Top
दुनिया

UNO ने जताई चिंता- कोरोना काल में दुनियाभर में बढ़ गए हैं साइबर अपराध, फिशिंग साइट 350 गुना बढ़े

Janjwar Desk
9 Aug 2020 3:44 PM GMT
UNO ने जताई चिंता- कोरोना काल में दुनियाभर में बढ़ गए हैं साइबर अपराध, फिशिंग साइट 350 गुना बढ़े
x

प्रतीकात्मक तस्वीर

UNO के आतंकरोधी मामलों के प्रमुख ने कहा है कि हाल के महीनों में साइबर अपराध और फिशिंग साइटों की संख्या में बहुत वृद्धि हो गई है, जो चिंता की बात है...

जनज्वार। दुनिया में एक तरफ कोरोना महामारी से हाहाकार मचा है, दूसरी तरफ साइबर अपराधी इसमें अपने लिए मौका ताड़ रहे हैं। कोरोना काल में विश्व में फिशिंग साइटों की संख्या में बेतहाशा वृद्धि हुई है। मीडिया रिपोर्ट्स से पता चला है कि इस कारण कोरोना महामारी के दौरान साइबर अपराध में तेजी से ब़ढ़ोतरी हुई है।

इस साल की पहली तिमाही में फिशिंग वेबसाइटों में 350 फीसद का इजाफा होने की खबर है। इनमें से कईयों के जरिये अस्पतालों और हेल्थ केयर सिस्टम को निशाना बनाया जा रहा है। संयुक्त राष्ट्र के आतंक रोधी मामलों के प्रमुख व्लादिमीर वोरोंकोव ने सुरक्षा परिषद को यह जानकारी दी है। उन्होंने बताया है कि हाल के महीनों में साइबर अपराध में उल्लेखनीय ब़ढ़ोतरी के तहत फिशिंग साइटों में वृद्धि हुई है।

हालांकि, संयुक्त राष्ट्र और दुनिया भर के विशेषज्ञ वैश्विक शांति, सुरक्षा और खासतौर पर संगठित अपराध व आतंकवाद पर महामारी के प़ड़ने वाले प्रभाव और नतीजे को अभी तक पूरी तरह समझ नहीं पाये हैं। वोरोंकोव ने कहा, 'हम यह जानते हैं कि आतंकी कोरोना महामारी की आड़ में डर, नफरत और अलगाव फैलाने के साथ ही नये आतंकियों की भर्ती भी कर रहे हैं।'

यही नहीं महामारी के दौरान इंटरनेट का उपयोग ब़ढ़ने के साथ ही साइबर अपराध भी ब़ढ़े हैं। उन्होंने कहा 'संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देश इस समय कोरोना के चलते उत्पन्न हेल्थ इमरजेंसी पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। ऐसे विकट हालात में इन देशों को आतंकवाद के खतरे को नहीं भूलना चाहिए। इसके लिए सतर्क रहने की जरूरत है।'

जिस प्रकार मछली पक़ड़ने के लिए कांटे में चारा लगाकर डाला जाता है और उसमें मछली फंस जाती है। उसी प्रकार फिशिंग को हैकर्स द्वारा इंटरनेट पर फर्जी वेबसाइट या ईमेल के माध्यम से यूजर्स के साथ की गयी धोखाध़ड़ी को कहते हैं। इस तरीके से निजी जानकारी चुरा ली जाती है और उसका गलत उपयोग किया जाता है।

इसे लेकर ही संयुक्त राष्ट्र के आतंक रोधी मामलों के प्रमुख व्लादिमीर वोरोंकोव ने सुरक्षा परिषषद को बताया कि हाल के महीनों में साइबर अपराध में उल्लेखनीय ब़ढ़ोतरी के तहत फिशिंग साइटों में वृद्धि हुई है।

Next Story

विविध

Share it