Top
झारखंड

झारखंड के दो उपायुक्त कार्यालय कोरोना संक्रमण की वजह से सील, हजारीबाग में बढाया गया लाॅकडाउन

Janjwar Desk
14 July 2020 8:18 AM GMT
झारखंड के दो उपायुक्त कार्यालय कोरोना संक्रमण की वजह से सील, हजारीबाग में बढाया गया लाॅकडाउन
x

रामगढ जिले में निरीक्षण करते अधिकारी।

झारखंड में पुलिस कर्मियों के बाद अब उपायुक्त कार्यालयों में बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित मिले हैं, जिससे चिंताएं बढ गईं हैं...

जनज्वार, रांची। कोरोना महामारी अब अधिक भयावह रूप में दिखाने लगा है और यह हर तबके, हर जगह फैलता जा रहा है। झारखंड के दो जिलों के उपायुक्त कार्यालय को कोरोना संक्रमण के कारण अगले तीन दिनों के लिए पूर्ण रूप से बंद कर दिया गया है। हजारीबाग समहारणालय में सोमवार(13 july) को 12 कोरोना संक्रमित मिले। वहीं, रामगढ समाहरणालय में इसी दिन छह कोरोना मरीज मिले।

रामगढ उपायुक्त संदीप सिंह के अनुसार, उनके कार्यालय में अबतक 12 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। उन्होंने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है और कहा है कि मंगलवार से गुरुवार (14 july to 16 july) तक समाहरणालय बंद रहेगा। इस दौरान सिर्फ आवश्यक कार्य होंगे। इस दौरान न्यूनतम कर्मी बेहद आवश्यक कार्याें के लिए आएंगे। उन्होंने यह भी कहा है कि आम लोगों के लिए समाहरणालय 18 जुलाई तक बंद रहेगा।

उधर, हजारीबाग के डीसी डाॅ भुनवेश प्रताप सिंह ने कहा है कि सोमवार की आयी जांच रिपोर्ट में समाहरणालय के 12 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए। उन्होंने यह भी बताया है कि उनकी एक साल की बेटी भी कोरोना से संक्रमित हो गई है। हजारीबाग का समाहरणायल भी गुरुवार तक बंद रहेगा और इस दौरान सेनिटाइजेशन का काम किया जाएगा।

मंगलवार को हजारीबाग के डीसी ने 15 जुलाई से हजारीबाग नगर निगम क्षेत्र में एक सप्ताह का लाॅकडाउन लगाने का एलान किया। इस दौरान सिर्फ आवश्यक गतिविधियां हो सकेंगी और हजारीबाग शहर के सभी बार्डर सील रहेंगे ताकि बाहरी गतिविधियां यहां न हों।

झारखंड में पुलिस कर्मी पहले भी बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित मिलते रहे हैं। सोमवार को फिर नौ पुलिस कर्मी कोरोना से संक्रमित मिले हैं।

झज्ञरखंड के मुख्य सचिव सुखदेव सिंह सभी डीसी को निर्देश दिया है कि दूसरे राज्यों से आने वालों का अगर संबंधित जिले में घर न हो तो उन्हें सरकारी क्वारंटीन किया जाए और अगर घर है तो वहीं क्वारंटीन रहने को कहा जाए। यह निर्देश दिया गया है कि राज्य के बाहर से आकर 72 घंटे में नहीं लौटने वाले व्यक्ति को क्वारंटीन होना होगा।

मुख्य सचिव ने लाॅकडाउन नियमों का सख्ती से पालन करने को कहा है और हाट बाजारों का औचक निरीक्षण कर लाॅकडाउन नियमों का पालन नहीं करने वाली दुकानों पर कार्रवाई करने को कहा है। सोशल डिस्टेंसिग, जागरूकता और सेनिटाइजेशन की दिशा में भी आवश्यक कदम उठाने का निर्देश दिया गया है।

Next Story

विविध

Share it