोगों को रोज़गार दिया जाएगा।

2- बिहारवासियों के लिए कोरोना वैक्सीन का निशुल्क टीकाकरण करवाया जाएगा। एक लाख लोगों को स्वास्थ्य विभाग में नौकरी दिलाएंगे। 2024 तक दरभंगा एम्स को चालू करवाएंगे।

3- आने वाले एक वर्ष में सभी प्रकार के स्कूल और उच्च शिक्षा क्षेत्र के यूनिवर्सिटी और अन्य संस्थानों में तीन लाख नए शिक्षकों की नियुक्ति करेंगे।

4- राज्य में दवा उद्योगों की स्थापना पर बल देंगे और टैक्स इंसेंटिव समेत अनुदानित दरों पर ज़मीन, बिजली उपलब्ध कराएंगे। इससे निजी निवेश को प्रोत्साहित किया जा सकेगा।

5- कोऑपरेटिव और कोम्फेड को प्रोत्साहित करते हुए अगले दो वर्षों में निजी और कोम्फेड आधारित 15 नए दुग्ध प्रोसेसिंग उद्योग खड़े किए जाएंगे।

6- माइक्रोफाइनेंस संस्थानों के माध्यम से पचास हज़ार करोड़ रुपये की व्यवस्था के साथ एक करोड़ महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाएंगे।

7- राज्य में लघु, कुटीर उद्योग को बढ़ावा दिया जाएगा, पांच सौ करोड़ रुपये का बिहार शिल्प एवं कारीगर उत्थान फंड का निर्माण किया जाएगा। इस फंड से राज्य के विभिन्न कारीगर समूहों जैसे मूर्तियों के लिए कुम्हार, लाह के लिए लहेरी, लोहे के लिए लोहार, कास्ठ के लिए बढ़ई, बुनकर आदि समुदायों को ब्याज मुक्त ऋण उपलब्ध कराकर उनके कला के प्रोत्साहन के लिए बाज़ार उपलब्ध कराया जाएगा।

8- मेडिकल, इंजीनियरिंग समेत अन्य सभी तकनीकी शिक्षा को हिन्दी भाषा में उपलब्ध कराएंगे।

9- मत्स्य संपदा के तहत अगले दो वर्षों में इनलैंड यानी मीठे पानी में पलने वाली मछलियों के उत्पादन में बिहार को देश का नंबर एक राज्य बनाएंगे।

10- धान और गेहूं के बाद दलहन की ख़रीद भी एमएसपी की दरों पर की जाएगी। किसान उत्पाद संघों की बेहतर सप्लाई चेन बनाई जाएगी, जिससे 10 लाख रोज़गार पैदा होंगे। अत्याधुनिक कृषि अवसंरचना विकसित करेंगे। मोबाइल पशु चिकित्सा की व्यवस्था की जाएगी। पशुपालकों, मत्स्य पालकों को एक लाख रुपये तक का ब्याज मुक्त लोन दिया जाएगा। किसानों को 21वीं सदी के अनुरूप ढाल सकें इसके लिए चयनित किसानों को स्कैंडेनेविया और इजराइल जैसे देशों में प्रवास सुनिश्चित किया जाएगा।

11- एनडीए सरकार ने 6 वर्षों में 28,33,089 आवास बनाए हैं। ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के और तीस लाख लोगों को 2022 तक पक्के मकान देंगे।

इसके अलावा भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में देश की सुरक्षा में शहीद होने वाले जवानों के आश्रितों को राज्य सरकार में एक नौकरी और 25 लाख रुपये का शहीद सम्मान राशि देने का वादा किया गया है। भूमि सुधार क़ानून को और मजबूत करने का भी वादा किया गया है।

बता दें कि एक तरफ भारतीय जनता पार्टी अपने संकल्प पत्र में 19 लाख नौकरियां देने का वादा कर रहे हैं। वहीं दूसरी बिहार में उन्हीं की सहयोगी पार्टी जदयू के नेता और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी विपक्ष पर निशाना साध रहे हैं कि दस लाख नौकरियां देने के लिए विपक्ष अतिरिक्त 58 हजार करोड़ कहां से लाएगा।

बता दें कि राजद नेता तेजस्वी यादव की ओर से वादा किया गया है कि अगर वह सत्ता में आते हैं तो दस लाख बेरोजगार युवाओं को रोजगार देंगे। उनके इस वादे को देखते हुए बड़ी संख्या में बेरोजगार युवा राजद की तरफ देख रहे हैं। ऐसे में सुशील मोदी ने इसके जवाब में यह बात कही।

Next Story

विविध

Share it