सिक्योरिटी

Delhi Crime News : बिजली बिल अपडेट करने का झांसा देकर ठगी, पुलिस ने 65 लोगों को किया गिरफ्तार

Janjwar Desk
9 Sep 2022 11:32 AM GMT
Job Fraud : थाइलैंड और दुबई में मोटी सैलेरी का लालच, बंधक बनाकर करवा रहे मजदूरी, IT युवाओं के लिए एडवाइजरी जारी
x

Job Fraud : थाइलैंड और दुबई में मोटी सैलेरी का लालच, बंधक बनाकर करवा रहे मजदूरी, IT युवाओं के लिए एडवाइजरी जारी

Delhi Crime News : दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की आईएफएसआई यूनिट ने देशभर के लोगों से बिजली बिल अपडेट करने के नाम पर ठगी करने वाले एक का खुलासा किया है...

Delhi Crime News : दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की आईएफएसआई यूनिट (इंटेलिजेंट फ्यूजन एंड स्ट्रैटेजिक ऑपरेशन यूनिट) ने देशभर के लोगों से बिजली बिल अपडेट करने के नाम पर ठगी करने वाले एक का खुलासा किया है। पुलिस ने इस संबंध में 10 दिन चली छापेमारी के बाद देश के 22 शहरों से कुल 65 लोगों को गिरफ्तार किया है। बता दें कि इन गिरफ्तार हुए लोगो में 11 महिलाएं भी शामिल है।

ठगी के नए तरीके का पुलिस ने किया खुलासा

आईएफएसओ यूनिट के पुलिस आयुक्त केपीएस मल्होत्रा ने बताया है कि पिछले दिनों ठगी के एक नए तरीके का पता लगा है। ठगी करने वाले बदमाश किसी भी मोबाइल पर रेंडम मैसेज भेज रहे थे, जिसमें बताया जा रहा था कि उनका बिजली का बिल कंपनी के सिस्टम से अपडेट नहीं हुआ है। आज रात की बिजली काट दी जाएगी।

पुलिस ने कि मामले की पड़ताल

पुलिस ने इसकी पड़ताल की तो पता चला कि बीएसईएस स्कैम की 200 से अधिक शिकायतें एनसीआरपी पर पड़ी हुई हैं। फौरन चार एसीपी, कई इंस्पेक्टर समेत 50 से अधिक पुलिस कर्मियों की टीम को जांच में लगाया गया। पुलिस ने उन खातों की पड़ताल की जिनमें रकम ट्रांसफर हुई। इसके अलावा आरोपियों ने जिन मोबाइलों से ठगी की, उनकी भी पड़ताल की गई।

22 शहरों से पैकेट लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस की जांच में ज्यादातर मोबाइल बंद मिले, लेकिन पुलिस को उनकी लोकेशन का पता चल गया। बता दें कि आरोपियों की तलाश में छापेमारी के लिए लगातार 10 दिनों छापेमारी कर 22 शहरों से कुल 65 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इनके 100 से अधिक खातों को फ्रीज किया है।

शातिर ऐसे देते थे ठगी को अंजाम

बता दें कि वारदात को अंजाम देने के लिए आरोपी सिम वेंडर की मदद से पहले से एक्टिवेटेड सिम खरीदते थे। टेलिकॉलर उन सिम की मदद से लोगों को बिजली बिल अपडेट न होने पर बिजली कटने की सूचना देकर एक नंबर भी भेजते थे। जैसे ही पीड़ित उस नंबर पर कॉल करते थे तो आरोपी उनके खाते की जानकारी या उनके मोबाइल को हैक कर लेते थे। बाद में उनके खाते में सेंध लगाकर ऑन लाइन उनकी रकम को ट्रांसफर कर लिया जाता था।

Next Story

विविध