सिक्योरिटी

ब्रिक्स का नौवां सम्मेलन आज से शियामन में

Janjwar Team
3 Sep 2017 7:45 AM GMT
ब्रिक्स का नौवां सम्मेलन आज से शियामन में
x

ब्रिक्स का नौवां शिखर सम्मलेन 3 से 5 सितंबर तक चीन के फूचिएन प्रांत के शियामन में हो रहा है, जिसमें भारत भी हिस्सा ले रहा है...

चीन के शियामन में हो रहे ब्रिक्स सम्मेलन से जय प्रकाश पांडे की रिपोर्ट

शियामन, चीन। ब्रिक्स का नौवां सम्मेलन आज 3 सितम्बर से चीन के फ्यूचियन राज्य के शियामन में शुरू हो रहा है। सम्मेलन के पहले दिन ब्रिक्स बिजनेस फोरम का उद्घाटन होगा। इसमें ब्रिक्स देशों के बीच और दुनिया के साथ व्यापारिक साझेदारी बढ़ाने पर जोर दिया जाएगा।

ब्रिक्स और आमंत्रित सदस्यों के अलावा दुनिया के 25 देशों से बिजनेस प्रतिनिधि सम्मेलन में शामिल हो रहे हैं, जो ऊर्जा, वित्त, खाद्य, उत्पादन, यातायात, आधारभूत ढांचा, नई ऊर्जा और बायोलाजिकल इंजीनियरिंग क्षेत्र से हैं।

ब्रिक्स ऑर्गनाइजिंग कमेटी के निदेशक चिंग जेनगवी ने बताया कि सम्मेलन में बड़े स्तर पर व्यापारिक समूहों की भागेदारी से चीन और दुनिया के साथ व्यापारिक सहयोग मजबूत होगा। इस साल ब्रिक्स की थीम ब्रिक्स देशों के बीच साझेदारी को बढ़ाना और सुनहरे भविष्य का मार्ग प्रशस्त करना है।

इस थीम पर व्यापार, निवेश, आर्थिक सहयोग और विकास के मुद्दों पर चर्चा होगी। उन्होंने कहा कि हाल के दौर में विश्व की अर्थव्यवस्था अच्छी प्रतीत हो रही है मगर यह स्थाई नहीं है। ब्रिक्स देशों को अच्छे व्यापारिक माहौल और निवेश को बढ़ावा देने के लिए व्यापक नीति बनाने की जरूरत है। इसके अलावा आर्थिक सहयोग और विकास के लिए काम करना होगा।

ब्रिक्स सम्मेलन की मेजबानी इस बार चीन कर रहा है। चीन ने सम्मेलन में मिस्र, केनिया, तजाकिस्तान, मैक्सिको और थाईलैंड को आमंत्रित किया है। जबकि पिछली बार भारत ने गोवा सम्मेलन में (बिम्सटेक देश) बंग्लादेश, म्यामार, श्रीलंका, थाइलैंड, भूटान और नेपाल को आमंत्रित किया था। थाइलैंड के साथ चीन का हाईस्पीड रेल के निर्माण को लेकर करार भी होना है।

आज 3 सितम्बर को होने वाली ओपनिंग सरेमनी में चीन के राष्ट्रपति शी जिंगपिंग सहित अन्य सदस्य देशों के नेता संबोधित करेंगे। इस बार ब्रिक्स सम्मेलन में 1200 सदस्य भाग ले रहे हैं। इसमें 1069 बिजनेस समूहों से जुड़े लोग हैं। सम्मेलन में 372 चीन की कंपनियां जबकि 260 अन्य ब्रिक्स देशों की कंपनियां शामिल हो रही हैं।

इसके अलावा विश्व की 500 अव्वल कंपनियां भी मौजूद रहेंगी, जिसमें ब्रिक्स देशों की 79 कंपनियां हैं। दुनिया की उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं का यह मंच ब्रिक्स देशों के बीच सहयोग और व्यापार को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

इस बार ब्रिक्स में व्यापार बढ़ाने को लेकर खास जोर दिया जा रहा है। ब्रिक्स में ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं। ब्रिक्स का पहला सम्मेलन रूस के येकेटेरिनबर्ग में 2009 में हुआ था। दक्षिण अफ्रिका इस मंच में 2010 में शामिल हुआ। पिछले साल ब्रिक्स का आठवां सम्मेलन गोवा में हुआ था।

संबंधित खबर : चीन में हो रहे ब्रिक्स सम्मेलन में शामिल होगा भारत

Next Story

विविध

Share it