Top
राष्ट्रीय

अर्नब व्हाट्सएप चैट मामला: रिपब्लिक टीवी ने टाइम्स नाउ चैनल की एडिटर नविका कुमार के खिलाफ किया केस

Janjwar Desk
28 Jan 2021 12:00 PM GMT
अर्नब व्हाट्सएप चैट मामला: रिपब्लिक टीवी ने टाइम्स नाउ चैनल की एडिटर नविका कुमार के खिलाफ किया केस
x
एआरजी आउटलेयर मीडिया प्राइवेट लिमिटेड, समाचार चैनल, जो रिपब्लिक टीवी की मूल कंपनी है, उसकी ओर से यह शिकायत दर्ज कराई गई है..

जनज्वार। टीआरपी घोटाले से संबंधित कथित व्हाट्सएप चैट के मामले में रिपब्लिक टीवी के खिलाफ कथित रूप से अपमानजनक बयान देने के लिए टाइम्स नाउ की एंकर नविका कुमार के खिलाफ रिपब्लिक टीवी ने कोर्ट में केस किया है। दिल्ली के पटियाला हाउस अदालत के मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट के समक्ष मानहानि की यह शिकायत दर्ज कराई गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, एआरजी आउटलेयर मीडिया प्राइवेट लिमिटेड, समाचार चैनल, जो रिपब्लिक टीवी की मूल कंपनी है, उसकी ओर से यह शिकायत दर्ज कराई गई है।

शिकायत में कहा गया है कि टाइम्स नाउ की ऐंकर नविका कुमार ने रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी के कथित व्हाट्सएप चैट्स को लेकर अपने 18 जनवरी, 2021 के शो में अपमानजनक और गलत तथ्यों का इस्तेमाल किया।

याचिका में यह भी आरोप लगाया गया है कि इसमें कुमार द्वारा दिए गए बयानों को छोड़ दिया गया है। यह न्यूजशो रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी के व्हाट्सएप चैट से संबंधित था। याचिका में आरोप लगाया गया है कि कुमार ने लापरवाह और बदनाम करने वाली बातें कहीं और उन्हें इंटरनेट पर प्रकाशित किया।

याचिका में कहा गया है कि टीआरपी स्कैम की चार्जशीट में से मुख्य रूप से व्हाट्सएप चैट को उठाकर इसका दुरुपयोग किया गया है, जबकि मामला सब्ज्युडिश है। याचिका में कहा गया है कि गलत तरीके से दस्तावेजों का दुरुपयोग किया गया है और उन्हें विकृत करके प्रसारित किया गया है। जबकि मामला मुंबई में निचली अदालतों और माननीय बॉम्बे हाईकोर्ट के समक्ष है।

याचिका के अनुसार, टीवी चैनल टाइम्स नाउ के साथ-साथ यूट्यूब जैसे विभिन्न पोर्टल में इंटरनेट पर प्रसारित- प्रकाशित किया गया है।

याचिका में आगे कहा गया है कि गोस्वामी टाइम्स नाउ चैनल छोड़ने के पहले इस चैनल का हेड हुआ करते थे।का इस्तेमाल करते थे। संगठन छोड़ने के बाद उन्होंने अपना चैनल रिपब्लिक टीवी शुरू किया, जो कि देश में शीर्ष अंग्रेजी समाचार चैनल बन गया। याचिका में आरोप लगाया गया है कि पेशागत ईर्ष्या के कारण प्रसारित अपमानजनक सामग्री प्रसारित किया गया है।

Next Story

विविध

Share it