शिक्षा

Patna News : पटना विवि में B.Ed की फीस बढ़ाने की तैयारी, 1800 रुपए की जगह 1.5 लाख होगी फीस

Janjwar Desk
14 Jan 2022 11:03 AM GMT
Patna News : पटना विवि में B.Ed की फीस बढ़ाने की तैयारी, 1800 रुपए की जगह 1.5 लाख होगी फीस
x

पटना विवि में B.Ed की फीस बढ़ाने की तैयारी, 1800 रुपए की जगह 1.5 लाख होगी फीस

Patna News : पटना विश्व विद्यालय के सिंडिकेट की बीते गुरुवार को बैठक हुई| बैठक में निर्णय लिया गया कि पीयू में बीएड की फीस राज्य सरकार द्वारा निर्धारित फीस स्ट्रक्चर के मुताबिक होगी...

Patna News : पटना विश्व विद्यालय के सिंडिकेट की बीते गुरुवार को बैठक हुई| बैठक में निर्णय लिया गया कि पीयू में बीएड की फीस राज्य सरकार द्वारा निर्धारित फीस स्ट्रक्चर के मुताबिक होगी। तय किया गया है कि 1800 की जगह फीस 1.5 लाख होगी। विश्वविद्यालय के अलग-अलग इंफ्रास्ट्रक्चर विकास के कार्यों को पूरा करने के लिए विवि से जुड़े लोगों से संपर्क करने की बात पर चर्चा की गई| मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कुलपति प्रो. गिरीश कुमार चौधरी ने सिंडिकेट सदस्यों को कहना है कि विश्वविद्यालय ने कई बड़ी कंपनियों से अनुरोध किया है कि वे विश्वविद्यालय की आधारभूत संरचना विकसित करने में सीएसआर के तहत मदद करने को आगे आएं। इसके तहत बीपीसीएल से विश्वविद्यालय ने कंप्यूटिंग सेंटर विकसित करने का अनुरोध किया है

1800 की जगह 1.5 लाख होगी फीस

पटना विश्वविद्यालय के दोनों बीएड कॉलेजों में फीस बढ़ाने की तैयारियां चल रही है। इसी सिलसिले में गुरुवार 13 जनवरी को पटना विवि के सिंडिकेट की बैठक हुई। पटना विश्वविद्यालय के सिंडिकेट की बैठक में निर्णय लिया गया कि पटना यूनिवर्सिटी में B.Ed की फीस राज्य सरकार द्वारा निर्धारित फीस स्ट्रक्चर के अनुसार होगी। फीस में बहुत बड़ा अंतर देखने को मिलेगा। B.Ed की फीस में बहुत बढ़ोतरी की जाएगी। तय किया गया है कि B.Ed की फीस डेढ़ लाख रुपए होगी। बता दें कि अभी पटना ट्रेनिंग कॉलेज में छात्रों के लिए फीस 1800 रुपए प्रति वर्ष है। जो अब बढ़कर डेढ़ लाख रुपए होगी। साथ ही वीमेंस ट्रेनिंग कॉलेज में छात्राओं के लिए बीएड की पढ़ाई नि:शुल्क ही होती है। बता दें की राज्य में सबसे कम फीस इन्हीं दोनों कॉलेज में ली जाती है लेकिन अब इस फीस की रकम 1800 रुपए से बढ़ाकर सीधा डेढ़ लाख रुपए कर दी जाएगी। इसके साथ ही सिंडिकेट की बैठक में पटना विश्वविद्यालय के वर्ष 2022 23 के लिए बजट को भी पारित किया गया।

विकास के लिए किया गया अनुरोध

साथ ही टाटा आयरन एंड स्टील कंपनी के जीएम भी पटना विश्वविद्यालय के अनुषद के आजीवन सदस्य हैं इसलिए टाटा से भी अनुरोध किया गया है कि पटना विश्वविद्यालय के आधारभूत संरचना के विकास में अपनी कंपनी के सीएसआर मद के जरिए से मदद करें। वहीं अगले वित्तीय वर्ष से शोध के लिए विश्वविद्यालय ने विश्वविद्यालय स्तर पर 2 करोड़ आंतरिक स्रोत से व्यवस्था की गई है जो माइनर शोध प्रोजेक्ट के लिए शिक्षकों को दी जाएगी। सिंडिकेट की बैठक में पटना विवि के वर्ष 2022-23 के बजट को भी पारित किया गया।

नामांकन की प्रक्रिया 16 जनवरी से शुरू

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बैठक में पटना विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति प्रो अजय कुमार सिंह के साथ छात्र कल्याण संकायाध्यक्ष प्रो. अनिल कुमार, कुलानुशासक प्रो. रजनीश कुमार, कुलसचिव कर्नल कामेश कुमार, नवीन कुमार आर्य, प्रो एसबी लाल, पप्पू वर्मा, डॉ शरीफ, डॉ अभय कुमार, डॉ बीना कुमारी भी मौजूद रहे।

बता दें कि पीयू में स्नातकोत्तर स्तर के सामान्य पाठ्यक्रमों में नामांकन की प्रक्रिया 16 जनवरी से शुरू हो रही है। आवेदन की तिथि 8 जनवरी को ही समाप्त हो चुकी है। अब मेरिट में आने वाले छात्रों को विवि की वेबसाइट से आवंटन पत्र प्राप्त कर विभाग में जाकर नामांकन लेना होगा।

Next Story

विविध

Share it