राष्ट्रीय

Mumbai Police : CBI डायरेक्टर सुबोध जयसवाल हाजिर हों, मुंबई पुलिस ने समन भेज किया तलब

Janjwar Desk
10 Oct 2021 3:51 AM GMT
Mumbai Police : CBI डायरेक्टर सुबोध जयसवाल हाजिर हों, मुंबई पुलिस ने समन भेज किया तलब
x

(मुंबई पुलिस ने सीबीआई डायरेक्टर सुबोध जायसवाल को समन भेज तलब किया है) File pic.

Mumbai Police : मुंबई पुलिस ने सीबीआई के डायरेक्टर सुबोध जायसवाल को समन भेजा है, यह समन फोन टैपिंग और डेटा लीक केस से जुड़े एक मामले में भेजा गया है..

Mumbai Police : (जनज्वार)। मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने सीबीआई के डायरेक्टर सुबोध जायसवाल (Subodh Jaiswal) को समन भेजा है। यह समन फोन टैपिंग और डेटा लीक केस से जुड़े एक मामले में भेजा गया है।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने मीडिया को बताया कि मुंबई पुलिस की साइबर सेल (Cyber Cell) ने सीबीआई डायरेक्टर और महाराष्ट्र के पूर्व डीजीपी सुबोध कुमार जायसवाल को फोन टैपिंग और डेटा लीक (Data Leak) के मामले में समन भेजा है। इस समन में मुंबई पुलिस की तरफ से कहा गया है कि वो अपना बयान दर्ज कराने के लिए आगामी 14 अक्टूबर 2021 को हाजिर हों।

बता दें कि विगत 23 मार्च, 2021 को महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadanwis) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उस वक्त गृह मंत्री रहे अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) को निशाने पर लिया था। उन्होंने आईपीएस रश्मि शुक्ला (IPS Rashmi Shukla) के पत्र का जिक्र करते हुए महाराष्ट्र में ट्रांसफर-पोस्टिंग रैकेट चलने व बड़े नेताओं और अधिकारियों की मिलीभगत का आरोप लगाया था।

देवेंद्र फडणवीस ने उस वक्त किए गए प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिस आईपीएस अधिकारी रश्मि शुक्ला का जिक्र किया था वो फिलहाल सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) में सहायक महानिदेशक (ADG) के पद पर हैं। इससे पहले वे महाराष्ट्र के इंटेलिजेंस विभाग में आयुक्त थीं।

गौरतलब है कि परमबीर सिंह (Paramveer Singh) व रश्मि शुक्ला दोनों 1988 बैच के आईपीएस अफसर हैं। रश्मि शुक्ला ने पिछले साल लिखे पत्र में पुलिस के कुछ बड़े अफसरों और अन्य अधिकारियों के ट्रांसफर-पोस्टिंग के रैकेट में शामिल होने का दावा किया था। पत्र के साथ सबूत के तौर पर रश्मि शुक्ला ने फोन रिकॉर्डिंग होने का भी दावा किया था।

बताया जा रहा है कि यह मामला उसी वक्त का है जब एक आईपीएस अधिकारी रश्मि शुक्ला महाराष्ट्र में स्टेट इंटेलिजेंस डिपार्टमेंट (Maharashtra Intelligence Department) की प्रमुख थीं। इस पद पर रहते हुए रश्मि शुक्ला ने अपनी जो रिपोर्ट बनाई थी जो लीक (Report Leaked) हो गई थी। लीक हुई इस रिपोर्ट में कहा गया था कि पुलिस कर्मियों के ट्रांसफर में भ्रष्टाचार किया गया है। उस वक्त सीबीआई के मौजूदा निदेशक जायसवाल डीजीपी के पद पर तैनात थे।

आरोप है कि इस दौरान कई वरिष्ठ राजनेताओं और अधिकारियों के फोन अवैध रूप से टैप (Phone tapped) किये गये थे। जांच-पड़ताल के दौरान यह रिपोर्ट लीक हो गई थी। हालांकि, साइबर सेल ने इससे संबंधित एफआईआर में रश्मि शुक्ला का नाम नहीं लिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सीबीआई निदेशक को यह समन ई-मेल के जरिए भेजा गया है।

बता दें कि 1985 बैच के महाराष्ट्र कैडर के आईपीएस अफसर सुबोध जायसवाल इसी साल केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो यानी सीबीआई के निदेशक (CBI Director) नियुक्त किये गये हैं। नियमों के मुताबिक जायसवाल 2 साल तक CBI डायरेक्टर के पद पर रहेंगे। सीबीआई डायरेक्टर के पद पर नियुक्त होने से पहले वो मुंबई पुलिस में ऊंचे पदों पर अपनी सेवा दे चुके हैं। वो महाराष्ट्र के पुलिस प्रमुख भी रहे हैं।

Next Story
Share it