दुनिया

Ukraine Crisis : भारतीय रुख की पहली बार रूस ने की तारीफ, फिर कह दी इतनी बड़ी बात

Janjwar Desk
3 March 2022 8:58 AM GMT
Ukraine Crisis : भारतीय रुख की पहली बार रूस ने की तारीफ, फिर कह दी इतनी बड़ी बात
x

यूक्रेन को जंग में मात देने के लिए खतरनाक योजना पर काम कर रहे हैं पुतिन।

Ukraine Crisis : संयुक्त राष्ट्र में संतुलित रुख के लिए हम भारत के बहुत आभारी हैं। साथ ही इस बात की उम्मीद भी जताई कि भारत अपना ये रुख आगे भी जारी रखेगा।

Ukraine Crisis : पिछले आठ दिनों से जारी यूक्रेन क्राइसिस पर भारत के स्टैंड को लेकर रूस ने पहली बार जारी अपनी प्रतिक्रिया में भारत की तारीफ की है। रूस ने कहा है कि वो युद्धग्रस्त यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों को सुरक्षित निकालने के लिए एक कॉरिडॉर बना रहा है। इस बात की जानकारी भारत में रूस के राजदूत डेनिस अलीपोव ने दी है। यूक्रेन के खारखीव में एक भारतीय छात्र नवीन की मौत पर संवेदना जताते हुए रूसी राजदूत ने मृत छात्र के परिवार और भारत सरकार के प्रति अपनी सहानुभूति व्यक्त की। उन्होंने कहा कि छात्र के मौत के मामले की जांच की जाएगी।

डेनिस अलीपोव ने एक ब्रीफिंग में कहा कि भारतीयों को रूसी इलाके में लाने की कोशिश हो रही है। बहुत जल्द इसके लिए मानवीय गलियारा बनकर सामने आ जाएगा। इसके अलावा उन्होंने ये भी कहा कि रूस जल्द से जल्द यूक्रेन में अपने सैन्य अभियान को रोकने का इरादा रखता है। वर्तमान में जो हालात हैं वो दोनों देशों के लिए एक त्रासदी है।

रूस यूक्रेन में फंसे हुए भारतीयों की सुरक्षा और संयुक्त राष्ट्र में यूक्रेन संकट दोनों को लेकर भारत के साथ नजदीकी समन्वय के साथ काम कर रहा है। रूस को संघर्ष क्षेत्रों से भारतीयों को तुरंत वापस निकालने के लिए भारत की तरफ से अनुरोध प्राप्त हुए हैं। रूसी अधिकारी एक मानवीय गलियारा बनाने पर काम कर रहे हैं। ताकि लोगों को तनाव वाले क्षेत्र से निकलकर रूसी क्षेत्र में आने के लिए सुरक्षित मार्ग मिल सके।

रूसी राजदूत ने यूएन में यूक्रेन संकट पर भारत के निष्पक्ष और संतुलित रुख की सराहना करते हुए भारत का आभार जताया। रूस ने कहा कि हम भारत के रणनीतिक सहयोगी हैं। संयुक्त राष्ट्र में संतुलित रुख के लिए हम भारत के बहुत आभारी हैं। साथ ही इस बात की उम्मीद भी जताई कि भारत अपना ये रुख आगे भी जारी रखेगा।

इसके अलावा भारत को ये भी आश्वासन दिया कि रूस से भारत की रक्षा खरीद यानि S-400 मिसाइल सिस्टम पर हालिया तनाव का कोई असर नहीं होगा। भारत को S-400 की डिलीवरी के संबंध में कोई परेशानी मुझे नहीं दिखती है। हमारे पास इस सौदे को जारी रखने के लिए पर्याप्त रास्ते हैं। रूस पर लगे नए और पुराने प्रतिबंध इस सौदे पर किसी तरह का हस्तक्षेप नहीं करेंगे।

Ukraine Crisis : रूसी राजदूत ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि रूस यूक्रेन के नागरिकों से नहीं लड़ रहा है। वो रिहाइशी इलाकों, बुनियादी ढांचे को निशाना नहीं बना रहा है। रूस हमले के दौरान प्रतिबंधित हथियारों का इस्तेमाल नहीं कर रहा है। वहीं अमेरिका पर लोकतंत्र, स्वतंत्रता और नियम-आधारित अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था की आड़ में विश्व पर अपना प्रभुत्व स्थापित करने के लिए काम करने का आरोप लगाया।

Next Story

विविध