Top
आर्थिक

देश की अर्थव्यवस्था चौपट, मगर पीएम मोदी के लिए आ रहे 8500 करोड़ के दो विमान

Janjwar Desk
4 Oct 2020 5:13 PM GMT
देश की अर्थव्यवस्था चौपट, मगर पीएम मोदी के लिए आ रहे 8500 करोड़ के दो विमान
x
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए मंगवाया गया आलीशान सर्वसुविधायुक्त विमान 'एयर इंडिया वन' दिल्ली में लैंड कर चुका है। इस विमान की महज एक घण्टे उड़ान का खर्च लगभग सवा करोड़ रुपये है। विमान के अंदर वीवीआइपी के लिए विशेष सुइट बनाया गया है।

जनज्वार ब्यूरो, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए मंगवाया गया आलीशान सर्वसुविधायुक्त विमान 'एयर इंडिया वन' दिल्ली में लैंड कर चुका है। इस विमान की महज एक घण्टे उड़ान का खर्च लगभग सवा करोड़ रुपये है। विमान के अंदर वीवीआइपी के लिए विशेष सुइट बनाया गया है। इसके अलावा हर वो सुविधा मौजूद है जो अमेरिकी राष्ट्रपति के विमान मे मौजूद होती है। भारतीय पीएम के लिए ऐसे दो विमान का आर्डर है। एक विमान की कीमत लगभग 8459 सौ करोड़ रुपए बताई जा रही हैं। इन विमानों में हवा में ही ईंधन भरा जा सकता है।

देश की अर्थव्यवस्था चरमराई हुई है। हालिया आर्थिक स्थिति ऐसी नही है कि इस खर्च का बोझ उठा सके फिर भी ये महंगे विमान मंगाए जा रहे हैं। हमारे मोदीजी को अमेरिका के राष्ट्रपति सरीखी सुविधा क्यो न दी जाए? लेकिन जब मोदी अपने लिए यह विमान खरीद रहे हैं तो उन्हें जीडीपी, अर्थव्यवस्था इत्यादि बातें बिल्कुल याद नही आएंगी।

देश में कोरोना काल मे हालत यह है कि सरकार के पास एयर इंडिया के पास कर्मचारियों के प्रोविडेंट फंड और टीडीएस तक जमा कराने के लिए भी पैसा नहीं हैं रेलवे में पेंशन फंड में डालने के पैसे नही है, रेलवे कर्मचारियों को कोई बोनस नही है, कई राज्यों की सरकारों के पास स्वास्थ्य कर्मियों को तनख्वाह देने के पैसे नही है। और तो और डॉक्टरो को देने के लिए सैलेरी नही है कई जगह 6 महीने से अधिक हो गए हैं उनके एकॉउंट में सैलेरी आए। यही हालत देश भर में संविदा शिक्षकों की है। हर सरकारी एंव अर्धसरकारी संस्थान के कर्मचारियों के वेतन भत्तों में या तो कटौती की जा चुकी हैं या जल्द ही किये जाने की योजना है, मोदी सरकार पूरे रुतबे के साथ राज्यों को जीएसटी मुआवजा देने से इनकार कर चुकी हैं जो कि उनका अधिकार है।

बीते दिन सरकार की तरफ से बयान आया था कि बजट में एप्रूव किया गया उसका सरकारी खर्च इन 6 महीनो में ही साफ हो गया है अब सरकार को कामकाज के लिए बाजार से ओर लोन लेना होगा। इधर पीएम केयर फंड के नाम पर तो सरकार ने क्या किया किसी से छुपा नहीं है। जब देश की इस प्रकार आर्थिक दुर्दशा हो रही हो, जब अर्थव्यवस्था 70 सालों के सबसे बुरे दौर में हो तो मोदी जी के द्वारा इतने महंगे ओर आलीशान विमानो को खरीदना कहा तक जायज है? यह यक्ष प्रश्न है।

