पर्यावरण

Aaj Ka Mausam: दिवाली तक ठंड की होगी एंट्री, 14 अक्टूबर को अधिकारिक तौर पर मॉनसून की हुई विदाई

Janjwar Desk
13 Oct 2021 6:15 PM GMT
Aaj Ka Mausam: दिवाली तक ठंड की होगी एंट्री, 14 अक्टूबर को अधिकारिक तौर पर मॉनसून की हुई विदाई
x
Aaj Ka Mausam: जम्मू-कश्मीर के अधिकांश हिस्सों में 11 अक्टूबर को मौसम की पहली बर्फबारी हुई, इसी के साथ पूरे घाटी के मौसम में बदलाव आया है... कश्मीर में दिन और रातें ठंडी हुई हैं...Aaj Ka Mausam| Mausam Vibhag | IMD | Aaj Ka Mausam Kaisa Rahega

Aaj Ka Mausam: मौसम विभाग के ताजा अपडेट के अनुसार देश के सभी राज्यों से दक्षिण पश्चिम मॉनसून की वापसी 14 अक्टूबर को हो जाएगी। इसी के साथ साल 2021 से मॉनसून का फाइनल टाटा गुडबाय होगा क्योंकि ठंड दस्तक देने के लिए पूरी तरह से तैयार है। हालांकि, छिटपुट जगहों पर अभी भी कुछ दिनों तक बारिश की आशंका है।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अगले 4 दिनों के दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में छिटपुट गरज और भारी गिरावट के साथ अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना जताई है। इस दौरान इन क्षेत्रों में हवा की गति 40 से 50 किमी प्रति घंटे रहेगी। 15 अक्टूबर से पूर्वी भारत और इससे सटे मध्य भारत में भी बारिश की तीव्रता बढ़ने की संभावना है।



बर्फबारी के बाद घाटी के तापमान में गिरावट

जम्मू-कश्मीर के अधिकांश हिस्सों में 11 अक्टूबर को मौसम की पहली बर्फबारी हुई, इसी के साथ पूरे घाटी के मौसम में बदलाव आया है। कश्मीर में दिन और रातें ठंडी हुई हैं। जम्मू संभाग में भी गर्मी और उमस से लोगों को राहत मिली है। मौसम विज्ञान केंद्र श्रीनगर के अनुसार आने वाले दिनों में मौसम साफ रहेगा। लेकिन ठंड में भी इजाफा होगा। कश्मीर के अधिकांश हिस्सों में दिन का तापमान सामान्य से 4 से 6 डिग्री नीचे चल रहा है। यहां रात में भी न्यूनतम तापमान में कई जिलों में पारा दस डिग्री से नीचे चला गया है।

वहीं, 16 अक्तूबर को जम्मू और कश्मीर संभाग के कुछ हिस्सों में बारिश होने की संभावना जताई गई है। नवंबर में दिवाली पर प्रदेश के अधिकांश जिलों में सर्दी के पूरी तरह से दस्तक देने की उम्मीद है।

दिल्ली में उमस भरी गर्मी से लोग परेशान

देश की राजधानी दिल्ली में लोग उमस भरी गर्मी से परेशान हैं। दिल्ली के ज्यादातर हिस्सों में सुबह से तेज चमकदार सूरज छाया रहा। अगले दो दिनों हालात कुछ ऐसे ही रहने की संभावना है। सफदरजंग मौसम केंद्र में दिन का अधिकतम तापमान 36.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो कि सामान्य से चार डिग्री अधिक है। वहीं न्यूनतम तापमान 22.7 डिग्री सेल्सियस रहा जो सामान्य से दो डिग्री ज्यादा है।

हालांकि, मौसम विभाग का अनुमान है कि बंगाल की खाड़ी में बने मौसम के एक सिस्टम के चलते दिल्ली में शनिवार से मौसम के मिजाज में बदलाव देखने को मिल सकता है। शनिवार को गरज-चमक होने की संभावना है। वहीं रविवार और सोमवार को भी हल्की बारिश होने की संभावना है। इससे दिल्ली वालों को गर्मी से राहत तो मिलेगा ही साथ ही तापमान में गिरावट भी दर्ज की जाएगी।

मॉनसून के जाते ही राजधानी दिल्ली और सटे यूपी में प्रदूषण भी पैर पसारने लगा है। धूल उड़ाने वाली हवाओं के चलते राजधानी दिल्ली की वायु गुणवत्ता में गिरावट दर्ज की गई है। राहत की बात ये है कि अभी यह मध्यम श्रेणी में है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक मंगलवार का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 179 अंक रहा, जिसे मध्यम श्रेणी में रखा जाता है। सफदरगंज मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले तीन दिन तक वायु की गुणवत्ता सूचकांक इसी के आसपास रहेगा।

बिहार झारखंड में बारिश की संभावना नहीं

बिहार-झारखंड से भी मॉनसून की विदाई हो गई है। मौसम विज्ञान केंद्र पटना के अनुसार प्रदेश में इन दिनों मौसम सामान्य ही रहेगा। दशहरा तक राजधानी पटना में बारिश की कोई संभावना नहीं है। राज्य के दूसरे हिस्सों से भी मानसून के लौट जाने से बारिश की संभावना न के बराबर है।


वहीं, सूबे में अधिकतम तापमान में एक या दो डिग्री पारे गिरने के आसार है। मौसम विज्ञानी की मानें तो अक्टूबर के अंत तक पश्चिमी हवा का प्रवाह होने के साथ राज्य में गुलाबी ठंड का एहसास लोगों को हो सकता है। यानी छठ के समय से ठंड की शुरुआत होने की संभावना है।

Next Story

विविध

Share it