Top
दिल्ली

बॉयज लॉकर रूम : लड़की ने 'सिद्धार्थ' नाम से फर्जी प्रोफाइल बनाकर अपने ही गैंगरेप की प्लानिंग सुझाई

Raghib Asim
11 May 2020 6:13 AM GMT
बॉयज लॉकर रूम : लड़की ने सिद्धार्थ नाम से फर्जी प्रोफाइल बनाकर अपने ही गैंगरेप की प्लानिंग सुझाई
x

साइबर सेल को जांच के दौरान जिन बातों का पता चला है कि उनसे हर कोई हैरान है। इस मामले में पुलिस का कहना है कि एक लड़की ने 'सिद्धार्थ' नाम से फेक प्रोफाइल बनाकर स्नैपचैट पर लड़कों के बीच एंट्री की थी...

जनज्वार। इंस्टाग्राम पर बने बॉयज लॉकर रूम और लड़की से गैंगरेप की वायरल चैट से जुड़ा सनसनीखेज खुलासा आपको याद होगा। बॉयज लॉकर रूम स्कैंडल ने हर मां बाप को चिंता मे डाल दिया था। सोशल मीडिया इस्तेमाल करने वाले बच्चों की सुरक्षा उन्हें परेशान कर रही है, लेकिन अब इस कहानी में बड़ा ट्विस्ट सामने आया है। इस मामले में 'सेक्सुअल असॉल्ट’ के कथित प्लान का जो स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा था, उसे लेकर एक दिल्ली पुलिस अधिकारी ने बताया कि जांच में पता चला है कि कथित कन्वर्सेशन असल में एक लड़की (सेंडर) और एक लड़के (रिसीवर) के बीच हुई थी, जिसमें लड़की 'सिद्धार्थ' नाम के एक फिक्शनल अकाउंट से चैट मैसेज भेज रही थी।' बता दें कि दिल्ली पुलिस इंस्टाग्राम पर बने बॉयज लॉकर रूम मामले में 24 बच्चों से पूछताछ और ग्रुप के एडमिन को गिरफ्तार कर चुकी है।

डीसीपी (साइबर सेल) अन्येश रॉय के मुताबिक, एक लड़के की फेक आइडेंटिटी इस्तेमाल करते हुए लड़की ने चैट में खुद के सेक्सुअल असॉल्ट का प्लान सुझाया था। उन्होंने बताया कि फेक आइडेंटिटी के जरिए ऐसे मैसेज भेजने का लड़की का मकसद यह था कि वो रिसीवर की प्रतिक्रिया और उसके 'चरित्र की मजबूती' के बारे में जानना चाहती थी।

डीसीपी रॉय ने बताया, 'रिसीवर (लड़के) ने 'सिद्धार्थ' द्वारा सुझाए गए प्लान में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया और उसने 'उससे' कम्युनिकेशन बंद कर दिया।' उन्होंने बताया, 'इसके बाद उसने (रिसीवर ने) मैसेज का स्क्रीनशॉट अपने दोस्तों को दिखाया, इसमें वो लड़की भी शामिल थी, जिसके बारे में सेक्सुअल असॉल्ट की कन्वर्सेशन हुई थी।' पुलिस अधिकारी ने बताया कि जिन-जिन को स्क्रीनशॉट मिला था, उनमें से एक ने इसे सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया, वहां से उसका प्रसार बढ़ना शुरू हो गया।

24 से ज्यादा लोगों से पूछताछ

मामले में डीसीपी अन्येश रॉय ने कहा, अब तक बॉयज लॉकर रूम मामले से जुड़े चौबीस से अधिक लोगों से कई बार पूछताछ की जा चुकी है। सभी डिवाइस को जब्त कर फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है। वहीं ग्रुप में हुई अश्लील बातचीत के स्क्रीनशॉट सार्वजनिक हो चुके थे। उसके आधार पर एक नाबालिग की पहचान की गई है। मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार भी कर लिया गया है। इसके साथ ही उसके मोबाइल को जब्त करके जांच के लिए भेजा गया है। ग्रुप के बाकी सदस्यों के बारे में पूछताछ भी की।

जानें क्या है बॉयज लॉकर रूम

ता दें कि एक ट्विटर यूजर ने ‘बॉयज लॉकर रूम’ चैट ग्रुप के बारे में ट्वीट किया था। इस ट्वीट में यूजर ने दावा किया था कि इंस्टाग्राम ग्रुप में सैकड़ों साउथ दिल्ली के लड़के हैं, जो कथित रूप से अवयस्क लड़कियों के फोटो शेयर करते हैं। यूजर ने दावा किया था कि ग्रुप में लड़कियों को ऑब्जेक्टिफाई किया जाता है और ‘गैंगरेप’ का प्लान किया जाता है।

सोशल मीडिया पर बढ़ने लगा था यह मामला

सके बाद सोशल पर यह मामला तेजी से बढ़ना लगा। इसी बीच दिल्ली पुलिस की साइबर सेल क्राइम यूनिट ने केस दर्ज कर लिया। इसके बाद पुलिस ने इस मामले में ग्रुप मेंबर्स के बीच कथित चैट के स्क्रीनशॉट के आधार पर एक नाबालिग लड़के की पहचान करके उसे पकड़ा था, फिर ग्रुप के बाकी मेंबर्स की भी जानकारी निकाली गई और उनसे पूछताछ की गई।

Next Story

विविध

Share it