Top
संस्कृति

गांधी ने बड़े संकोच के साथ हिटलर को लिखा था पत्र

Janjwar Team
2 Oct 2017 4:34 PM GMT
गांधी ने बड़े संकोच के साथ हिटलर को  लिखा था पत्र
x

मित्रों और शुभचिंतकों के दबाव में महात्मा गांधी ने जर्मन तानाशाह हिटलर को 1939 में एक पत्र लिखा था, हालांकि वह हिटलर को पत्र लिखना टालते रहे थे....

प्रिय दोस्त,
मेरे मित्र मुझसे गुजारिश करते रहे हैं कि मैं मानवता के वास्ते आपको ख़त लिखूं. लेकिन मैं उनके अनुरोध को टालता रहा हूं क्योंकि मुझे लगता है कि मेरी ओर से कोई पत्र भेजना गुस्ताखी होगी.
हालांकि कुछ ऐसा है जिसकी वजह से मुझे लगता है कि मुझे हिसाब-किताब नहीं करना चाहिए और आपसे यह अपील करनी चाहिए, चाहे इसका जो भी महत्व हो.
ये बिल्कुल साफ़ है कि इस वक़्त दुनिया में आप ही एक शख्स हैं जो उस युद्ध को रोक सकते हैं जो मानवता को बर्बर स्थिति में पहुंचा सकता है. चाहे वो लक्ष्य आपको कितना भी मूल्यवान प्रतीत हो, क्या आप उसके लिए ये कीमत चुकाना चाहेंगे?
क्या आप एक ऐसे शख्स की अपील पर ध्यान देना चाहेंगे जिसने किसी उल्लेखनीय सफलता के बावजूद जगजाहिर तौर पर युद्ध के तरीके को खारिज किया है? बहरहाल, अगर मैंने आपको ख़त लिखकर गुस्ताखी की है तो मैं आपसे क्षमा की अपेक्षा करता हूं.
आपका दोस्त
एमके गांधी

गांधी ने पत्र अंग्रेजी में लिखा था इसलिए मूल अंग्रेजी भी
As at Wardha, C. P., INDIA,
July 23, 1939
DEAR FRIEND,
Friends have been urging me to write to you for the sake of humanity. But I have resisted their request, because of the feeling that any letter from me would be an impertinence. Something tells me that I must not calculate and that I must make my appeal for whatever it may be worth.
It is quite clear that you are today the one person in the world who can prevent a war which may reduce humanity to a savage state. Must you pay that price for an object however worthy it may appear to you to be? Will you listen to the appeal of one who has deliberately shunned the method of war not without considerable success? Any way I anticipate your forgiveness, if I have erred in writing to you.
I remain,
Your sincere friend,
M. K. Gandhi
HERR HITLER,
BERLIN,
GERMANY

(वरिष्ठ पत्रकार त्रिभुवन जी ने यह जानकारी अपने एफी वॉल पर शेयर की है।)

Next Story

विविध

Share it