अमेरिका से खरीदे जा रहे एयर इंडिया वन विमान मिसाइल डिफेंस सिस्टम से लैस है, यानी कि इस विमान में मिसाइल हमले कोई असर नहीं हो सकेगा। यह विमान हवा में उड़ते हुए इंधन भर सकता है। विमान में ऑफिस, कॉन्फ्रेंस हॉल, किचन और मेडिकल सुविधाएं उपलब्ध होंगी। प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति जैसे वीवीआई लोगों की सुविधा के हिसाब से इस विमान को डिजाइन किया गया है। अब ये लोग एयर इंडिया के बोइंग-747 विमान का इस्तेमाल करते थे।

तमाम मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत ने अमेरिका से ऐसे 2 विमान खरीदे हैं। ये बोइंग-777 विमान में लार्ज एयरक्राफ्ट इंफ्रारेड काउंटरमेजर्स और सेल्फ प्रोटेक्शन सुईट युक्त मिसाइल डिफेंस सिस्टम लगा है। भारत ने अमेरिका से इन दोनों रक्षा प्रणालियों को 19 करोड़ डॉलर में खरीदा है। पीएम मोदी का नया एयर इंडिया वन विमान 900 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से उड़ान भर सकता है।

विमान में तीन रंगों का इस्तेमाल

एयर इंडिया वन विमान में तीन रंगों का इस्तेमाल किया गया है। इनमें से 2 रंग अमेरिकी राष्ट्रपति के विमान एयरफोर्स वन से मिलते जुलते हैं। विमान में सफेद, हल्का नीला और नारंगी रंग का इस्तेमाल किया गया है। सफेद और हल्का नीला रंग का कुछ ज्यादा ही इस्तेमाल किया गया है। वहीं नारंगी रंग का इस्तेमाल पट्टियां बनाने के लिए किया गया है।

पीएम मोदी के लिए भारत को 2 में से एक विमान की आपूर्ति कर दी गई है। विमान की कीमत 8,459 करोड़ रुपये है। इस विमान को एयर इंडिया की बजाय भारतीय वायु सेना ऑपरेट करेगी। इसके लिए बकायदा ट्रेनिंग दी जा रही है। रिपोर्ट्स के मुताबिक इन विमानों का कॉल साइन एयरफोर्स वन रखा जा सकता है।

जानें विमान की क्या है खासियत

विमान इलेक्ट्रोनिक वॉरफेयर जैमर से युक्त होगा जो दुश्मन के जीपीएस और ड्रोन सिग्नल को ब्लॉक करने का काम करेगा। विमान में डायरेक्शनल इंफ्रारेड काउंटमेजर सिस्टम भी लगा होगा। ये एक मिसाइल रोधी प्रणाली है जो विमान को इन्फ्रारेड मिसाइलों से बचाती है।

विमान में चाफ एंड फ्लेयर्स सिस्टम लगा है। इसके होने से रडार ट्रैकिंग मिसाइल से खतरा होने पर बादलनुमा चाफ छूटते हैं जिसमें छिपकर विमान आसानी से आगे निकल जाता है। विमान में मिरर बॉल सिस्टम लगा है जो विमान को इंफ्रारेड मिसाइल से बचाती है।

विमान में हवा में ही ईंधन भरने की सुविधा लैस की गई है। इस विमान में एक बार हवा भरने के बाद ये लगातार 17 घंटे तक की उड़ान भर सकता है। विमान में सुरक्षित सैटेलाइट कम्युनिकेशन सिस्टम लगा है। इसमें सबसे आधुनिक और सुरक्षित सैटेलाइट कम्युनिकेशन सिस्टम भी लगाया गया है। यह किसी भी आपात स्थिति में बिना टैप किए जाने की संभावना के सुरक्षा एजेंसियों को सटीक सूचना उपलब्ध करवा सकने में दक्ष है।

Next Story

विविध

Share it