आंदोलन

Lucknow news : दलितों पर जानलेवा हमला करने वाले सवर्ण दबंगों के खिलाफ रिपोर्ट लिखाने गये माले नेता और कार्यकर्ताओं को पुलिस ने भेजा जेल, रिहाई के लिए जोरदार प्रदर्शन

Janjwar Desk
27 Aug 2022 10:27 AM GMT
Lucknow news : दलितों पर जानलेवा हमला करने वाले सवर्ण दबंगों के खिलाफ रिपोर्ट लिखाने गये माले नेता और कार्यकर्ताओं को पुलिस ने भेजा जेल, रिहाई के लिए जोरदार प्रदर्शन
x

Lucknow news : दलितों पर जानलेवा हमला करने वाले सवर्ण दबंगों के खिलाफ रिपोर्ट लिखाने गये माले नेता और कार्यकर्ताओं को पुलिस ने भेजा जेल

Lucknow news : दलितों पर सवर्ण सामंती दबंगों द्वारा स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर किये गए जानलेवा हमले की रिपोर्ट लिखाने गांव वासियों के साथ थाने गए माले नेता अर्जुनलाल को एसएचओ ने कार्यकर्ताओं सहित बंदी बना लिया....

Lucknow news : सीतापुर जिला कारागार में बंद भाकपा (माले) के प्रदेश नेता और जिला पंचायत सदस्य कामरेड अर्जुनलाल और आठ अन्य साथियों की रिहाई की मांग को लेकर सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने पार्टी नेता कामरेड सरोजनी के नेतृत्व में शुक्रवार 26 अगस्त को सीतापुर जिलाधिकारी कार्यालय पर जोरदार प्रदर्शन किया, जिसमें भारी संख्या में महिलाओं ने भी भागीदारी की।

गौरतलब है कि सीतापुर के हरगांव थानाक्षेत्र में दलितों पर सवर्ण सामंती दबंगों द्वारा स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर किये गए जानलेवा हमले की रिपोर्ट लिखाने गांव वासियों के साथ थाने गए माले नेता अर्जुनलाल को एसएचओ ने कार्यकर्ताओं सहित बंदी बना लिया। उनके साथ अभद्रता की और फर्जी मुकदमा दर्ज कर 23 व्यक्तियों को आरोपी बना दिया। अगले दिन जब देश आजादी की 75वीं वर्षगांठ का जश्न मना रहा था तो सीतापुर पुलिस ने दलितों को जेल भेज दिया और हमला करने वाले दबंगों को आजाद छोड़ दिया।

प्रदर्शन के दौरान आयोजित प्रतिवाद सभा को संबोधित करते हुए मुख्य वक्ता एक्टू के प्रदेश अध्यक्ष विजय विद्रोही ने प्रदेश की योगी सरकार पर जम कर हमला बोला। कहा कि भाजपा की यह सरकार पुलिस के बल पर लोकतांत्रिक आंदोलनों को दबाने के साथ ही दलितों मजदूरों तथा महिलाओं का दमन कर रही है। तानाशाही और दमन की राजनीति की उम्र लंबी नहीं होती। सरकार के दमन और अत्याचार के खिलाफ और न्याय मिलने तक आन्दोलन और तेज होगा। उन्होंने हरगांव पुलिस द्वारा दलित महिला व ऐपवा राज्य समिति सदस्य सरोजनी के हाथ से राष्ट्रीय ध्वज छीने जाने और जमीन पर फेंकने की कड़ी निन्दा करते हुए थानाध्यक्ष को बर्खास्त करने की मांग की।

भाकपा (माले) की राज्य स्थाई समिति के सदस्य रमेश सिंह सेंगर ने कहा कि पुलिस.सामंत गठजोड़ दमन के बल पर हरगांव क्षेत्र की दलित-उत्पीड़ित जनता की लोकतांत्रिक चेतना को कुचल देने पर आमादा है, जिसे पार्टी बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्होंने ऐलान किया कि जुल्म के खिलाफ और न्याय के लिए आगामी आठ सितम्बर को हरगांव ब्लाक मुख्यालय पर विशाल रैली की जाएगी।

खेत व ग्रामीण मजदूर सभा के प्रदेश सचिव राजेश साहनी ने कहा कि ग्रामीण गरीबों की न्याय पाने की उम्मीद को साकार करने के लिए पार्टी संघर्ष को निर्णायक मोड़ तक ले जाएगी। गरीबों के खिलाफ चल रहे योगी के बुलडोजर राज को गरीब अपने एकताबद्ध आन्दोलन की दम पर रोकेंगे।

ऐपवा की प्रदेश संयुक्त सचिव मीना ने कहा कि भाजपा सरकार ने गुजरात के 11 बलात्कारियों की सजा माफ करके यह साबित कर दिया है कि यह सरकार न सिर्फ महिला.विरोधी है, बल्कि वह महिलाओं की इज्जत और स्वाभिमान पर लगातार चोट कर रही है।

संगतिन किसान मजदूर संगठन की अध्यक्ष रिचा सिंह ने इस आन्दोलन के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त की और गिरफ्तार नेताओं की रिहाई की मांग करते हुए कहा कि न्याय की लड़ाई में हम माले के साथ हैं। किसान मंच के नेता शिवप्रकाश सिंह और किसान नेता सिद्धू सिंह ने भी आन्दोलन का समर्थन किया।

सभा को लखनऊ की स्कीम वर्कर्स फेडरेशन की नेता कमला गौतम, बलिया जिले के लक्ष्मण यादवए लखीमपुर के माले नेता काॅमरेड श्रीनाथ, पार्टी के जुझारू नेता का कन्हैया कश्यप, किसान नेता काॅमरेड संतराम ने भी सभा को सम्बोधित किया। प्रतिवाद सभा की अध्यक्षता ऐपवा जिलाध्यक्ष सरोजनी ने तथा संचालन माले राज्य समिति सदस्य अनिल कुमार भारतीय ने किया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से केशव राम, ओमकार नाथ, क्वांरे, रामजतन कनौजिया, रमापति, जगजीवन राम, नत्थीलाल, सौरभ सिंह, सरला, आकाश वर्मा, रामरतन और मेवालाल के अलावा सैकड़ों लोग शामिल थे।

Next Story

विविध