दुनिया

Nobel Prize 2021: तीन वैज्ञानिकों को 'Physics' का नोबेल पुरस्कार, सुकोरो मानाबे, क्लॉस हेसलमन और जियोर्जियो पारिसि को मिला सम्मान

Janjwar Desk
5 Oct 2021 1:46 PM GMT
Nobel Prize 2021: तीन वैज्ञानिकों को Physics का नोबेल पुरस्कार, सुकोरो मानाबे, क्लॉस हेसलमन और जियोर्जियो पारिसि को मिला सम्मान
x

(तीन वैज्ञानिकों को मिला भौतिकी का नोबेल का पुरस्कार)

नोबेल पुरस्कार पाने वालों वैज्ञानिकों में सुकोरो मनाबे (Syukuro Manabe), क्लॉस हेसलमन (Klaus Hasselmann) और जियोर्जियो पारिसी (Giorgio Parisi) का नाम शामिल है... तीनों वैज्ञानिकों में यह पुरस्कार संयुक्त रुप से दिया गया है...

Nobel Prize 2021, जनज्वार। साल 2021 के लिए भौतिकी (Physics) के नोबेल पुरस्कार का ऐलान कर दिया गया है। रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज ने तीन वैज्ञानिकों को भौतिकी में उल्लेखनीय योगदान के लिए नोबेल पुरस्कार देने की घोषणा की है। नोबेल पुरस्कार पाने वालों वैज्ञानिकों में सुकोरो मनाबे (Syukuro Manabe), क्लॉस हेसलमन (Klaus Hasselmann) और जियोर्जियो परिसी (Giorgio Parisi) का नाम शामिल है। तीनों वैज्ञानिकों में यह पुरस्कार संयुक्त रुप से दिया गया है। इस नोबेल पुरस्कार में आधा पुरस्कार सुकोरो मनाबे (Syukuro Manabe) और क्लॉस हेसलमन (Klaus Hasselmann) में बांटा जाएगा, जबकि आधा पुरस्कार जियोर्जियो परिसी (Giorgio Parisi) को दिया जाएगा।

नोबेल पुरस्कार के विजेताओं के नाम बताते हुए नोबेल कमिटी ने कहा कि, "इस साल के भौतिकी नोबेल ने जटिल प्रणालियों का वर्णन करने और उनके दीर्घकालिक व्यवहार की भविष्यवाणी करने के लिए नए तरीकों को मान्यता दी है। मानव जाति के लिए महत्वपूर्ण महत्व की एक जटिल प्रणाली पृथ्वी की जलवायु है।"

जानिए कौन हैं साल 2021 के नोबेल पुरस्कार विजेता

सुकोरो मनाबे का जन्म साल 1931 में जापान में हुआ था। उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ टोक्यो (University Of Tokyo) से साल 1957 में पीएचडी की थी। वर्मान में ये अमेरिका की प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में सीनियर अंतरिक्षविज्ञानशास्री हैं। सुकोरो मनाबे ने अपने अध्ययन में पाया कि वातावरण में कार्बन डाइऑक्साइड के बढ़े हुए स्तर से पृथ्वी की सतह पर तापमान में कैसे वृद्धि हो रही है। इलके अलावा उन्होंने क्लाइमेट चेंज को लेकर अपनी रिसर्च की थी, जिसके बाद उन्हें नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है।

क्लॉस हेसलमन का जन्म साल 1931 में जर्मनी में हुआ था। जर्मनी से उन्होंने वर्ष 1957 में PhD की और वर्तमान में वो जर्मनी की Max Planck Institute for Meteorology में बतौर प्रोफेसर कार्यरत हैं। क्लॉस हैसलमैन ने एक मॉडल बनाया है, जो मौसम और जलवायु को एक साथ जोड़ता है। साथ ही उन्होंने जलवायु को लेकर कई मॉडल विकसित किए हैं जिससे पता चला कि वातावरण में बढ़ रहा तापमान मानव उत्सर्जन में निकले कार्बन डाइऑक्साइड की वजह से है।

जियोर्जियो पारिसि का जन्म साल 1948 में इटली के रोम में हुआ था। उन्होंने रोम से ही साल 1970 में PhD की और फिलहाल Sapienza University of Rom में प्रोफेसर हैं। जियोर्जियो परिसी ने अव्यवस्थित जटिल मैटेरियल में छिपे हुए कई पैटर्न की खोज में अपना योगदान दिया। उनकी खोज जटिल प्रणालियों के सिद्धांत में सबसे महत्वपूर्ण योगदानों में से एक हैं।

पिछले वर्ष भी तीन वैज्ञानिकों को मिला था नोबेल पुरस्कार

वर्ष 2020 में भौतिक विज्ञान का नोबेल पुरस्कार भी तीन साइंटिस्ट को दिया गया था। इसमें अमेरिकी वैज्ञानिक आंड्रेया घेज, ब्रिटेन के रोजर पेनरोज और जर्मनी के रिनार्ड गेनजेल का नाम शामिल था। तीनों वैज्ञानिकों को ब्लैक होल्स पर रिसर्च के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

विजेता को 1.14 मिलियन डॉलर का इनाम

नोबेल पुरस्कार नोबेल फाउंडेशन (Nobel Foundation) द्वारा स्वीडन के महान वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल की याद में दिया जाता है। इसकी शुरूआत वर्ष 1901 में शुरू किया गया। यह पुरस्कार शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन, चिकित्सा विज्ञान और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में विश्व का सर्वोच्च पुरस्कार है। इस पुरस्कार को हासिल करने वालों को एक स्वर्ण पदक के साथ 1.14 मिलियन डॉलर नकद इनाम के तौर पर मिलता है। पिछले एक दशक में कई राजनयिकों, चिकित्सकों और कई राष्ट्रपति को इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। साल 2021 के लिए भी कई नॉमिनेशन मिले हैं जिनमें कई संगठन और व्यक्ति शामिल हैं।

Next Story
Share it