Top
आर्थिक

पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों से बढ़ रही महंगाई लेकिन इन पर टैक्स कम हो सरकार का नहीं है इरादा

Janjwar Desk
11 Feb 2021 4:19 AM GMT
पेट्रोल-डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों से बढ़ रही महंगाई लेकिन इन पर टैक्स कम हो सरकार का नहीं है इरादा
x

कोरोना महामारी में रोज कमाने-खाने वालों के हो गये हैं भुखमरी जैसे हालात, सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार को किया कठघरे में खड़ा

पेट्रोल अब शतक मारने को तैयार बैठा है, इसकी कीमत 100 रुपये प्रति लीटर के करीब पहुंच रही है, पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही बढ़ोत्तरी से पेट्रोल डीजल के दाम उच्चतम स्तर पर पहुंच गए हैं..

जनज्वार। देश में पेट्रोल डीजल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं। पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के कारण महंगाई भी तेजी बढ़ने लगी है, जिसका सीधा असर आम आदमी की जेब पर पड़ रहा है। ऐसे में हर व्यक्ति ईंधन के दाम में कटौती की आस लगाए बैठा है, लेकिन कीमतें लगातार बढ़ने के बावजूद इनपर टैक्स कम कर इनकी कीमत में थोड़ी राहत देने की ओर कोई कदम नहीं उठाया गया है।

बुधवार को पेट्रोलियम और नेचुरल गैस मंत्रालय के केंद्रीय कैबिनेट मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने राज्यसभा में एक लिखित प्रश्न के जवाब में कहा कि केंद्र सरकार के पास पेट्रोल और डीजल पर लगने वाले टैक्स में कटौती करने का कोई प्रस्ताव नहीं है। टैक्स बढ़ाना या कम करना मार्केट की स्थिति पर निर्भर होता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि सरकार के पास पेट्रोल और डीजल पर लगने वाला टैक्स को घटाने का फिलहाल कोई प्रस्ताव नहीं है।उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल पर टैक्स बढ़ाना या कम करना सरकार की जरूरतों और मार्केट की स्थिति जैसे कई पहलुओं पर निर्भर करता है।

बता दें कि पेट्रोल की कीमत अब शतक मारने को तैयार बैठा है। यह 100 रुपये प्रति लीटर के करीब पहुंच गया है। पिछले काफी दिनों से लगातार हो रही बढ़ोत्तरी से पेट्रोल डीजल के दाम उच्चतम स्तर पर पहुंच गए हैं।

राजस्थान के गंगानगर शहर में पेट्रोल की कीमतें बुधवार को भारत में सबसे अधिक यानि 98.10 रुपये प्रति लीटर हो गई। वहीं डीजल की कीमत यहां 89.73 रुपये प्रति लीटर है, जो पूरे देश में सबसे अधिक है।

पिछले सप्ताह मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया था कि पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने राज्यसभा में कहा कि केंद्र सरकार पेट्रोल पर प्रति लीटर 32.98 रुपये एक्साइज ड्यूटी वसूलती है, वहीं, डीजल पर प्रति लीटर 31.83 रुपये एक्साइज ड्यूटी लेती है।

उधर विभिन्न राज्य सरकारों द्वारा भी पेट्रोल-डीजल पर भारी भरकम टैक्स लिया जाता है। राज्य सरकारें पेट्रोल पर VAT के रूप में 19.55 रुपये वसूलती हैं। वहीं, डीजल पर राज्य सरकारें VAT के रूप में 10.99 रुपये टैक्स लगाती हैं। इसके अलावा पेट्रोल पर डीलर का कमीशन 2.6 रुपये प्रति लीटर और डीलर पर 2 रुपये प्रति लीटर होता है।

Next Story

विविध

Share it