Top
आंदोलन

अब भी आप के एमएलए और मंत्री कर रहे हैं दिल्ली और देश की जनता को गुमराह !

Janjwar Team
24 Jan 2018 11:32 AM GMT
अब भी आप के एमएलए और मंत्री कर रहे हैं दिल्ली और देश की जनता को गुमराह !
x

इस पर क्या चुनाव आयोग को संज्ञान नही लेना चाहिए

दिल्ली से स्वतंत्र कुमार की रिपोर्ट

आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द हो चुकी है और चुनाव आयोग के इस फैसले पर देश के राष्ट्रपति भी मुहर लगा चुके हैं।

इतना ही नहीं दिल्ली हाई कोर्ट से भी आप पार्टी और इसके 20 पूर्व विधायकों को राहत नहीं मिली है। लेकिन ये 20 पूर्व एमएलए खुद को पूर्व मानने को तैयार नही हैं। जब वैधानिक रूप से इनकी सदस्यता रद्द हो चुकी है।

अब हम आपको बताते हैं कि कैसे आप के ये 20 पूर्व एमएलए खुद को अभी भी एमएलए बता रहे हैं। इसका पता लगाने के लिए हमने इन पूर्व 20 एमएलए में से कुछ के जो सोशल मीडिया पर ज्यादा सक्रिय रहते हैं उनके ट्विटर एकाउंट चेक किये।

हम सबूत के तौर पर इन पूर्व एमएलए के कई के ट्विटर एकाउंट के स्क्रीन शॉट भी लगा रहे है कि कैसे ये पूर्व एमएलए खुद को अपने अपने सोशल मीडिया के एकाउंट पर खुद एमएलए बता रहे हैं और बाकायदा इन्होंने ट्विटर पर अपने प्रोफाइल में खुद को एमएलए ही लिखा है।

इतना ही नही दिल्ली सरकार में चुनाव आयोग और राष्ट्रपति का फैसला आने से पहले तक दिल्ली के परिवहन व कानून मंत्री रहे कैलाश गहलोत ने आज भी अपने सोशल मीडिया के एकाउंट पर खुद को दिल्ली सरकार में मंत्री घोषित किया हुआ है। इसे कहते है एक तो चोरी उपर से सीनाजोरी।

सबसे खास बात ये है कि इन पूर्व विधायकों के ट्विटर एकाउंट वेरिफाइड हैं। इसलिए आम आदमी पार्टी यह कह कर भी अपना पल्ला नही झाड़ सकती कि ये ट्विटर एकाउंट किसी ने उन्हें बदनाम करने के लिए फेक बना दिये हैं।

क्या इन पूर्व एमएलए के खिलाफ झूठी जानकारी देने और खुद को एमएलए बता कर जनता में भरम फैलाने के खिलाफ कोई एक्शन नही होना चाहिए।

Next Story

विविध

Share it