Top
राजनीति

यूपी कांग्रेस अध्यक्ष पद से राजबब्बर का इस्तीफा

Janjwar Team
21 March 2018 8:33 AM GMT
यूपी कांग्रेस अध्यक्ष पद से राजबब्बर का इस्तीफा
x

2017 यूपी विधानसभा के समय उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष बनाए गए राजबब्बर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है...

जनज्वार, दिल्ली। राहुल गांधी की गुडलिस्ट में शामिल रहे फिल्म अभिनेता राजब्बर का उत्तर प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देना साफ करता है कि कांग्रेस ने 59वीं पार्टी कांग्रेस के बाद बिल्कुल कुछ नया सोच लिया है। यही कारण है कि अभी कांग्रेस के अधिवेशन को बीते दो दिन हुए हैं कि दो राज्यों के पार्टी अध्यक्षों का इस्तीफा हो गया है।

मंगलवार की देर रात एक अखबार से बातचीत में कांग्रेस नेता राजब्बर ने कहा कि उन्हें पार्टी ने दूसरी जिम्मेदारी दी है, इसलिए वह उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुझे एक विशेष काम देकर यहां भेजा गया था। मैं जितना काम कर सकता था, किया। हर काम में जैसे कुछ अच्छा होता है और कुछ ख़राब तो हमसे भी हुआ होगा। अब पार्टी नेतृत्व इसका आकंलन करेगी।

राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि राहुल राजबब्बर की जगह किसी ब्राह्मण चेहरे की इस पद पर ताजपोशी हो सकती है। इस दौड़ में पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद का नाम सबसे टॉप्यू लिस्ट में हैं। इन कयासों को इसलिए भी बल मिल रहा है क्योंकि युवा नेता जितिन प्रसाद राहुल गांधी के करीबी माने जाते हैं।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी और वाराणसी से पूर्व सांसद राजेश मिश्रा के नाम की भी चर्चा है।मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक नए अध्यक्ष के नाम का ऐलान नवरात्रों में ही किया जा सकता है।

शनिवार और रविवार को दिल्ली में हुए कांग्रेस कार्यसमिति के राष्ट्रीय अधिवेशन के बाद यह दूसरा इस्तीफा है। इससे पहले गोवा के कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष शांताराम नाइक ने इस्तीफा दिया था। उन्होंने कहा था कि मैंने राहुल गांधी की राय का अनुसरण किया है।

इधर यूपी कांग्रेस प्रमुख के पद से इस्तीफा के बाद भी यही माना है कि उन्होंने पार्टी के सुझाव पर पद छोड़ा है। हालांकि खबर लिखे जाने तक राजबब्बर का इस्तीफा कांग्रेस नेतृत्व ने नहीं स्वीकार किया था।

राजब्बर के इस्तीफे को लेकर मीडिया में खबरें यह आ रही हैं कि चूंकि कांग्रेस के 2019 में सपा के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ने के आसार हैं और राजब्बर सपा के पूर्व नेता रह चुके हैं वो अपने आप को असहज पा रहे थे, इसलिए उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया।

हालांकि राजबब्बर ने लोकसभा चुनाव में अपने लिए नई जिम्मेदारी की बात कहकर इस्तीफे की पेशकश की थी। चर्चा यह भी है कि राजब्बर स्टार प्रचारक के रूप में राष्ट्रीय स्तर पर भूमिका चाहते हैं। राजब्बर का यह भी कहना है कि 2019 के चुनावों की तैयारियों को देखते हुए उनके समेत अन्य लोगों की भूमिका बदलनी चाहिए।

Next Story

विविध

Share it